लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   Delhi: 100 low-floor CNG buses join the Transport Department CM Kejriwal leaves

दिल्ली: मुख्यमंत्री केजरीवाल ने 100 लो फ्लोर एसी सीएनजी बसों को दिखाई हरी झंडी, परिवहन बेड़े में सर्वाधिक 6900 बसें 

अमर उजाला, न्यूज डेस्क, नई दिल्ली Published by: अनुराग सक्सेना Updated Fri, 14 Jan 2022 05:03 PM IST
सार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दावा किया कि प्रदेश के परिवहन विभाग के बेड़े में जल्द ही और बसें शामिल की जाएंगीं।

दिल्ली परिवहन विभाग के बेड़े में शामिल नई बसें
दिल्ली परिवहन विभाग के बेड़े में शामिल नई बसें - फोटो : ट्विटर
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दिल्ली सरकार ने दिल्ली की परिवहन व्यवस्था को और सुदृढ़ करते हुए बेड़े में 100 नई लो फ्लोर एसी सीएनजी बसों को शामिल कर लिया है। राजघाट बस डिपो से शुक्रवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बसों को हरी झंडी दिखाई। दिल्ली में अब बसों की संख्या बढ़कर 6900 हो गई है जो अब तक की सर्वाधिक है।



उद्घाटन के मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सार्वजनिक परिवहन के तहत बेड़े में शामिल लो फ्लोर एसी बसें बाहरी दिल्ली के घुम्मनहेड़ा डिपो से दिल्ली के ग्रामीण क्षेत्रों में चलेंगी। अगले कुछ दिनों में बेड़े में सीएनजी और इलेक्ट्रिक बसें भी शामिल की जाएंगी। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इससे पहले अधिकतर बसें कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान ली गई थीं। उस वक्त दिल्ली के बस बेड़े में 6 हजार बसें थीं। बस परिवहन को सुदृढ़ करते हुए और बेहतर फ्रिक्वेंसी के साथ बसें मुहैया करने के लिए सरकार दृढ़ संकल्प हैं।


मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने क्लस्टर स्कीम के तहत 100 लो-फ़्लोर एसी सीएनजी बसों को दिल्ली की जनता को समर्पित किया। राजघाट बस डिपो पर आयोजित समारोह के दौरान मुख्यमंत्री ने फीता काटकर बसों को हरी झंडी दिखाई। मुख्यमंत्री ने परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के साथ बसों में उपलब्ध अत्याधुनिक सुविधाओं का जायजा लिया।

नौ रूट पर चलेंगी बसें

नई बसें दिल्ली के नौ रूट पर चलेंगी। 100 नई बसें बेड़े में शामिल होने से दिल्लीवासियों को आवागमन में सुविधाएं बढ़ेंगी। दिल्ली सरकार जल्द ही सीएनजी और इलेक्ट्रिक बसें आने वाले दिनों में सड़कों पर उतारने जा रही है। इससे दिल्ली की परिवहन व्यवस्था और मजबूत होगी।

ग्रामीण क्षेत्रों में यात्रियों को मिलेगी सुविधा: केजरीवाल

राजघाट बस डिपो से 100 लो-फ़्लोर एसी सीएनजी बसों को हरी झंडी दिखाने के बाद मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 100 लो-फ़्लोर एसी सीएनजी बसें अब यात्रियों की सेवा के लिए उपलब्ध हैं। घुम्मनहेड़ा में नया बस डिपो बनाया गया है। इसी डिपो से सभी बसें अधिकतर ग्रामीण क्षेत्र के रूटों पर चलेंगी।

सीएनजी और इलेक्ट्रिक बसें भी आएंगी: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बसों के पहुंचने का सिलसिला जारी है। अगले कुछ समय में सीएनजी बसें और दिल्ली परिवहन निगम की इलेक्ट्रिक बसें भी आने वाली हैं। बसों को पहुंचने में थोड़ा समय लगता है। यह रातों-रात नहीं हो पाता है। टेंडर समेत अन्य प्रक्रिया पूरी करने में दो-तीन साल का समय लग जाता है।

सीएम ने कहा कि जब हमारी सरकार बनी थी उस समय दिल्ली में बसों की काफी कमी थी। कई साल से बसों की खरीद नहीं हुई थी। हमारी सरकार आने के बाद बसों की खरीद प्रक्रिया शुरू हो गई है। इस प्रक्रिया को पूरा करने में समय लगा, लेकिन अब बसों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। दिल्ली सरकार यात्रियों को बेहतर परिवहन सुविधाएं मुहैया करने के लिए दृढ़ संकल्पित है। बसों की संख्या में बढ़ोतरी के साथ ही फ्रिक्वेंसी भी बेहतर होगी। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन के बेड़े में आज से 100 लो-फ़्लोर एसी सीएनजी बसें भी जुड़ गई हैं।

बेहतर कनेक्टिविटी के लिए सरकार लगातार प्रयासरत: गहलोत

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि सार्वजनिक परिवहन प्रणाली हमारी जीवन रेखा है। दिल्ली सरकार परिवहन व्यवस्था को मजबूत करने के लिए लगातार प्रयासरत है। इस साल दिल्ली परिवहन को बेहद मजबूत करने की हमारी योजना है। चाहे वह बस हो, मेट्रो या फिर बस डिपो का इंफ्रास्ट्रक्चर। दिल्ली में इलेक्ट्रिक बसों को सरकार शामिल करने जा रहे हैं। पहली इलेक्ट्रिक बस आ चुकी है दिल्ली की सड़कों पर चलने के लिए तैयार है। दिल्ली की बसें अब देश भर में सुरक्षित, सुलभ और सुविधाजनक ट्रांसपोर्ट सिस्टम का उदाहरण पेश कर रही हैं। सुरक्षित लास्ट माइल कनेक्टिविटी मुहैया करने के लिए पैरा ट्रांजिट सिस्टम का विस्तार किया जा रहा है।

मोबाइल चार्जिंग के साथ महिलाओं के लिए सीटें होंगी गुलाबी

एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम, दरवाजा खोलने वाला बजर,  सुरक्षा अलार्म, एयर सस्पेंशन सिस्टम, लो फ्लोर- स्वचालित गियर शिफ्टिंग, वातानुकूलित- यात्री सुरक्षा के लिए स्टॉप बटन- आपातकाल के लिए एसओएस बटन,  बस के अंदर पांच कैमरे जबकि बाहरी हिस्से में एक कैमरा होगा। मोबाइल चार्जिंग के लिए यूएसबी पोर्ट, महिलाओं के लिए विशिष्ट गुलाबी सीटें, जीपीएस युक्त, डिफॉगिंग सिस्टम और आपातकालीन निकास द्वार सहित तमाम अत्याधुनिक सुविधाएं हैं।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00