लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Business ›   Business Diary ›   RBI New Rule Strict action will be taken on using abusive language for loan recovery, RBI notification issued

RBI New Rule: लोन वसूली के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग करने पर होगी सख्त कार्रवाई, आरबीआई का नोटिफिकेशन जारी

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: विवेक दास Updated Sat, 13 Aug 2022 03:07 PM IST
सार

RBI New Rule: आरबीआई ने नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा है कि रिकवरी एजेंट्स की करतूतों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। रेगुलेटर को यह सुनिश्चित करना होगा कि वे या उनके एजेंट्स कर्ज की वसूली करते समय किसी तरह की डराने या धमकाने वाली हरकत नहीं करेंगे।

आरबीआई
आरबीआई - फोटो : पीटीआई
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बीते कुछ वर्षों में लोन की वसूली के लिए रिकवरी एजेंट्स के लोगों को परेशान करने की खबरें आम हो गईं हैं। रिकवरी एजेंट्स पैसों की वसूली के लिए ग्राहकों से ना केवल अभद्र भाषा का प्रयोग करने करते हैं बल्कि कई बार तो ग्राहकों से गाली-गलौज कर उन्हें मानसिक रूप से भी प्रताड़ित करते हैं। आरबीआई ने इसके खिलाफ सख्त कदम उठाने का फैसला लिया है। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि लोन रिकवरी एजेंट लोगों के साथ पैसे की वसूली के दौरान गलत व्यवहार करते हैं, यह कतई स्वीकार्य नहीं है।



रिकवरी एजेंट्स के गलत व्यवहार पर रिजर्व बैंक सख्त

आरबीआई ने नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा है कि रिकवरी एजेंट्स की करतूतों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। रेगुलेटर को यह सुनिश्चित करना होगा कि वे या उनके एजेंट्स कर्ज की वसूली करते समय किसी तरह की डराने या धमकाने वाली हरकत नहीं करेंगे। किसी भी कर्जदार के साथ गाली-गलौज या हाथापाई की घटना नहीं हुई चाहिए, नहीं तो सख्त कदम उठाए जाएंगे और ऐसा करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। 

बैंकों को सुनिश्चित करना होगा कि कर्जदारों के साथ बदतमीजी ना हो 

केंद्रीय बैंक ने यह भी कहा है कि किसी भी बैंक या वित्तीय संस्था को यह सुनिश्चित करना होगा कि उसके रिकवरी एजेंट्स किसी कर्जदार, उसके परिजनों या दोस्तों के साथ किसी भी तरह की बदतमीजी नहीं करेंगे। इसके साथ-साथ उन्हें यह भी सुनिश्चित करना होगा कि उनके रिकवरी एजेंट्स कर्जदार या उनके परिजनों व दोस्तों की प्राइवेसी में भी दखल नहीं दें। कर्जदारों को मोबाइल या सोशल मीडिया के जिरए डाराने-धमकाने वाले मैसेज करने और इस तरह के कॉल करने पर वित्तीय संस्थाओं और उनके रिकवरी एजेंट्स के खिलफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

सुबह आठ बजे से पहले और शाम सात बजे के बाद वसूली के लिए कॉल नहीं कर सकते एजेंट्स 

आरबीआई ने अपने नोटिफिकेशन में कहा है कि रिकवरी एजेंट्स बार-बार फोन भी नहीं कर सकते हैं। लोन की रिकवरी के लिए कर्जदारोंं को सुबह आठ बजे के पहले और शाम को सात बजे के बाद किसी भी हालत में फोन नहीं किया जाना चाहिए। आरबीआई ने कहा है कि अगर किसी भी रगुलेटेड इंटिटी ने इसका उल्लंघन किया तो इसे गंभीरता से लिया जाएगा और सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

बता दें कि आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने जून महीने में एक सम्मेलन के दौरान कहा था कि कर्जदारों को लोन रिकवरी एजेंट किसी भी समय फोन कर देते हैं और उनके साथ गलत व्यवहार करते हैं। यह कतई स्वीकार्य नहीं है। सेंट्रल बैंक इसे गंभीरता से ले रहा है और इस समस्या से सख्ती से निपटने में नहीं हिचकेगा।

रिकवरी एजेंट्स बदतमीजी करे तो आपको क्या करना चाहिए?

आरबीआई की ओर से लोन की रिकवरी के लिए स्पष्ट निर्देश हैं। बैंक के अनुसार इन निर्देशों का उल्लंघन करना कतई स्वीकार्य नहीं है। अगर कोई लोक रिकवरी एजेंट आपको परेशान करता है या मानसिक रूप से प्रताड़ित करता है तो आपको इसकी शिकायत पहले बैंक में करनी चाहिए। आप बैंक को अपनी परिस्थिति से अवगत कराते हुए लोन के भुगतान की शर्तों में बदलाव कर सकते हैं। अगर 30 दिनों के भीतर बैंक ने आपकी शिकायत का निपटारा नहीं किया तो आप बैंकिंग ओंबड्समैन से इसकी शिकायत कर सकते हैं। इसके साथ ही आप केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को भी इसकी शिकायत कर सकते हैं।

निर्देश नहीं मानने पर आरबीआई लगा सकता है जुर्माना

रिजर्व बैंक उस बैंक को ऑर्डर जारी कर फटकार लगा सकता है। कुछ खास मामलों में आरबीआई बैंकों पर जुर्माना भी लगा सकता है। रिकवरी करने वाले एजेंट्स कोई गैर-कानूनी एक्शन लेता है या कर्जदार के साथ हाथापाई करता है या कोई चीज उठा ले जाता है तो इसकी शिकायत पुलिस में भी की जा सकती है। इसके अलावे पीड़ित कर्जदार इंसाफ के लिए लोक अदालत और कंज्यूमर कोर्ट का दरवाजा भी खटखटा सकता है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00