लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Education ›   IIT Hyderabad and Central Sanskrit University launched Sanskrit language certificate programme

पहल : अब संस्कृत पढ़ाएगी यह आईआईटी, बस इतनी सी है फीस, कोई भी ले सकेगा दाखिला

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Published by: देवेश शर्मा Updated Thu, 29 Sep 2022 11:43 PM IST
सार

IITH CSU Sanskrit Education: संस्थान आईआईटीएच परिसर में एक बुनियादी संस्कृत पाठ्यक्रम की शुरुआत कर रहा है। इसमें सभी छात्र, संकाय, कर्मचारी, संकाय / कर्मचारियों का परिवार, और यहां तक कि आईआईटीएच के बाहर के लोगों को भी शामिल होने की अनुमति है।

IITH CSU Sanskrit Education
IITH CSU Sanskrit Education - फोटो : IITH
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

IITH CSU Sanskrit Education: भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) हैदराबाद ने केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय (CSU) नई दिल्ली के सहयोग से एक संस्कृत भाषा प्रमाण-पत्र कार्यक्रम शुरू किया है। प्रमाण-पत्र कार्यक्रम को प्रथम-दीक्षा कहा जाएगा। संस्थान आईआईटीएच परिसर में एक बुनियादी संस्कृत पाठ्यक्रम की शुरुआत कर रहा है। इसमें सभी छात्र, संकाय, कर्मचारी, संकाय / कर्मचारियों का परिवार, और यहां तक कि आईआईटीएच के बाहर के लोगों को भी शामिल होने की अनुमति है।



सीएसयू नई दिल्ली द्वारा प्रथम-दीक्षा और द्वितीय-दीक्षा के लिए एक शर्त होगी, जो कि डिप्लोमा कोर्स है। मीडिया को दिए गए आधिकारिक बयान के अनुसार, IIT हैदराबाद में सर्टिफिकेट कोर्स एक ग्रेडेड लर्निंग मेथड पर केंद्रित होगा। पाठ्यक्रम छात्रों को अपनी गति और शामिल होने का निर्णय लेने के लिए लचीलापन भी प्रदान करेगा। आईआईटी हैदराबाद के निदेशक प्रोफेसर बीएस मूर्ति के अनुसार यह कार्यक्रम अनौपचारिक संस्कृत शिक्षा केंद्र के तहत शुरू किया गया है। संस्कृत भाषा प्रमाण-पत्र कार्यक्रम शुरू करने की पहल, विरासत विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के तहत एक भारतीय ज्ञान प्रणाली स्थापित करने की दिशा में संस्थान के लक्ष्य को प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।

10 अक्तूबर को बंद हो जाएगी एडमिशन प्रक्रिया

प्रतिभागियों की संख्या की कोई सीमा नहीं है।
यह फॉर्म 10 अक्तूबर को बंद हो जाएगा।
कक्षाएं आईआईटी परिसर में संचालित की जाएंगी।
संस्कृत के सामान्य अध्ययन में रुचि रखने वाले छात्रों का भी इसमें शामिल होने का स्वागत है।
कृपया आगे के प्रश्नों के लिए नीचे दिए गए ई-मेल पर पहुंचें।
लगभग 3 मॉड्यूल होंगे, जिसके बाद एचएसटी विभाग द्वारा एक प्रमाण- पत्र दिया जाएगा।
पाठ्यक्रम के अंत में, सीएसयू द्वारा एक प्रमाण- पत्र दिया जाएगा।

देवनागरी पढ़ना/लिखना जानने की भी आवश्यकता नहीं

इस कोर्स के लिए कोई पूर्व निर्धारित शर्त नहीं है। कुलसचिव के अ देवनागरी पढ़ना/लिखना जानने की भी आवश्यकता नहीं है, और इस पाठ्यक्रम का समय छात्रों की सुविधा के अनुसार तय किया जाएगा। पूरे कोर्स की फीस मामूली ₹1000/- है। इसमें पाठ्यपुस्तक और कार्य पुस्तिका जैसी अध्ययन सामग्री भी शामिल होगी जो प्रदान की जाएगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00