किल्लत: त्योहारों में दिल्ली से पूरब दिशा जाना मुश्किल, सभी ट्रेन की सीटें फुल, कई में वेटिंग तक मिलना मुमकिन नहीं

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Vikas Kumar Updated Thu, 21 Oct 2021 07:47 PM IST

सार

दीवाली और छठ के मद्देनजर इन दिनों पूरब दिशा की तरफ चलने वाली ट्रेनों में सभी आरक्षित बर्थ फुल हैं। हालात यह हैं कि स्लीपर ही नहीं बल्कि एसी कोट में भी यात्रियों को टिकट नहीं मिल पा रही हैं। 
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जाने के लिए सप्तक्रांति एक्सप्रेस में वातानुकूलित-1 समेत सभी श्रेणियों की आरक्षित सीटें एक नंबर के बाद फुल हैं। दिवाली से पहले शिवगंगा एक्सप्रेस से सीट आरक्षित करवाकर वाराणसी जाना संभव नहीं है। आनंद विहार-दीनदयाल उपाध्याय स्पेशल ट्रेन में वेटिंग टिकट मिलना भी मुश्किल है। बिहार संपर्क क्रांति ट्रेन फुल, स्लीपर क्लाब में 278 से भी अधिक वेटिंग है। आनंद विहार-पटना हमसफर एक्सप्रेस में वेटिंग टिकट तक नहीं मिल रहा है।
विज्ञापन


जी हां, दिवाली से पहले पूरब दिशा की तरफ त्योहारों के दौरान ट्रेन से यात्रा की सोच रहे हैं, तो फिर नियमित ट्रेनों से यात्रा करने की जिद छोड़ दें। नियमित ही नहीं, स्पेशल ट्रेन में भी आरक्षित बर्थ खाली नहीं है। वाराणसी, लखनऊ, कानपुर, गोरखपुर, पटना, मुजफ्फरपुर समेत इस दिशा में चलने वाली सभी ट्रेन फुल है। मुख्य ट्रेन की बात करें तो सत्याग्रह, पुरबिया, गोरखपुर फेस्टिवल, गोरखधाम, सप्तक्रांति, चंपारण सत्याग्रह, त्याग्रह, अवध-आसाम, वैशाली समेत सभी ट्रेन फुल है। इनमें सप्तक्रांति, आनंद विहार-दीनदयाल उपाध्याय, सप्तक्रांति समेत कई ट्रेन में तो वेटिंग टिकट तक जारी नहीं किया जा रहा है।


स्लीपर ही नहीं, एसी कोच में भी जगह नहीं
त्योहारों की वजह से स्लीपर कोच ही नहीं एसी कोच में भी आरक्षित बर्थ खाली नहीं है। वैशाली, निजामुद्दीन-देहरादून, शिवगंगा, संपर्क क्रांति, पूर्वा, गोरखपुर फेस्टिवल, दुरंतो, राजधानी समेत सभी ट्रेनें फुल है। एसी-3 में भी 100 से अधिक वेटिंग टिकट मिल रहा है। 

जनरल कोच नहीं चलने से भी है यात्रियों को हो रही परेशानी
कोविड की वजह से इनदिनों ट्रेन में अनारक्षित कोच तो चल रही है। लेकिन इन कोच में अनारक्षित टिकट लेकर यात्रा नहीं कर सकते। इन कोच में भी सफर करने के लिए सीटों को आरक्षित किया जा रहा है। लिहाजा अन्य साल की तरह वेटिंग टिकट पर यात्रा करने की अनुमति नहीं है। ऐसी कोच का आलम यह है कि सप्तक्रांति, बाबा बैद्यनाथ धाम हमसफर, आनंद विहार-दीनदयाल एक्सप्रेस ट्रेन में सीटिंग वेटिंग टिकट भी नहीं है। स्लीपर क्लास में वेटिंग टिकट मिल भी रहा है तो 100-300 तक वेटिंग मिल रहा है। ऐसे में इन ट्रेनों से भी यात्रा बेहद मुश्किल है। 

ट्रेन से पूर्वांचल की तरफ जाने के लिए जेब ढीली हो रही
ट्रेन से यात्रा करने वालों को इस बार जेब ढीली करनी पड़ रही है। कोविड की वजह से सभी नियमित ट्रेन तो स्पेशल बनकर चल ही रही है साथ ही पूजा स्पेशल भी स्पेशल बनकर चल रही है। ऐसे में सभी ट्रेन में टिकट की दर अधिक है। अगर जनरल कोच की बात करें तो इसमें भी अधिक यात्रा टिकट वसूला जा रहा है। कोविड के पहले 25 किलोमीटर के लिए जहां 10 रुपये खर्च करना पड़ता था तो अब 30 रुपये। 100 किलोमीटर के सफर के लिए जहां 25 रुपया का टिकट था वहीं अब 49 रुपया, 150 किलोमीटर के लिए 35 रुपये की जगह 64 रुपये बेसिक किराया देना होगा।

सेवाओं को तर्कसंगत बनाया गया है:रेलवे
कोविड-19 वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिए 23 मार्च 2020 से यात्री ट्रेन बंद है। स्वास्थ्य एडवाइजरी को ध्यान में रखते हुए सीमित ठहरावों वाली विशेष ट्रेन चल रही है। नया किराया ढ़ाचा शुरू नहीं किया गया है। भीड़भाड़ को नियंत्रण के लिए केवल सेवाओ को तर्कसंगत बनाया गया है। 
 

स्पेशल ट्रेन ही है अब सहारा

रेलवे पूजा स्पेशल ट्रेन चलाने की घोषणा तो की है। लेकिन ट्रेन की घोषणा के साथ ही सभी स्पेशल ट्रेन की सीट फुल है। हालांकि रेलवे ने यात्रियों की भीड़ को देखते हुए और अधिक स्पेशल ट्रेन चलाने की योजना तैयार की है। इसी कड़ी में रेलवे ने बांद्रा टर्मिनस-मऊ के बीच सप्ताहिक सुपरफास्ट पूजा स्पेशल ट्रेन चलाने की घोषणा की है। 

ट्रेन संख्या 09193 बांद्रा टर्मिनस-मऊ 26 अक्तूबर, 2, 9 व 16 नवंबर को चलेगी। वापसी दिशा में ट्रेन संख्या 09194 मऊ-बांद्रा 28 अक्तूबर, 4, 11 व 18 नवंबर को चलेगी। मार्ग में यह ट्रेप बोरीवली, वापी, 
सूरत, बडोदरा, रतलाम, कोटा जंक्शन, सवाईमाधोपुर, गंगापुर सिटी, हिंडौन सिटी, ब्याना, आगरा छावनी, शमशाबाद टाउन, इटावा, कानपुर, प्रयागराज जंक्शन, जंघई, मरीयाहू, जौनपुर और  औंरिहार स्टेशनों पर दोनों दिशाओं में ठहरेगी। इसी तरह नई दिल्ली से पटना के बीच भी स्पेशल ट्रेन चलाने की घोषणा की गई है। 

ट्रेन संख्या 01664 नई दिल्ली-पटना 23 अक्तूबर से 20 नवंबर तक प्रत्येक शनिवार, मंगलवार व बृहस्पतिवार को चलेगी। वापसी दिशा में ट्रेन संख्या 01663 पटना-नई दिल्ली 24 अक्तूबर से 21 नवंबर तक प्रत्येक रविवार, बुधवार और शुक्रवार को चलेगी। मार्ग में यह ट्रेन कानपुर सेंट्रल, प्रयागराज जंक्शन, पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन, बक्सर, आरा व दानापुर स्टेशनों पर दोनों दिशाओं में ठहरेगी।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00