लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Education ›   Indian students studying in China should be ready to return in their Colleges Read Important Notice

Medical Education: चीन से पढ़ाई कर रहे भारतीय छात्र हो जाएं तैयार, वापसी को लेकर आई जरूरी सूचना

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Published by: देवेश शर्मा Updated Tue, 09 Aug 2022 08:40 PM IST
सार

China Agrees to take back Indian Students: भारत और चीन के बीच दो साल पहले कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के बाद से वीजा प्रतिबंधों के कारण ही उड़ान सेवा निलंबित है। चीनी अधिकारियों का कहना है कि दोनों देश सीमित उड़ानें बहाल करने के लिए बातचीत कर रहे हैं।

स्वदेश लौटे भारतीय छात्र
स्वदेश लौटे भारतीय छात्र - फोटो : ANI- File photo
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

चीन ने मंगलवार को कहा कि उसने अपने यहां से वैश्विक संक्रामक महामारी कोविड-19 के कारण घर लौट कर देश में फंसे भारतीय छात्रों की वापसी की प्रक्रिया शुरू कर दी है। विदेशी छात्रों का पहला बैच जल्द ही चीन लौट सकता है। चीन के इस बयान से हजारों भारतीय छात्रों के लिए चीन में स्थित अपने कॉलेजों में फिर से शामिल होने की उम्मीद जगी है।


भारत और चीन के बीच दो साल पहले कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के बाद से वीजा प्रतिबंधों के कारण ही उड़ान सेवा निलंबित है। चीनी अधिकारियों का कहना है कि दोनों देश सीमित उड़ानें बहाल करने के लिए बातचीत कर रहे हैं।

जल्द भारतीय छात्रों के पहले बैच की वापसी देखेंगे 

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा कि हम चीन में विदेशी छात्रों की वापसी के लिए तत्परता से काम कर रहे हैं और भारतीय छात्रों की वापसी के लिए यह प्रक्रिया शुरू हो गई है। सभी विदेशी छात्रों के लिए जल्द ही वापसी शुरू हो रही है। वांग ने कहा, हमें विश्वास है कि हम बहुत जल्द भारतीय छात्रों के पहले बैच की वापसी देखेंगे और हम कोविड-19 के खिलाफ सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए इसे जारी रखेंगे। 

 

चीन में 23,000 से अधिक भारतीय छात्र पंजीकृत

हालांकि, यह पूछे जाने पर कि लौटने के इच्छुक भारतीय छात्रों के बारे में यहां भारतीय दूतावास द्वारा उपलब्ध कराई गई सूची की प्रक्रिया किस चरण में है, उन्होंने कहा कि संबंधित जानकारी जल्द ही जारी की जाएगी। चीन वर्तमान में अपने कॉलेजों में फिर से शामिल होने के लिए देश लौटने के इच्छुक सैकड़ों भारतीय छात्रों की सूची को संसाधित कर रहा है। 23,000 से अधिक भारतीय छात्र चीन में पंजीकृत हैं। इनमें से ज्यादातर मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं। जो कि कथित तौर पर कोविड-19 महामारी के कारण लागू वीजा प्रतिबंधों की वजह से घर पर फंसे हुए हैं। 

 

सीमित उड़ानें बहाल करने के लिए बातचीत जारी

चीन द्वारा अपने यहां पढ़ाई के लिए तुरंत लौटने के इच्छुक लोगों के नाम मांगे जाने के बाद भारत ने सैकड़ों छात्रों की सूची प्रस्तुत की है। हाल के हफ्तों में श्रीलंका, पाकिस्तान, रूस और कई अन्य देशों के कुछ छात्र भी चार्टर्ड उड़ानों से पहुंचे है। चीन भी विभिन्न देशों से उड़ानों की अनुमति दे रहा है, लेकिन अभी तक दोनों देशों के बीच उड़ान सेवा  बहाल करने का काम नहीं किया गया है। इसके लिए बातचीत जारी है। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00