लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Business ›   Business Diary ›   Letter to Biden: 12 US lawmakers wrote a letter to Biden, scolding India, made this big allegation

Letter to Biden: 12 अमेरिकी सांसदों ने बाइडन को चिट्ठी लिख की भारत की 'शिकायत', लगाया बड़ा आरोप 

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: विवेक दास Updated Sat, 02 Jul 2022 12:39 PM IST
सार

अमेरिकी सांसदों की ओर से अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को लिखे गए एक पत्र में कहा गया है कि वर्तमान में विश्व व्यापार संगठन ने सरकारों को वस्तु उत्पादन के मूल्य के 10 प्रतिशत तक ही सब्सिडी देने की अनुमति दी है। फिर भी भारत सरकार ने चावल और गेहूं सहित कई वस्तुओं के उत्पादन के मूल्य के आधे से अधिक का सब्सिडी देना जारी रखा हुआ है।

जो बाइडन और पीएम मोदी
जो बाइडन और पीएम मोदी - फोटो : Social media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अमेरिकी सांसदों के एक समूह ने राष्ट्रपति जो बाइडन से विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) में भारत के साथ उसके खतरनाक व्यापारिक निर्णय और असहज व्यवहार के मुद्दे पर बातचीत के लिए के लिए औपचारिक तौर अनुरोध दायर करने का आग्रह किया है। उनकी ओर से दावा किया गया है कि ऐसा करने से अमेरिकी किसान और पशुपालक प्रभावित हो रहे हैं। 



अमेरिकी सांसदों की ओर से अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन को लिखे गए एक पत्र में कहा गया है कि वर्तमान में विश्व व्यापार संगठन ने सरकारों को वस्तु उत्पादन के मूल्य के 10 प्रतिशत तक ही सब्सिडी देने की अनुमति दी है। फिर भी भारत सरकार ने चावल और गेहूं सहित कई वस्तुओं के उत्पादन के मूल्य के आधे से अधिक का सब्सिडी देना जारी रखा हुआ है। 


अमेरिकी सांसदों भारत पर नियमों पा पालन नहीं करने जबकि बाइडेन प्रशासन पर इस काबू करने में असक्षम होने का आरोपल लगाया है। उनकी ओर से कहा गया है कि कीमतों को कम करने से वैश्विक कृषि उत्पाद और ट्रेड चैनल प्रभावित हो रहे हैं। इससे गेहूं और चावल जैसे उत्पादों पर दबाव बढ़ रहा है।

अमेरिकी सांसदों ने राष्ट्रपति बाइडन को लिखे अपने पत्र में कहा है कि इस परिस्थिति के कारण अमेरिकी उत्पादकों को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति को जिन सांसदों ने पत्र लिखे हैं उनमें ट्रेसी मान और रिक क्रॉफोर्ड जैसे सांसद शामिल हैं। 

आपको बता दें कि भारत ने इस मामले में विश्व व्यापार संगठन में अपने रुख का बचाव किया है। दुनिया भर के कई देशों और संगठनों ने अपने किसानों के हितों की रक्षा के लिए भारत की सराहना की है।

गौरतलब है कि जिनेवा स्थित विश्व व्यापार संगठन एक इंटर गवर्नरमेंटल ऑर्गेनाइजेशन है जो अंतरराष्ट्रीय व्यापार को नियंत्रित और सुविधाजनक बनाता है। अंतरराष्ट्रीय व्यापार को नियंत्रित करने वाले नियमों को स्थापित करने, संशोधित करने और लागू करने के लिए सरकारें संगठन का उपयोग करती हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00