लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Uttarakhand Bus Accident in Bironkhal Today 25 Dead and 21 Injured Read More in Hindi

Uttarakhand Accident: पौड़ी में बरातियों से भरी बस खाई में गिरी, चालक समेत 33 लोगों की मौत, 19 घायल

संवाद न्यूज एजेंसी, कोटद्वार Published by: अलका त्यागी Updated Wed, 05 Oct 2022 07:52 PM IST
सार

मंगलवार देर शाम हुए हादसे के बाद धुमाकोट, रिखणीखाल की पुलिस के साथ ही एसडीआरएफ के जवान राहत और बचाव कार्य में जुट गए थे। बुधवार देर शाम तक चले राहत व बचाव कार्य के दौरान 21 घायलों को निकाल लिया गया। इनमें में दो घायलों ने अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया, जबकि घटनास्थल से 31 शव बरामद किए गए हैं।

घटनास्थल पहुंचे सीएम धामी
घटनास्थल पहुंचे सीएम धामी - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बीरोंखाल के सिमड़ी में हुए बस हादसे में मृतकों की संख्या 33 तक पहुंच गई। इनमें से वाहन चालक समेत 31 लोगों के शव खाई से निकाले गए जबकि दो ने इलाज के दौरान दम तोड़ा। इनमें से 23 की शिनाख्त कर ली गई है। 19 लोग अभी भी घायल हैं। 

Pauri Bus Accident: 32 सीटर बस में सवार थे 52 बराती, शादी के जश्न में मग्न लोगों पर अचानक ऐसे झपटी मौत

मंगलवार देर शाम हुए हादसे के बाद धुमाकोट, रिखणीखाल की पुलिस के साथ ही एसडीआरएफ के जवान राहत और बचाव कार्य में जुट गए थे। बुधवार देर शाम तक चले राहत व बचाव कार्य के दौरान 21 घायलों को निकाल लिया गया। इनमें में दो घायलों ने अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया, जबकि घटनास्थल से 31 शव बरामद किए गए हैं। धुमाकोट के थानाध्यक्ष दीपक तिवारी ने इसकी पुष्टि की है। बताया कि बुधवार देर शाम रेस्क्यू अभियान रोक दिया गया है। बृहस्पतिवार को अंतिम सर्च अभियान घटनास्थल के आसपास पूर्वी नयार नदी के तट तक चलाया जाएगा। क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि, पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी प्रथम दृष्टया हादसे का कारण ओवरलोडिंग मान रहे हैं। 

मजिस्ट्रेटी जांच के निर्देश

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सिमड़ी में दुर्घटनास्थल का निरीक्षण कर मजिस्ट्रेटी जांच के निर्देश दिए। इस मौके पर लैंसडौन विधायक दिलीप रावत और अधिकारियों ने उन्हें राहत और बचाव कार्य की जानकारी दी। वहां से मुख्यमंत्री कोटद्वार पहुंचे जहां बेस अस्पताल में घायलों और उनके परिजनों से मुलाकात कर हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया। उनके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने भी अस्पताल पहुंचकर घायलों का हाल जाना। 

मृतकों की सूची

1. संगीत (32) पुत्र भूरे सिंह निवासी ग्राम रसूलपुर लालढांग (हरिद्वार)।
2. लखपति (35) पुत्र केदारनाथ निवासी ग्राम गोदरा, पौखाल यमकेश्वर।
3. रमेश (55) पुत्र मल्खूनाथ निवासी पयलढांगी ताछला यमकेश्वर।
4. अनीश (50) पुत्र सुक्के निवासी मंडावली जिला बिजनौर यूपी।
5. सतीश (30) पुत्र चंद्रप्रकाश निवासी गाजीवाली श्यामपुर हरिद्वार।
6. अभ्यांश (4) पुत्र सतीश निवासी गाजीवाली श्यामपुर हरिद्वार।
7. सुरेंद्र (58) पुत्र बिट्टू निवासी लालढांग।
8. मुकेश नाथ (40) पुत्र छोटे लाल निवासी ग्राम रसूलपुर लालढांग (हरिद्वार)।
9. अशोक कुमार (41) पुत्र राजेंद्र सिंह निवासी कलालघाटी।
10. धनवीर (32) पुत्र भारत भूषण निवासी दुगड्डा।
11. इस्तियाक (35) पुत्र मुस्ताक निवासी मंडावली जिला बिजनौर।
12. अमन (22) पुत्र बृजमोहन निवासी पयलढांग ताच्छला अमोला यमकेश्वर।
13. अनिल (28) पुत्र चंद्रप्रकाश निवासी गजेवाली, श्यामपुर हरिद्वार।
14. सुमनलाल (58) पुत्र सोहनलाल निवासी पयलढांगी, ताच्छला अमोला, यमकेश्वर।
15. विशाल (25) पुत्र बाबू निवासी जालपुर बिजनौर।
16. दिव्यांशी (07) पुत्री गुलाब सिंह निवासी विकासनगर देहरादून।
17. सैन सिंह (45) पुत्र राजेंद्र सिंह निवासी कलालघाटी कोटद्वार।
18. सोनी (24) पत्नी धनवीर निवासी दुगड्डा।
19. सोहनलाल (52) पुत्र कल्याणनाथ निवासी ताछला यमकेश्वर।
20. गुड़िया (30) पत्नी दीपक निवासी कोटद्वार।
21. दिनेश गुसाईं, वाहन चालक (45) पुत्र त्रिलोक निवासी टांड्यूधार गडरी चौबट्टाखाल।
22. वर्षा (20) पत्नी सतीश नाथ निवासी श्यामपुर हरिद्वार।
23. संदीप (34) पुत्र रमेश निवासी डाडामंडी द्वारीखाल।
.
.

घायलों की सूची

1. अंजली (18) पुत्री धीरेंद्र निवासी लालढांग हरिद्वार।
2. गौरव (25) पुत्र तेजपाल निवासी अमोला यमकेश्वर।
3. धनवीर (18) पुत्र वीरेंद्र निवासी अमोला यमकेश्वर।
4. धीरेंद्र (48) पुत्र ज्ञान सिंह निवासी चांदपुर द्वारीखाल।
5. जयपाल (43) पुत्र मोहन निवासी लालढांग।
6. पंकज नारंग (24) पुत्र राकेश निवासी लालढांग।
7. आकाश (15) पुत्र धीरेंद्र निवासी लालढांग।
8. सुमित (21) पुत्र धर्मपाल निवासी लालढांग।
9. सादाब (18) पुत्र मुस्तकीम खान निवासी बिजनौर।
10. शिवानी (4) पुत्री अनिल सिंह निवासी लालढांग।
11. आदित्य (11) पुत्र धनवीर सिंह निवासी दुगड्डा।
12. पूजा (30) पत्नी कुलदीप निवासी लालढांग।
13. पूनम (32) पत्नी धनवीर निवासी लालढांग।
14. मोहित (40) पुत्र काशीनाथ निवासी लालढांग।
15. मथुरा प्रसाद (51) पुत्र चंडी प्रसाद निवासी कोटद्वार।
16. निखिल (15) पुत्र मामराज निवासी मंडावली बिजनौर।
17. आशा देवी (31) पत्नी अशोक निवासी कलालघाटी।
18. अनूप (20) पुत्र जगदीश निवासी ताछला यमकेश्वर।
19. सचिन (12) पुत्र कुलदीप निवासी लालढांग।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने घटना पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखंड में बस के घाटी में गिरने पर कई लोगों के हताहत होने की दुर्घटना से दुखी हूं। इस दुर्घटना में अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी गहरी शोक-संवेदनाएं। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती हूं।
विज्ञापन
 

खाई से निकाले सभी शव, राहत और बचाव कार्य रोका

सिमड़ी बस हादसे के बाद रेस्क्यू में जुटी पुलिस, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ ने राहत और बचाव कार्य बुधवार देर शाम रोक दिया। पुलिस का कहना है कि हादसे में मृत लोगों के शव खाई से निकाल लिए गए हैं। अब बृहस्पतिवार को अंतिम सर्च अभियान चलाया जाएगा। 

मंगलवार शाम हुए हादसे के बाद से डीएम, एसएसपी समेत आला अधिकारियों ने बीरोंखाल में डेरा डाला हुआ है। एसओ रिखणीखाल अरविंद कुमार और धुमाकोट के थानाध्यक्ष दीपक तिवारी ने बताया कि मंगलवार रात से चल रहा राहत और बचाव कार्य बुधवार देर शाम रोक दिया गया है। धुमाकोट के थानाध्यक्ष दीपक तिवारी ने बताया कि सभी 31 शव निकल लिए गए हैं जबकि दो घायलों को अस्पताल पहुंचाते समय मौत हो गई थी। जबकि 19 लोग घायल हैं। शवों का पोस्टमार्टम रिखणीखाल अस्पताल में हुआ।

बुधवार देर शाम तक डा. हरेंद्र कुमार की अगुवाई वाली डॉक्टरों की टीम ने पोस्टमार्टम कर 29  शव परिजनों के सुपुर्द कर दिए। बिजनौर जिले के मृतकों के शव परिजनों के सुपुर्द कर दिए हैं। कोटद्वार, लालढांग और ताछला के लोगों के शव देर रात तक कोटद्वार लाकर मोर्चरी में रखे जा रहे हैं। संवाद 


गमजदा लोगों की आंखों में दिखा आक्रोश

बीरोंखाल के सिमड़ी में हुई बस दुर्घटना से दूल्हे के गांव लालढांग और यमकेश्वर के ताछला गांव में कोहराम मचा है। हादसे की सूचना मिलते ही लालढांग और यमकेश्वर के अलावा अन्य स्थानों पर रह रहे बरातियों के परिजन कोटद्वार बेस अस्पताल में उमड़ पड़े। यहां घायलों और मृतकों की सही जानकारी नहीं मिलने से गमजदा लोग आक्रोशित नजर आए। परिजनों ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाया कि घायलों को तो कोटद्वार अस्पताल भेज दिया गया लेकिन मृतकों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00