राहत: भारत ने घटाया पाम तेल आयात, 10 फीसदी गिरे दाम, सोया व सूरजमुखी तेलों की खरीद बढ़ाई

एजेंसी, नई दिल्ली। Published by: Jeet Kumar Updated Thu, 02 Dec 2021 03:14 AM IST

सार

फरवरी से दोबारा पाम तेल के आयात में तेजी आएगी, क्योंकि सर्दियों के मौसम में इसकी घरेलू खपत कम हो जाती है। 
खाने का तेल
खाने का तेल - फोटो : pixabay
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भारतीय खाद्य तेल रिफाइनरी ने पाम के आयात में बड़ी कटौती के साथ सोया व सूरजमुखी तेलों का आयात बढ़ा दिया है। इससे पाम तेल की कीमतें एक महीने में 10 फीसदी नीचे आ गई हैं।
विज्ञापन


ट्रेडिंग फर्म जीजी पटेल एंड निखिल रिसर्च कंपनी के एमडी गोविंदभाई पटेल का कहना है कि नवंबर में पाम तेल पिछले महीने के अपने रिकॉर्ड स्तर से 10 फीसदी नीचे आ चुका है। रिफाइनर अमूमन पाम तेल को तरजीह देते हैं लेकिन नवंबर में इसके और सोया तेल की कीमतों में महज 20 डॉलर का अंतर रह गया, जो पिछले साल 120 डॉलर था।


अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड पाम 1,395 डॉलर प्रति टन (लागत, बीमा व ढुलाई जोड़कर) के भाव है, जबकि सोयाबीन क्रूड 1,415 डॉलर और सूरजमुखी क्रूड 1,445 डॉलर प्रति टन में मिल रहा है। यही कारण है कि नवंबर में पाम तेल आयात 5.85 लाख टन रहा, जो अक्तूबर में 6.93 लाख टन था।

दूसरी ओर, सोया तेल का आयात अक्तूबर के 2.17 लाख टन से बढ़कर 4 लाख टन और सूरजमुखी का 1.17 लाख टन से 2 लाख टन पहुंच गया। दिसंबर में भी पाम तेल का आयात 6 लाख टन से कम रहने का अनुमान है, जबकि सोया तेल की खरीद 4 लाख टन से ऊपर जा सकती है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00