लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Gorakhpur ›   Deoria Trilokinath Tripathi Company Private Limited will build solid waste management plant in Gorakhpur

गोरखपुर: देवरिया की ये खास कंपनी बनाएगी सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट, 28.40 करोड़ की लागत से होगा निर्माण

अमर उजाला ब्यूरो, गोरखपुर। Published by: vivek shukla Updated Sun, 09 Jan 2022 12:06 PM IST
सार

प्लांट बनाने की जिम्मेदारी सीएंडडीएस को मिली है। प्लांट के निर्माण के बाद न सिर्फ शहर साफ सुथरा नजर आने लगेगा, बल्कि शहरवासियों को कूड़े की समस्या से काफी हद तक निजात मिल जाएगी।

सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट बनाने का काम शुरू।
सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट बनाने का काम शुरू। - फोटो : अमर उजाला।
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

देवरिया की त्रिलोकीनाथ त्रिपाठी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड गोरखपुर जिले का सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट बनाएगी। शासन स्तर से जारी टेंडर हासिल करने के बाद कंपनी ने शनिवार से काम शुरू कर दिया है। करीब 28.40 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले प्लांट को बनवाने की जिम्मेदारी कंस्ट्रक्शन एंड डिजाइन सर्विसेज (सीएंडडीएस) को मिली है। प्लांट के निर्माण के बाद न सिर्फ शहर साफ सुथरा नजर आने लगेगा, बल्कि शहरवासियों को कूड़े की समस्या से काफी हद तक निजात मिल जाएगी।



शासन की ओर से जारी टेंडर के अनुसार कार्यदायी संस्था को एक साल के भीतर प्लांट का निर्माण पूरा कर देना है। टेंडर के अनुसार इस सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट की क्षमता प्रतिदिन 500 मीट्रिक टन होगी। वहीं, इसके निर्माण कार्य में कुल 284016 लाख (28.4016 करोड़) का खर्च आएगा। प्लांट में प्रोसेसिंग एरिया, कंपोस्टिक एरिया, प्यूरिंग एरिया और शौचालय आदि का निर्माण कराया जाएगा। इसके लिए नगर निगम ने सहजनवां के सुथनी गांव में 20 एकड़ जमीन की खरीद की प्रक्रिया पूरी कर ली है।

 

500 मीट्रिक टन क्षमता का है प्लांट

सुथनी गांव में बनने वाले जिले के सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट की क्षमता 500 मीट्रिक टन की है। हालांकि नगर निगम हाल में शहर से निकलने वाले कूड़े का वजन कराया था। इस दौरान करीब 350 मीट्रिक टन कूड़ा निकला था। वहीं, शहर में जुड़ने वाले 32 गांवों में भी कूड़ा उठान के बाद यह मात्रा 450 मीट्रिक टन हो सकती है।

 
शहर से निकलने वाले कूड़े से बनेगी खाद

शहर से निकलने वाले कूड़े से सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट में खाद बनाई जाएगी। हालांकि, पहले योजना कूड़े से बिजली बनाने की थी, लेकिन शासन स्तर से इस प्रोजेक्ट में बदलाव कर दिया गया है।

सीएंडडीएस के अवर अभियंता ओपी सिंह ने बताया कि देवरिया की त्रिलोकीनाथ त्रिपाठी नामक कंपनी को सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट बनाने की जिम्मेदारी मिली है। इस प्लांट की क्षमता 500 टन प्रति दिन खाद बनाने की है। शनिवार से कंपनी ने काम शुरू कर दिया है। एक साल में कंपनी प्लांट बनाकर तैयार कर देगी। 6 जनवरी 2023 को प्लांट काम करना शुरू कर देगा।

अगले साल से शहर में नहीं दिखेगा कूड़ा

अगले साल से शहर में कूड़ा कचरा दिखाई नहीं देगा। सुथनी में बनने वाला सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट छह जनवरी 2023 में तैयार हो जाएगा। प्लांट में कूड़े से खाद बनाई जाएगी। शहर से निकलने वाले कूड़े के निस्तारण के लिए पिछले करीब डेढ़ दशक से कवायद चल रही है। 2008 में नगर निगम कार्यकारिणी और बोर्ड ने कूड़े के निस्तारण के लिए सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट को मंजूरी दी है। उस समय कूड़े से खाद बनाने के लिए शासन स्तर से टेंडर के माध्यम से कंपनी फाइनल की गई थी, लेकिन विभिन्न विवादों के बाद योजना अधर में लटकी रह गई। कार्यदायी कंपनी सीएंडडीएस का करोड़ों रुपये लेकर भाग गई।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00