लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Business ›   Business Diary ›   Undersea Tunnel: Tunnel will be built under sea in the country to run bullet train, know facts

Under Sea Tunnel: बुलेट ट्रेन दौड़ाने के लिए देश में समुद्र के भीतर बनेगा टनल, जानिए कैसे व कहां होगा निर्माण?

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: विवेक दास Updated Sat, 24 Sep 2022 05:49 PM IST
सार

Undersea Tunnel: बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के तहत समुद्र के भीतर टनल बनाने की यह देश में अपने तरह की पहली परियोजना है। इसके निर्माण के लिए बोलियां जमा करने की अंतिम तिथि 29 जनवरी 2023 की तय की गई है। रेल मंत्रालय को उम्मीद है कि वर्ष 2026 में गुजरात में 50 किलोमीटर के रूट पर बुलेट ट्रेन का पहला ट्रायल रन शुरू हो जाएगा।

पीएम नरेंद्र मोदी और दिवंगत शिंजो अबे
पीएम नरेंद्र मोदी और दिवंगत शिंजो अबे - फोटो : NHSRCL
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

देश में बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट को रफ्तार देने का काम चल रहा है। इसी के तहत आने वाले कुछ वर्षों में बुलेट ट्रेन चलाने के लिए देश का पहला अंडर सी टन बनाया जाएगा। समुद्र के भीतर बनने वाली इस टनल में ट्रेन 300 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकेगी। इस सुरंग की लंबाई 21 किलोमीटर होगी, जिसमें सात किलोमीटर समुद्र के अंर से गंजरनेगी। नेशनल हाई स्पीलड रेलवे कॉरपोरेशन (NHSRCL) ने इसे बनाने के लिए बोलियां मंगाई है। बता दें कि कॉरपोरेशन ने पिछले वर्ष नवंबर में भी भूमिगत सुरंगों के निर्माण के लिए टेंडर निकाला था पर प्रशासनिक कारणों का हवाला देते हुए इसे रद्द कर दिया गया था। 

ब्रांद्रा-कुर्ला कॉम्पलेक्स और शिलफाटा के अंडरग्राउंड स्टेशनों को जोड़ने के लिए होगा निर्माण 

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट
बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट - फोटो : NHSRCL
इस सुरंग का निर्माण महाराष्ट्र के ठाणे जिला के ब्रांद्रा-कुर्ला कॉम्पलेक्स और शिलफाटा के अंडरग्राउंड स्टेशनों को जोड़ने केक लिए किया जाएगा। ठाणे की खाड़ी में बनने वाले इस सुरंग के निर्माण के लिए निकाले गए टेंडर डॉक्यूमेंट के अनुसार इस सुरंग का निर्माण टनल बोरिंग मशीन और न्यू ऑस्ट्रियन टनलिंग मेथड का इस्तेमाल करके किया जाएगा।

ब्रह्मपुत्र नदी में भी सुरंग बनाने की योजना पर हो रहा काम 

अंडर सी टनल
अंडर सी टनल - फोटो : NHSRCL

बता दें कि इससे पहले दिल्ली-मुंबई रैपिड रेल ट्रांजिट परियोजना के लिए यमुना नदी में अंडर वाटर सुरंग बनाने का प्रस्ताव तैयार किया गया था। पर यह संभाव नहीं हो पाया। इसके  साथ ही सड़क और रेल मंत्रालय ब्रह्मपुत्र नदी में भी एक सुरंग बनाने की योजना पर काम कर रहा है। जिसका इस्तेमाल वाहनों और ट्रेनों दोनों के परिचालन के लिए किया जा सकेगा। 

क्या होगी समुद्र में बनने वाली टनल की विशेषता? 

अंडर सी टनल
अंडर सी टनल - फोटो : NHSRCL
एनएचएसआरसीएल के अनुसार ठाणे की खाड़ी में बनने वाली सुरंग एक सिंगल ट्यूब में की तकनीक पर आधारित होगी। इस ट्यूट के अंदर ही आने और जाने वाले दोनों ट्रैक होंगे। एनएचएसआरसीएल के अनुसार इस परियोजना में सुरंग स्थान से सटे 37 स्थानों पर 39 उपकरण कक्ष भी बनाए जाएंगे। 

मुंबई में पहाड़ी से 114 मीटर नीचे होगा निर्माण

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए गुजरात के आनंद में बने पिलर
बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए गुजरात के आनंद में बने पिलर - फोटो : NHSRCL
देश में समुद्र के भीतर पहली बार बनने वाले वाले टनल का निर्माण भूतल से करीब 25 से 65 मीटर नीचे किया जाएगा। इसका सबसे गहरा निर्माण स्थल मुंबई के शिलफाटा के पास पारसिक पहाड़ी से 114 मीटर नीचे होगा। इस परियोजना के लिए 13.1 मीटर व्यास के कटर हेड वाली टनल बोरिंग मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा। 

2026 तक देश में बुलेट ट्रेन दौड़ाने का है लक्ष्य

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए गुजरात के सूरत में चल रहा निर्माण
बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए गुजरात के सूरत में चल रहा निर्माण - फोटो : NHSRCL
बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के तहत समुद्र के भीतर टनल बनाने की यह देश में अपने तरह की पहली परियोजना है। इसके निर्माण के लिए बोलियां जमा करने की अंतिम तिथि 29 जनवरी 2023 की तय की गई है। बता दें कि रेल मंत्रालय को उम्मीद है कि वर्ष 2026 में गुजरात में 50 किलोमीटर के रूट पर बुलेट ट्रेन का पहला ट्रायल रन शुरू हो जाएगा।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00