शर्त: एसबीआई चेयरमैन ने कहा- जेट एयरवेज की दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने से पहले लिखित भरोसा दे सरकार

एजेंसी, नई दिल्ली। Published by: Jeet Kumar Updated Wed, 20 Oct 2021 01:40 AM IST

सार

एसबीआई प्रमुख ने मंगलवार को कहा कि प्रक्रिया शुरू करने के लिए अनुमति देने से पहले हम सरकार की ओर से भरोसा चाहते हैं।
रजनीश कुमार
रजनीश कुमार - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कर्ज में डूबी निजी विमानन कंपनी जेट एयरवेज के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने से पहले सरकार से लिखित भरोसे की मांग की है।
विज्ञापन


रजनीश कुमार ने कहा कि जेट एयरवेज को कर्ज देने वाले अधिकतर बैंक समाधान योजना के खिलाफ हैं। कंपनी के प्रवर्तक प्रक्रिया शुरू करने की तय शर्तों का पालन नहीं कर पा रहे हैं। मेरे लिए भी यह बेहद चुनौतीपूर्ण मामला है और एसबीआई बोर्ड भी इस पर सहज महसूस नहीं कर पा रहा है।


आगे कहा कि बिना सरकारी भरोसे के कंपनी की समाधान योजना को मंजूरी देना बैंक की साख पर जोखिम पैदा कर सकता है। लिहाजा उड्डयन मंत्रालय के वित्त सेवा विभाग को बैंक के लिए समर्थन पत्र जारी करना होगा।

8,000 करोड़ का कर्ज
जेट एयरवेज ने एसबीआई की अगुवाई वाले बैंक समूह से 8,000 करोड़ का कर्ज लिया है। इसके अलावा वेंडर्स के भी 25 हजार करोड़ बकाया हैं। बकाया बढ़ने पर 17 अप्रैल, 2019 से कंपनी की उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया गया।

एसबीआई प्रमुख ने कहा, जेट एयरवेज के दोबारा उड़ान भरने की उम्मीद बेहद कम है। कंपनी के पास सभी विमान लीज पर थे, जो वापस ले लिए गए हैं। अन्य कोई संपत्ति है नहीं, जिससे एयरलाइंस को दोबारा खड़ा किया जा सके। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00