लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi NCR ›   Ghaziabad ›   Interstate gang member arrested for stealing jewelry as domestic help in Ghaziabad

गजब है: नौकरानी बनकर 100 से अधिक घरों में की चोरी, पैसों से दिल्ली में खरीदा शानदार फ्लैट

अमर उजाला ब्यूरो, गाजियाबाद Published by: गाजियाबाद ब्यूरो Updated Thu, 18 Aug 2022 01:51 AM IST
सार

पुलिस अधीक्षक द्वितीय ज्ञानेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि पूनम शाह निवासी शिवकुमारी पहाड़ थाना कहैल भागलपुर पिछले 8-9 साल से फ्लैटों में गहने व नकदी चोरी की घटनाएं कर रही थी। इसके गिरोह में दूसरी महिला बंटी और उसका पति गौतम शाह भी शामिल है।

आरोपी महिला पुलिस गिरफ्त में
आरोपी महिला पुलिस गिरफ्त में - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

इंदिरापुरम में घरेलू सहायिका बनकर फ्लैट में अलमारी से गहने और नकदी चोरी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह की सदस्य पूनम शाह उर्फ प्रीति उर्फ काजल को इंदिरापुरम पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वह अपनी दूसरी साथी बंटी और उसके पति गौतम शाह के साथ मिलकर चोरी करती थी। पुलिस ने पूछताछ के बाद दिल्ली, हरियाणा, गुड़गांव, यूपी और राजस्थान समेत अन्य राज्यों की चोरी की 100 घटनाओं का खुलासा किया है। उसके पास से पुलिस ने तीन लाख के गहने बरामद किए हैं।



पुलिस अधीक्षक द्वितीय ज्ञानेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि पूनम शाह निवासी शिवकुमारी पहाड़ थाना कहैल भागलपुर पिछले 8-9 साल से फ्लैटों में गहने व नकदी चोरी की घटनाएं कर रही थी। इसके गिरोह में दूसरी महिला बंटी और उसका पति गौतम शाह भी शामिल है।


तीनों लोग दिल्ली के एम ब्लॉक मोहन गार्डन उत्तम नगर में रहते हैं। 28 जुलाई को दोनों महिलाएं घरेलू सहायिका बनकर वैभवखंड में घूम रही थीं। इस बीच वह एटीएस सोसायटी पहुंची। वहां सुरक्षा गार्ड से बात करने के बाद दोनों विपुल गोयल के फ्लैट पर पहुंच गईं। वहां परिवारजनों से बात करने पर साफ-सफाई का काम शुरू कर दिया। इस बीच योजना के तहत बंटी ने परिवार की महिलाओं को रसोई में खाना बनाने के बहाने व्यस्त कर लिया जबकि विपुल और अन्य लोग दूसरे कमरे में बैठे थे।

तभी पूनम उर्फ प्रीति ने झाड़ू लगाने के दौरान कमरे में रखी अलमारी से लाखों के गहने साफ कर दिए। फिर मौका पाकर दोनों फ्लैट से भाग गईं। काफी देर तक विपुल और उनके परिवार को चोरी का आभास नहीं हुआ। शाम को उन्हें अलमारी से गहने गायब मिले तो चोरी का पता चला।

क्षेत्राधिकारी अभय कुमार मिश्र ने बताया कि चोरी के बाद दोनों महिलाएं ऑटो में बैठकर फरार हो गईं। दिल्ली में अपने फ्लैट पर पहुंचकर दोनों ने गहनों का बंटवारा कर लिया। इनमें से कुछ गहनों को दोनों ने कोलकाता में गुलशन ज्वैलर्स के पास सुनार को बेच दिया था। इससे पहले भी दोनों ने 2017 में इंदिरापुरम की गौर ग्रीन सोसायटी के फ्लैट में सफाई के दौरान गहने व नकदी चोरी की थी। अब उसकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने दो पीली धातु की चेन, पांच पीली धातु की अंगूठी, एक कानों का टॉप्स नग जड़ा हुआ, एक नग, एक सफेद धातु का गिलास व एक सिक्का सफेद धातु का बरामद किया है।

चोरी के पैसों से दिल्ली में फ्लैट खरीदा

सीओ ने बताया कि पूनम ने दिल्ली उत्तम नगर में 2017 में 70 गज का फ्लैट भी चोरी के गहनों को बेचकर मिली रकम से खरीदा है। इसमें उसके अलावा परिवार व गिरोह के अन्य लोग भी रहते हैं। पुलिस ने उस फ्लैट के कागजों को भी जमा कर लिया है। जिसकी कानूनी सलाह के बाद कुर्की (जब्ती) जैसी कार्रवाई भी होगी। थाना प्रभारी देवपाल सिंह पुंडीर ने बताया कि पूनम उर्फ प्रीति को खोड़ा थाने से 2020 में जेल भेजा गया था। पुलिस का मानना है कि गिरोह के अन्य सदस्य से भी लाखों के गहने बरामद करने में जल्द सफलता मिलेगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00