Hindi News ›   Columns ›   Blog ›   world tourism day 2021 craze of tourism is increasing on social media

विश्व पर्यटन दिवस विशेष: सोशल मीडिया पर बढ़ता टूरिज्म का क्रेज, घर बैठे हो जाती है दुनियाभर की सैर

Swati sharma स्वाति शैवाल
Updated Mon, 27 Sep 2021 09:21 AM IST

सार

कई घुमक्कड़ लोग आपको सोशल मीडिया पर मिल जाएंगे। इनमें से कुछ भारत में ही पहाड़ों से लेकर समंदर और मैदानों तक की खूबसूरत तस्वीर आपके सामने पेश करते हैं तो कुछ विदेशी धरती पर बसी भारतीय पहचान को सामने ले आते हैं। लक्ष्य सबका एक ही है, दुनिया को एक परिवार के रूप में सामने लाने का और सीमाओं, भाषाओं से परे, यात्राओं के जरिये खुशियां बांटने का।
विश्व पर्यटन दिवस 2021
विश्व पर्यटन दिवस 2021 - फोटो : istock
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अब 8 डॉलर्स में अराउंड द वर्ल्ड की बात तो रही नहीं, लेकिन ये भी सच है कि दुनिया सिमट कर एक होती जा रही है। एक ऐसी दुनिया, जिसमें हर मनुष्य में एक-दूसरे को जानने की उत्सुकता, एक दूसरे की संस्कृति को समझने की आकांक्षा और दुनिया भर को नाप लेने की उत्कंठा भरपूर है। यही कारण है कि पिछले 5-6 सालों में कई नौजवानों ने इसके लिए बाकायदा प्रोफेशनल स्तर पर व्लॉगिंग- ब्लॉगिंग भी शुरू कर दी है और दुनियाभर में यह ट्रेंड अब आम है। भारत के कई युवा अगर विदेशों में जाकर वहां की संस्कृति और खान-पान पर वीडियोज बना रहे हैं तो विदेश से कई लोग भारत आकर यही काम कर रहे हैं। 

विज्ञापन


ये लोग प्रोफेशनल लेवल पर तो काम कर ही रहे हैं, इनकी वजह से आप घर बैठे-बैठे दुनियाभर की सैर कर सकते हैं। यही नहीं ज्यादातर प्रोफेशनल्स अपने वीडियोज में चूंकि जाने-आने, ठहरने, खाने आदि की विस्तृत जानकारी देते हैं, ऐसे में यदि आपको कहीं घूमने जाना हो तो आपके पास उस जगह की बेसिक जानकारी यो होती ही है। जानिए ऐसे ही कुछ घुमक्कड़ों के बारे में, जिन्होंने सोशल मीडिया को घुमक्कड़ी की नई परिभाषा दी है।


'माउंटेन ट्रैकर' नाम से अपना यूट्यूब चैनल चलाने वाले भारत के डॉ. वरुण वागीश, पेशे से जर्नलिस्ट हैं तथा मास कम्युनिकेशन में पीएचडी हैं। वरुण ने 2003 से अपने घुमक्कड़ी के शौक को पूरा करना शुरू किया था, लेकिन उन्होंने अपने वीडियो अपलोड करने शुरू किए 2014 के बाद से। उन्होंने अपनी अच्छी खासी जॉब को अपने घुमक्कड़ी के शौक के लिए अलविदा कह दिया। आज न केवल उनके 1.48 मिलियन सब्सक्राइबर्स हैं, बल्कि पूरी दुनिया में कई देशों के टूरिज्म डिपार्टमेंट से वे प्रचार-प्रसार के लिए भी प्रोफेशनली जुड़े हैं। 

खास बात यह है कि डॉ. वागीश अपनी ट्रिप्स में कम से कम खर्च के साथ घुमक्कड़ी के टिप्स देते हैं। इसके लिए कहां सस्ता होटल या होस्टल मिलेगा, कैसे पब्लिक ट्रांसपोर्ट से जा सकते हैं, कहां फ्लाइट बदलनी होगी, आदि बातें उनके वीडियोज में विस्तार से बताई जाती हैं। डॉ. वागीश का संतुलित और विनम्र व्यवहार उन्हें केवल भारत में ही नहीं, विदेशों में लोगों के बीच बेहद लोकप्रिय बना चुका है। वे प्रचलित टूरिस्ट प्लेसेस के अलावा ऐसी जगहों पर भी जाते हैं, जहां आमतौर पर टूरिस्ट कम जाया करते हैं।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : istock
मात्र 19 साल की उम्र के शुभम कुमार ने 'नोमैड शुभम' नाम के अपने यूट्यूब चैनल के साथ यात्राएं प्रसारित करनी शुरू की थीं। वे अब अपने 1.59 मिलियन सब्सक्राइबर्स के साथ ऐसी जगहों पर यात्राएं कर रहे हैं, जहां आम टूरिस्ट्स बहुत कम जाते हैं। अफ्रीका के दूरस्थ स्थानों से लेकर आर्मेनिया तक शुभम घूम चुके हैं और मजेदार बात यह है कि ये ज्यादातर सफर हिचाहाइकिंग यानी फ्री लिफ्ट के साथ पूरा करते हैं। छोटी जगहों पर भी भारतीय लोगों और देसी भोजन को ढूंढ निकालते हैं। उनके सफर में कई तरह के रोमांच शामिल होते हैं, जैसे तालिबानियों के कब्जे के कुछ ही दिन पहले तक वे काबुल में थे।

वे आपको अमृतसर के गुरुद्वारे के लंगर में रोटियां बनाते दिखेंगे तो कभी मुम्बई और पुणे की सड़कों पर स्ट्रीट फूड के आनंद लेते। अमेरिकन फिल्ममेकर विल सनबकनर जिनके द्वारा प्रस्तुत सनी साइड वीडियोज के अंतर्गत जारी श्रृंखला 'बेस्ट एवर फूड रिव्यू शो' को दुनियाभर में बहुत पसंद किया जाता है। 7.31 मिलियन सब्सक्राइबर्स के साथ विल कई अन्य देशों के साथ-साथ भारत के भी कई हिस्सों में घूमते हैं, बहुत मजेदार तरीके से फूड रिव्यू करते हैं और बकायदा भोजन को बनाने के तरीके और इंग्रेडिएंट्स के बारे में भी जानकारी देते हैं। 

अमेरिका के ही डेविड हॉफमैन को भारत के अलावा दुनियाभर में कई जगहों पर स्पेशली फ़ूड रिव्यू करते हुए देखा जा सकता है। कुछ दिन पहले ही वे जॉर्जिया के ट्रेडिशनल फूड का आनंद ले रहे थे और कोरोना के दौरान अमेरिका के इंडियन रेस्टोरेंट्स में जाकर भारतीय भोजन का स्वाद बखान रहे थे। 'डेविड्स बीन हियर' नाम के उनके यूट्यूब चैनल पर सब्सक्राइबर्स की संख्या 9 लाख से भी ज्यादा है। वे अब तक 6 कॉन्टिनेंट्स में 2000 से ज्यादा ट्रेवल और फूड शो होस्ट कर चुके हैं। डेविड को भारतीय खाना सबसे ज्यादा पसंद है।

ये और इन जैसे कई घुमक्कड़ लोग आपको सोशल मीडिया पर मिल जाएंगे। इनमें से कुछ भारत में ही पहाड़ों से लेकर समंदर और मैदानों तक की खूबसूरत तस्वीर आपके सामने पेश करते हैं तो कुछ विदेशी धरती पर बसी भारतीय पहचान को सामने ले आते हैं। लक्ष्य सबका एक ही है, दुनिया को एक परिवार के रूप में सामने लाने का और सीमाओं, भाषाओं से परे, यात्राओं के जरिये खुशियां बांटने का।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण): यह लेखक के निजी विचार हैं। आलेख में शामिल सूचना और तथ्यों की सटीकता, संपूर्णता के लिए अमर उजाला उत्तरदायी नहीं है। अपने विचार हमें [email protected] पर भेज सकते हैं। लेख के साथ संक्षिप्त परिचय और फोटो भी संलग्न करें।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00