लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chhattisgarh ›   bhupesh baghel government will start 'Humar Beti-Humar Maan' campaign for girls safety in chhattisgarh

छत्तीसगढ़ : सरकार शुरू करेगी 'हमर बेटी-हमर मान', गर्ल्स स्कूल-कॉलेज में पुलिस देगी गुड टच-बैड टच की ट्रेनिंग

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रायपुर Published by: मोहनीश श्रीवास्तव Updated Fri, 23 Sep 2022 05:09 PM IST
सार

छत्तीसगढ़ सरकार बेटियों की सुरक्षा के लिए 'हमर बेटी-हमर मान' अभियान शुरू करने जा रही है। 

भूपेश बघेल
भूपेश बघेल - फोटो : Social media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

छत्तीसगढ़ सरकार अब स्कूल-कॉलेज स्तर पर ही लड़कियों की सुरक्षा को लेकर कदम उठाने जा रही है। इसके लिए पुलिसकर्मी हर गर्ल्स स्कूल और कॉलेज में जाएंगे और वहां सेल्फ डिफेंस के साथ ही गुड टच-बैड टच और कानूनी जानकारी देंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। मुख्यमंत्री ने इसे नाम दिया है 'हमर बेटी-हमर मान'।


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को बताया कि बेटियों को सोशल मीडिया क्राइम से बचाव के तरीके बताए जाएंगे। साथ ही उनके अधिकार जैसी बातों पर मार्गदर्शन और संवाद भी होगा। उन्होंने बताया कि लड़कियों की सुरक्षा के लिए ’हमर बेटी हमर मान’ हेल्पलाइन बनाई जा रही है। इसके लिए मोबाइल नंबर जारी होगा। जिस पर बेटियां अपनी शिकायत, अपनी परेशानी, अपने साथ होने वाले किसी भी दुर्व्यवहार या अपराध की सूचना दर्ज करा पाएंगी और उन पर प्राथमिकता से कार्यवाही की जाएगी। 


लड़कियों, महिलाओं की मौजूदगी वाली जगह पर होगी महिला पेट्रोलिंग
मुख्यमंत्री बघेल ने ट्वीट कर जानकारी दी कि इस अभियान के तहत महिला पुलिस अधिकारी और कर्मचारी सभी जिलों के स्कूल-कॉलेजों में जाएंगे। वहां बेटियों को उनके कानूनी अधिकार, गुड टच-बैड टच, छेड़खानी, यौन शोषण, साइबर क्राइम, सोशल मीडिया क्राइम से बचाव और अधिकार जैसी बातों पर मार्गदर्शन देने के साथ ही संवाद भी करेंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटियां हमारा मान सम्मान हैं, बेटियां प्रदेश के भविष्य उज्ज्वल की नींव हैं। जिस समाज में बेटियां सुरक्षित हों, सशक्त हों, वह समाज निरंतर प्रगति के पथ पर अग्रसर होता है। 

महिला संबंधी अपराधों की जांच महिला अधिकारी ही करेंगी
उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने तय किया है कि महिला संबंधी अपराधों की जांच प्राथमिकता के आधार पर महिला जांच अधिकारी से ही कराई जाएगी। साथ ही ऐसे अपराधों की जांच निर्धारित समय में पूरी हो और  चालान पेश हो जाए, ये सुनिश्चित करने का दायित्व आईजी रेंज को होगा। महिला सुरक्षा के लिए लॉन्च किए जाने वाले एप्लीकेशन के संबंध में स्कूल-कॉलेजों में जाकर बताया जाएगा, कि इसका इस्तेमाल कैसे किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसी पूरी आशा है कि महिला सुरक्षा और महिलाओं का सम्मान बढ़ाने की दिशा में यह अभियान एक क्रांतिकारी कदम साबित होगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00