लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   Delhi NCR ›   Cheating by changing ATM cards Delhi crime branch took gang leader on remand

Delhi: एटीएम कार्ड बदल व क्लोनिंग कर करता था ठगी, क्राइम ब्रांच ने गिरोह सरगना को रिमांड पर लिया

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली Published by: अनुराग सक्सेना Updated Wed, 17 Aug 2022 07:07 PM IST
सार

गिरफ्तार मास्टरमाइंड कुलदीप हरियाणा के हिसार का रहने वाला है। इस मामले में दो आरोपी धर्मवीर उर्फ धापी और सुनील पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं। आरोपी के पास से 12 क्रेडिट व डेबिट कार्ड व एक स्वैपिंग मशीन बरामद की गई है।

एटीएम कार्ड की धोखाधड़ी करने का आरोपी गिरफ्तार
एटीएम कार्ड की धोखाधड़ी करने का आरोपी गिरफ्तार - फोटो : pixabay
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच (अपराध शाखा) ने हाईटेक ठगों के एक गिरोह का पर्दाफाश कर गिरोह के मास्टमाइंड को हिमाचल प्रदेश की कुल्लू पुलिस की कस्टडी से रिमांड पर लिया है। आरोपी नकदी निकालने एटीएम पहुंचने वाले बुजुर्ग व अनपढ़ लोगों को अपना शिकार बनाते थे।



गिरफ्तार मास्टरमाइंड कुलदीप हरियाणा के हिसार का रहने वाला है। इस मामले में दो आरोपी धर्मवीर उर्फ धापी और सुनील पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं। आरोपी के पास से 12 क्रेडिट व डेबिट कार्ड व एक स्वैपिंग मशीन बरामद की गई है।


अपराध शाखा के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के अनुसार, एक बुजुर्ग ने जनकपुरी थाने में दी शिकायत में कहा कि वह गिरोह के शिकार उस समय बन गए जब वह नकदी निकालने एटीएम पहुंचे थे। यहां पर गिरोह के सदस्यों ने उसका ध्यान भटकाकर कार्ड बदल दिया और फिर उनके खाते से दो लाख 53 हजार रुपये निकाल लिए।

आरोपियों के पास थी क्लोनिंग मशीन

मामला दर्जकर अपराध शाखा में तैनात इंस्पेक्टर दीपक पांडेय की टीम को जांच में लगाया गया। पुलिस टीम ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। पुलिस को जांच पर पता लगा कि आरोपी अनपढ़ व बुजुर्ग लोगों को अपना शिकार बनाते थे। ये ऐसे एटीएम में बुजुर्ग को निशाना बनाते थे, जहां सुरक्षा गार्ड नहीं होते थे। ये साथ में क्लोनिंग मशीन रखते थे। ये कार्ड को मशीन में स्वैप कर लेते थे। ये नकदी निकालकर आपस में बांट लेते थे।

इसके बाद पुलिस ने पिछले महीने धर्मवीर व सुनील को गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपियों से कुलदीप के बारे में पूछताछ की गई। पुलिस टीम को इंटरओपरेबल क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम (आईसीजेसी) से पुलिस के बारे में इनपुट प्राप्त हुआ। इससे पता लगा कि आरोपी कुलदीप हिमाचल प्रदेश के सदर कुल्लू और बलह थाने में दर्ज ऐसे ही मामलों में गिरफ्तार किया गया है।


इसके बाद इंस्पेक्टर दीपक पांडेय की टीम ने आरोपी को पांच दिन के रिमांड पर लिया और उससे पूछताछ में पता लगा कि आरोपी के खिलाफ 12 से ज्यादा मामले दर्ज हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00