लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Ankita became uncomfortable after seeing the resort atmosphere on the very first day

अंकिता हत्याकांड: रिजॉर्ट में अंकिता की नौकरी लगवाने फैसले से दुखी है पुष्प

Dehradun Bureau देहरादून ब्यूरो
Updated Fri, 30 Sep 2022 12:51 AM IST
सार

वनंत्रा रिजॉर्ट में अंकिता की नौकरी उसके दोस्त पुष्पदीप ने लगवाई थी, लेकिन अब उसे इसका बेहद मलाल है।इस बीच दोनों में कहासुनी हुई और अंकिता व पुलकित की लड़ाई हो गई।इस पोस्ट पर ट्वीटर यूजर लगातार अपनी प्रतिक्रिया देते हुए अंकिता के सकुशल होने की कामना कर रहे थे।

Ankita became uncomfortable after seeing the resort atmosphere on the very first day
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

वनंत्रा रिजॉर्ट में अंकिता की नौकरी उसके दोस्त पुष्पदीप ने लगवाई थी, लेकिन अब उसे इसका बेहद मलाल है। अंकिता ने यहां तीन सितंबर को ज्वाइन किया और पहले ही दिन रिजॉर्ट का माहौल देखकर असहज हो गई थी। यही कारण है कि उसने पहले दिन से हत्या से कुछ देर पहले तक की सारी बातें सिर्फ पुष्प को ही बताईं। बृहस्पतिवार को पुष्प ने तीन से 18 सितंबर की शाम तक की सारी बातें पुलिस के सामने रखीं।

जानकारी के अनुसार, अंकिता और पुष्प की दोस्ती इंस्टाग्राम पर पिछले साल लॉकडाउन के दौरान हुई थी। अंकिता ने 12वीं के बाद होटल मैनेजमेंट का कोर्स किया था। लॉकडाउन में उसके पिता की नौकरी भी चली गई। घर की माली हालत देखकर अंकिता नौकरी करना चाहती थी। यह बात उसने पुष्प को बताई तो उसने नौकरी तलाशनी शुरू कर दी। इसी साल अगस्त में पुष्प ने इंटरनेट पर वनंत्रा रिजॉर्ट में महिला स्टाफ की नौकरी का विज्ञापन देखा। यहां उसकी बात रिजॉर्ट के मालिक पुलकित से हुई थी। नौकरी के लिए एक शर्त यह भी थी कि महिला को यहीं पर रुकना होगा।

चूंकि, अंकिता को नौकरी की जरूरत थी तो वह राजी हो गई। उसका घर रिजॉर्ट से तकरीबन 150 किमी दूर है। 29 अगस्त को रिजॉर्ट में बातचीत हुई और पुलकित के अन्य स्टाफ ने अंकिता के दस्तावेज लेकर इंटरव्यू की प्रक्रिया पूरी कर ली। अंकिता ने तीन सितंबर 2022 को ज्वाइन किया। अंकिता ने देखा कि रिजॉर्ट में कोई और महिला स्टाफ नहीं है। गतिविधियां भी संदिग्ध लग रही हैं। लिहाजा उसने पुलकित से बात की। पुलकित ने उसे समझाया कि सब ठीक है, कुछ नहीं होगा। ये बातें अंकिता ने पुष्पदीप को बताईं। अंकिता को रहने के लिए एक कमरा दे दिया गया।
इसी दरम्यान एक दिन पुलकित ने कहा कि मेहमान अधिक आ गए हैं। लिहाजा उसे ऑफिस के बगल वाले कमरे में रुकना होगा। अंकिता वहां सोने चली गई। वहां पुलकित भी आ गया। वह शराब पी रहा था। पुलकित ने उससे छेड़खानी की, लेकिन अंकिता ने उसे धमका दिया। यहां से अंकिता ने पुष्प को सारी बातें बताईं। इसके बाद मेहमान का अंकिता को गले लगाना, पुलकित का एक बार और छेड़खानी करना, वीआईपी को रिजॉर्ट में स्पेशल सर्विस देने की बात समेत सारी कहानी समय-समय पर अंकिता ने पुष्प को बताई।
18 सितंबर को छोड़ना था अंकिता को काम
अंकिता पुलकित और उसके दोस्तों से परेशान हो चुकी थी। उसने 17 सितंबर को पुष्प से बात की और 18 सितंबर को नौकरी छोड़ने के लिए कहा। इसकी पूरी तैयारियां हो चुकी थीं। इसी बीच पुलकित, अंकिता के पास आ गया। उसने समझाने की कोशिश की। कहने लगा कि कुछ नहीं होगा, तुम यहां सुरक्षित हो। इस बीच दोनों में कहासुनी हुई और अंकिता व पुलकित की लड़ाई हो गई। पुलकित ने अंकिता की कलाई मरोड़ दी। यह बात अंकिता ने 18 सितंबर की शाम करीब साढ़े चार बजे पुष्प को रोते हुए बताई। फिर एकदम ही अंकिता ने यह कहकर फोन काट दिया कि पुलकित व उसके दोस्त आ गए हैं।
18 सितंबर की शाम हुई थी 22 मिनट की बातचीत
अंकिता को जब पुलकित व उसके दोस्त अपने साथ ले जाने वाले थे तो उससे पहले उसने पुष्प को फिर से फोन किया। शाम करीब साढ़े छह बजे से 6.52 बजे तक दोनों की बात हुई। इस बातचीत में अंकिता ने सारी बातें रोते हुए पुलकित को बताईं। इसके बाद पुलकित उसे ऋषिकेश ले गया। रात करीब नौ बजे अंकिता की हत्या हो जाती है और उसका मोबाइल बंद हो गया। पुष्प ने कई बार अंकिता के मोबाइल पर बात करनी चाही, लेकिन वह स्विच ऑफ बताया गया। अंतिम बार पुष्प ने रात करीब ढाई बजे अंकिता के मोबाइल पर कॉल की। तब भी मोबाइल ऑफ था।
विज्ञापन
20 सितंबर को मदद के लिए लगाई थी गुहार
पुष्पदीप ने 20 सितंबर को दोपहर 12.33 बजे अंकिता के अपहरण और पुलकित आर्य के उससे शराब पीकर उस पर दबाव डालने और डराने का आरोप लगाते हुए ट्वीट किया था। इस पोस्ट पर ट्वीटर यूजर लगातार अपनी प्रतिक्रिया देते हुए अंकिता के सकुशल होने की कामना कर रहे थे। ट्वीट में प्रधानमंत्री कार्यालय, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार को टैग किया गया था, लेकिन पौड़ी गढ़वाल पुलिस के अधिकारिक ट्वीटर हैंडल से जवाब मिला कि क्षेत्रीय राजस्व उपनिरीक्षक विवेक कुमार आवश्यक कार्रवाई कर रहे हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00