लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Police busted gang who robbed people by making gang and trapping them in honeytrap

हनीट्रैप गैंग का पर्दाफाश: तीन महिलाओं सहित पांच गिरफ्तार और चार फरार, आरोपियों की तलाश जारी

संवाद न्यूज एजेंसी, नानकमत्ता। Published by: आकाश दुबे Updated Sat, 13 Aug 2022 11:17 PM IST
सार

एसपी सिटी मनोज कुमार कत्याल, सीओ खटीमा बीएस भंडारी ने शनिवार को हनीट्रैपिंग मामले का खुलासा किया। जिसमें तीन महिलाओं सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

गैंग बनाकर हनीट्रैप में फंसाकर लोगों को लूटने वाले गैंग का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पुलिस ने गैंग में शामिल तीन महिलाओं सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गैंग के सरगना व एक महिला सहित चार आरोपी फरार हैं। गैंग में शामिल एक आरोपी को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। टीम को एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने पांच हजार रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है।



एसपी सिटी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर बिडौरा मझोला में दबिश देकर एक घर की घेराबंदी करते हुए ग्राम हरैय्या निवासी गोगी मौसी उर्फ गुरमीत कौर उर्फ बलविंदर कौर, ग्राम बिडौरा मझौला निवासी बलवंत कौर, ग्राम टुकड़ी निवासी मनजीत कौर उर्फ गीता और सिसईखेड़ा निवासी गुरविंदर सिंह को गिरफ्तार किया गया। 

आरोपियों से मिली जानकारी पर पुलिस ने कैथुलिया टुकड़ी मार्ग पर कैथुलिया के सुखविंदर सिंह उर्फ कुलवंत सिंह को भी दबोचा गया। एसपी सिटी ने बताया कि बीती 25 मई को अमरिया पीलीभीत (यूपी) निवासी जयराम बाइक से खटीमा जा रहे थे। बिज्टी चौराहे पर दो महिलाओं ने उसे अपनी बातों में फंसाकर मेहमाननवाजी के लिए उसे अपने घर बुलाया। आरोप है कि घर में पांच-छह साथियों के साथ तमंचे के बल पर उससे मारपीट कर पचास हजार रुपये की डिमांड की।

 

वहीं दूसरी घटना में 10 जून को मझोला जिला पीलीभीत निवासी कपड़ा व्यापारी दिनेश अग्रवाल को हनीट्रैपिंग में फंसाकर उधार के रुपये देने के नाम पर बिडौरा मझोला में घर बुलाकर उसे बंधक बनाकर दस हजार रुपये व मोबाइल छीन लिए और दो लाख रुपये की डिमांड की गई। पुलिस ने दोनों मामलों में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। गैंग की महिला सदस्य बलवंत कौर ने बिडौरा मझोला में मकान किराये पर लिया था। गैंग का सरगना ग्राम बिचुवा भूड़ थाना नानकमत्ता निवासी बूटा सिंह गैंग में शामिल महिला सदस्यों के जरिये लोगों को बातों में फंसाकर अपना शिकार बनाता था। सीओ भंडारी ने बताया कि गैंग में शामिल हरैय्या गांव का गुरनाम सिंह उर्फ गामा उर्फ गामू को पुलिस पहले ही जेल भेज चुकी है।

 

गैंग का सरगना ग्राम बिचुवा भूड़ बूटा सिंह, सिसईखेड़ा जैंती उर्फ गुरजंट सिंह और ग्राम बनगवां थाना खटीमा निवासी गीता उर्फ सिमरन एवं हरैया का सन्नी फिलहाल फरार हैं जिनकी तलाश की जा रही है। गैंग के सरगना पर आधा दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस टीम में थानाध्यक्ष देवेंद्र गौरव, एसआई जावेद मलिक, एसआई दीवान सिंह बिष्ट, कांस्टेबल नवनीत कुमार, मोहन गिरी, विक्रम सिंह, रमेश भट्ट, महिला कांस्टेबल विद्या रानी, बीना कोहली, नवीन जोशी, पीआरडी की महिला विद्या देवी, ग्राम प्रहरी मिल्खा सिंह, गुरमेज सिंह आदि शामिल रहे।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00