RGIPT COSMOSx-2021: कॉस्मोसएक्स कीनोट सेशन में नासा इंजीनियर गैब्रिएल ने एलियंस और एरिया 51 के बारे में कही ये बड़ी बातें, पढ़िए खास खबर

Devesh Sharma देवेश शर्मा
Updated Fri, 22 Oct 2021 11:19 PM IST

सार

RGIPT ACM SC COSMOSx-2021: गैब्रिएल ने अपने कीनोट सेशन में अपने शुरुआती दिनों से लेकर वर्तमान तक की यात्रा के प्रमुख पड़ावों को साझा करते हुए अपने महत्वपूर्ण अंतरिक्ष कार्यक्रमों की लॉन्चिंग के दौरान का रोमांचकारी अनुभव भी बताया। 
गाबे गैब्रिएल, नासा स्पेस इंजीनियर
गाबे गैब्रिएल, नासा स्पेस इंजीनियर - फोटो : RGIPT
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

राजीव गांधी पेट्रोलियम प्रौद्योगिकी संस्थान (RGIPT), अमेठी - कंप्यूटिंग मशीनरी एसोसिएशन (एसीएम), एससी कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग का विभागीय उत्सव "COSMOSx-2021" के पहले कीनोट सेशन को नासा कैनेडी स्पेस सेंटर में सीनियर इंजीनियर गाबे गैब्रिएल ने संबोधित किया। गैब्रिएल ने अपने कीनोट सेशन में अपने शुरुआती दिनों से लेकर वर्तमान तक की यात्रा के प्रमुख पड़ावों को साझा करते हुए अपने महत्वपूर्ण अंतरिक्ष कार्यक्रमों की लॉन्चिंग के दौरान का रोमांचकारी अनुभव भी बताया। इसके बाद, उन्होंने स्पेस, मार्स और फ्यूचर को लेकर अपने प्रजेंटेशन में कैनेडी स्पेस सेंटर की ओर से संचालित की जा रही प्रमुख कार्य योजनाओं पर प्रकाश डाला। गैब्रिएल नासा से पहले यूएस एयरफोर्स के स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। 
विज्ञापन


सफलता का मूल मंत्र भी बताया
सत्र को संबोधित करते हुए गैब्रिएल ने युवाओं को सफलता के लिए मेहनत करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सफलता का एक ही मंत्र है, मेहनत और सिर्फ मेहनत। जितनी कठिन मेहनत करेंगे और उतनी ही बड़ी सफलता पाएंगे। उन्होंने कहा कि काम चाहे कुछ भी करो, लेकिन अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता से करो। तनाव न लें और खुद पर विश्वास रखें।एक्रागता से की गई मेहनत ही आपको सफलता के करीब लेकर जाती है। 


गैब्रिएल ने युवाओं से समझाया कि विफलता की आशंका से कभी घबराना नहीं चाहिए। विफलता ही सफलता की कुंजी है। कई बार अंतरिक्ष कार्यक्रमों में लगातार विफलता मिलती है, लेकिन जिस दिन आप सफल होते, वैश्विक इतिहास रच जाता है। उन्होंने अपनी पारिवारिक स्थिति और अपनी जुड़वां बहनों से जुड़ा किस्सा भी साझा किया तो भारत और भारतीयें को लेकर अपने विशेष लगाव की बात भी बताई।
 
लॉन्च पैड और इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन की कार्यप्रणाली समझाई

COSMOSx-2021
COSMOSx-2021 - फोटो : RGIPT
गैब्रिएल ने लॉन्च पैड के तनाव वाले क्षणों के बारे में भी बात और सफलता पूर्वक प्रक्षेपण के बाद के जादुई अनुभवों को भी उजागर किया। उन्होंने लॉन्चिंग के दौरान के कई वीडियो भी साझा किए। उन्होंने कहा कि आप लॉन्च पैड पर हैं और 1 मिनट 32 सेकंड बाद आप अंतरिक्ष में होंगे। यह अकल्पनीय अनुभव है। इसका रोमांच ही अलग है। स्पेस मिशन के लिए भविष्य में अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने मून मिशन और महिला स्पेस इंजीनियर्स और एस्ट्रोनॉट्स को लेकर भी बात की। गैब्रिएल ने सूर्याेदय और सूर्यास्त को लेकर जिज्ञासाओं का भी समाधान किया और मौसमी परिस्थितियों में लॉन्चिंग कंडीशंस पर भी बातचीत की। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र यानी आईएसएस के बारे में भी अनसुनी जानकारियां साझा कीं। उन्होंने अपने प्रजंटेशन में इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के अलग-अलग हिस्सों की कार्यप्रणालियों के बारे में भी बताया। 

भविष्य में मंगल मिशन और तेज होंगे

फ्यूचर स्पेस मिशन के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि कई वैज्ञानिकों की मान्यता है कि मार्स पर भी धरती जीवन की संभावनाएं हाे सकती हैं। वहां पानी की उपलब्धता होने के शुरुआती संकेत मिल रहे हैं। धरती के बाद चंद्रमा और मंगल ग्रह पर जीवन की संभावनाएं लगातार तलाशी जा रही हैं। इसलिए, मार्स मिशन शुरू किया गया है। भविष्य में मार्स मिशन में और तेजी आएगी। इस मामले में भारत ने अच्छी सफलता पाई है। मार्स मिशन काफी सक्सेसफुल रहा है। 

एरिया 51 क्या है? 

COSMOSx-2021,
COSMOSx-2021, - फोटो : RGIPT
एरिया 51 से जुड़े एक सवाल के जवाब में गैब्रिएल ने कहा कि कई लोग कहते हैं कि एरिया 51 में कई एलियंस से हैं जो सैकड़ों वर्षों में पकड़े गए हैं और उस क्षेत्र में रखे गए हैं। लेकिन वास्तविकता में ऐसा कुछ नहीं है। हमने कई वर्षों तक रिसर्च किया है, लेकिन यह सब काल्पनिक बातें हैं। अभी तक एलियंस के अस्तित्व को लेकर कोई सच्चाई या उनकी मौजूदगी की जानकारी नहीं है। 

मंगल पर जीवन के लिए क्या चुनौतियां हैं?

मंगल ग्रह पर कॉलोनियां बनाने की तैयारियों और वहां जीवन की उपलब्धता से जुड़े सवाल के जवाब में नासा इंजीनियर गाबे गैब्रिएल ने कहा कि वहां अभी कई बड़ी चुनौतियां हैं। पहले पानी का उपलब्धता, वहां उपलब्ध गैसों का मानव जीवन पर क्या दुष्प्रभाव और असर पड़ सकता है। वहां किस प्रकार की रेडिएशन हैं और क्या अन्य चुनौतियां होंगी, इनको लेकर अभी गहन शोध जारी हैं। 

यह भी पढ़ें : RGIPT COSMOSx-2021: आरजीआईपीटी के टेक्नोलॉजी फेस्टिवल कॉस्मोसएक्स का शानदार आगाज, नासा इंजीनियर और खगोलशास्त्रियों ने किया संबोधित
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00