लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Dead body of CRPF jawan missing since 11 days found in Pathankot

Pathankot: 11 दिन से लापता CRPF जवान का शव मिला, जम्मू-कश्मीर के रहने वाले थे वसीम अफजल

संवाद न्यूज एजेंसी, पठानकोट (पंजाब) Published by: ajay kumar Updated Fri, 07 Oct 2022 06:54 PM IST
सार

नजाकत हुसैन और वसीम अफजल दोनों लुधियाना से बस में बैठकर आ रहे थे। जब बस पठानकोट-जालंधर हाईवे स्थित मीरथल के पास रुकी तो उसका भाई वसीम नजाकत हुसैन को बिना बताए बस से नीचे उतरकर गांव आबादगढ़ चक्की दरिया की ओर भाग गया। भाई की गुमशुदगी की रिपोर्ट 26 सितंबर को नंगलभूर थाने में दर्ज करवाई थी।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

25 सितंबर को चचेरे भाई के साथ बस में लुधियाना से पठानकोट आते समय अचानक गायब हुए सीआरपीएफ जवान का शव चक्की दरिया के किनारे झाड़ियों के बीच से बरामद हुआ है। मृतक वसीम अफजल जम्मू और कश्मीर के जिला रामबन का रहने वाला था। वह रांची में सीआरपीएफ 174 बटालियन में तैनात था और छुट्टी पर अपने घर आ रहा था। 



भाई के मुताबिक वसीम अफजल कुछ दिनों से दिमागी तौर पर परेशान था। शिकायतकर्ता जम्मू और कश्मीर के जिला रामबन के मुदसर अफजल ने पुलिस को बताया कि उसका भाई वसीम अफजल सीआरपीएफ 174 बटालियन में नौकरी करता था, जो दिमागी तौर पर बीमार था। वह अपनी ड्यूटी से छुट्टी लेकर जम्मू आ रहा था लेकिन वह दिल्ली एयरपोर्ट पर उतर गया। वह दिल्ली से लुधियाना आ गया। उसने अपने भतीजे नजाकत हुसैन को वसीम अफजल को लेने लुधियाना भेजा। 


नजाकत हुसैन और वसीम अफजल दोनों लुधियाना से बस में बैठकर आ रहे थे। जब बस पठानकोट-जालंधर हाईवे स्थित मीरथल के पास रुकी तो उसका भाई वसीम नजाकत हुसैन को बिना बताए बस से नीचे उतरकर गांव आबादगढ़ चक्की दरिया की ओर भाग गया। भाई की गुमशुदगी की रिपोर्ट 26 सितंबर को नंगलभूर थाने में दर्ज करवाई थी। नंगलभूर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00