लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   Delhi NCR ›   consignment of arms recovered before independence day used to supply in punjab including delhi-ncr two smuggle

स्वतंत्रता दिवस से पहले हथियारों की खेप बरामद: दिल्ली-NCR समेत पंजाब में करते थे सप्लाई, दो तस्कर गिरफ्तार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Vikas Kumar Updated Tue, 09 Aug 2022 03:26 AM IST
सार

दोनों आरोपियों ने बताया कि वह एक अवैध पिस्टल 12 से 15 हजार रुपये में लाते थे और आगे उसे 25 से 30 हजार रुपये में बेच देते थे। गगनदीप के पिता ट्रक ड्राइवर है। वह गरीबी के कारण अवैध हथियारों की तस्करी करने लगा था।  

बरामद अवैध हथियार
बरामद अवैध हथियार - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने स्वतंत्रता दिवस से पहले हथियारों की खेप पकड़ी है। इसकी सप्लाई दिल्ली-एनसीआर समेत पंजाब के गैंगस्टर को होनी थी। इसके साथ ही पंजाब के दो अवैध हथियार तस्करों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 15 अवैध सेमी-ऑटोमेटिक पिस्टल, हथियारों की तस्करी में इस्तेमाल किए जाने वाले मोबाइल व सिम कार्ड बरामद किए गए हैं।



स्पेशल सेल अधिकारियों के अनुसार, सेल की नार्थन रेंज में तैनात एसीपी वेदप्रकाश की टीम स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए अवैध हथियार तस्करों पर नजर बनाए हुई थी। इस टीम को अवैध हथियार तस्करों के बारे में 6 अगस्त को सूचना मिली थी। सूचना के बाद एसीपी वेदप्रकाश की देखरेख में इंस्पेक्टर विवेकानंद पाठक व कुलदीप सिंह की टीम ने नजफगढ़ नहर रोड, केशोपुर दिल्ली के पास घेराबंदी की और गांव सरहाली खुर्द तरण-तारण, पंजाब निवासी गगनदीप सिंह (21) और गांव मैनी तरण-तारण निवासी आकाशदीप सिंह (22) को उस समय पकड़ लिया जब वह हथियारों की खेप पहुंचाने दिल्ली पहुंचे थे। ये हथियारों की खेप सेंधवा, मध्यप्रदेश के दीपक बरनाला और सोहन बरनाला से लेकर आए थे। इनके कब्जे से 15 सेमी-ऑटोमेटिक पिस्टल बरामद की गईं। 


गगनदीप ने बताया कि वह दो वर्षों से अवैध हथियारों की तस्करी कर रहा था। वह पंजाब में अवैध हथियार तस्कर विक्रमजीत सिंह के संपर्क में आया। ये विक्रमजीत सिंह के कहने पर अवैध हथियारों की तस्करी करने लगा। वह विक्रमजीत सिंह के कहने पर मध्यप्रदेश में दीपक बरनाला ओर सोहन बरनाला से अवैध हथियार लेकर आता था और दिल्ली व पंजाब के बदमाशों को सप्लाई करता था। करीब चार-पांच महीने पहले वह इंद्रसिंह डोगर के साथ दीपक व सोहन से पांच पिस्टल लेकर आया था। इंद्रसिंह डोगर को पंजाब पुलिस ने पकड़ लिया था। 
 

पांच पिस्टल दिल्ली में देनी थी
स्पेशल सेल डीसीपी रांजीव रंजन सिंह का कहना है कि गगनदीप ने पूछताछ में बताया कि वह विक्रमजीत सिंह के कहने पर हथियारों की ये खेप लेकर आया था। उसे पांच पिस्टल दिल्ली में रहने वाले फरदीन, पांच विक्रमजीत सिंह और पांच आकाशदीप सिंह के किसी जानकार को देनी थी। आकाशदीप सिंह ने बताया कि वह एक वर्ष से अवैध हथियारों की सप्लाई कर रहा था। वह गांव के ही गोरा सिंह के कहने पर गगनदीप के साथ हथियार लेने गया था। दीपक व सोहन अपने गांव के अवैध हथियार निर्माता से अवैध हथियार लेते हैं। दोनों आरोपियों ने बताया कि वह एक अवैध पिस्टल 12 से 15 हजार रुपये में लाते थे और आगे उसे 25 से 30 हजार रुपये में बेच देते थे। गगनदीप के पिता ट्रक ड्राइवर है। वह गरीबी के कारण अवैध हथियारों की तस्करी करने लगा था।  
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00