लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Business ›   Business Diary ›   One lakh houses could not be sold in Delhi NCR in September quarter

Home: सितंबर तिमाही में दिल्ली-एनसीआर में नहीं बिक पाए एक लाख मकान, पढें बिल्डरों को बेचने में लगेगा कितना समय

एजेंसी, नई दिल्ली। Published by: Jeet Kumar Updated Thu, 06 Oct 2022 05:36 AM IST
सार

दिल्ली-एनसीआर में आम्रपाली, जेपी इंफ्रा और यूनिटेक जैसे बिल्डरों की गलती से बिक्री पर विपरीत असर पड़ा है। यहां पर एक लाख से ज्यादा मकान खाली पड़े हैं।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : iStock
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

देश के 8 प्रमुख शहरों में सितंबर तक 7.85 लाख घर की बिक्री नहीं हो पाई है। मार्च तिमाही में इनकी संख्या 7.63 लाख थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि बिल्डरों को इन मकानों को बेचने में 32 महीने लग सकते हैं।



इन 8 शहरों में मुंबई, कोलकाता, दिल्ली-एनसीआर (गुरुग्राम, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद) अहमदाबाद, चेन्नई, बंगलूरू और हैदराबाद हैं। दिल्ली-एनसीआर में आम्रपाली, जेपी इंफ्रा और यूनिटेक जैसे बिल्डरों की गलती से बिक्री पर विपरीत असर पड़ा है। यहां पर एक लाख से ज्यादा मकान खाली पड़े हैं। इन्हें बेचने में बिल्डरों को 62 महीने लग सकते हैं।


इन शहरों में सितंबर तिमाही में मकानों की बिक्री 49% बढ़कर 83,220 हो गई थी। अहमदाबाद में 65,160 घर खाली हैं। इनको बेचने में 30 महीने लगेंगे। बंगलूरू में 77,260, चेन्नई में 32,180, हैदराबाद में 99,090 और कोलकाता में 22,530 घर खाली हैं। मुंबई में 2.72 लाख मकान खाली हैं। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00