Hindi News ›   Haryana ›   Karnal ›   Attractive Skills for Creating Covid.com Website Receives National Child Award

कोविड डॉट कॉम वेबसाइट बनाने पर आकर्ष कौशल को मिला राष्ट्रीय बाल पुरस्कार

Amar Ujala Bureau अमर उजाला ब्यूरो
Updated Tue, 25 Jan 2022 02:27 AM IST
Attractive Skills for Creating Covid.com Website Receives National Child Award
विज्ञापन
ख़बर सुनें
माई सिटी रिपोर्टर
विज्ञापन

करनाल। कर्ण नगरी के बेटे आकर्ष कौशल को राष्ट्रीय बाल पुरस्कार मिला है। वर्चुअल तरीके से आयोजित हुए कार्यक्रम में उन्हें यह पुरस्कार प्रधानमंत्री मोदी ने सौंपा। कोरोना की पहली लहर में लोगों को घर बैठे कोरोना जांच की रिपोर्ट मिल सके इसके लिए करनाल के बेटे आकर्ष कौशल ने कोविड डॉट कॉम वेबसाइट बनाई थी। बाद में यह परियोजना अन्य जिलों में भी विस्तारित हुआ। इसी उल्लेखनीय कार्य के लिए उन्हें यह विशेष पुरस्कार मिला है। पुरस्कार में पदक, एक लाख रुपये नकद और प्रशस्ति पत्र मिला।
2018 में प्रधानमंत्री की ओर से यह विशेष पुरस्कार शुरू किया गया था। जिसमें नवाचार, शैक्षिक, खेल, कला संस्कृति, समाज सेवा और बहादुरी जैसी छह श्रेणी में 5 से 18 वर्ष की आयु के असाधारण क्षमताओं और उत्कृष्ट उपलब्धियों वाले बच्चों को सरकार की ओर से दिया जाता है। करनाल में पहली बार आकर्ष कौशल ने यह पुरस्कार प्राप्त किया है। इसके लिए केंद्रीय महिला एवं बाल बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी और उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बधाई दी।

सोमवार को केंद्रीय महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से वर्चुअल कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जिसमें प्रधानमंत्री ने देश के 29 बच्चों को राष्ट्रीय बाल पुरस्कार देकर सम्मानित किया। लघु सचिवालय के सभागार से आकर्ष कौशल कार्यक्रम में जुड़े। इस दौरान उनके साथ उपायुक्त, पिता डॉ. गगन कौशल व माता आरती कौशल मौजूद रहे।
बेडों की कमी में भी काम आई वेबसाइट
आकर्ष कौशल की ओर से तैयार की गई वेबसाइट के जरिये कोविड का टेस्ट करवाने वालों को रिपोर्ट स्वयं डाउनलोड करना सुलभ हुआ। इसी प्रकार कोविड के दौरान बैड की कमी आ गई थी, इस दौरान आकर्ष ने एक कोविड बिस्तर उपलब्धता डैश बोर्ड बनाया और साथ ही करनाल में होम आइसोलेटेड रोगियों पर नजर रखने के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफार्म भी तैयार किया। जिससे कई लोगों की जान बचाने में मदद मिली।
माता-पिता बोले, बेटे की उपलब्धि पर गर्व
आकर्ष का कहना है कि वह कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में अपना व्यवसाय स्थापित करना चाहता है। ताकि समाज में सकारात्मक प्रभाव पैदा हो। पिता गगन कौशन और माता आरती कौशल को अपने बेटे की उपलब्धि पर गर्व है। बेटा वास्तविक दुनिया की समस्याओं को हल करने, समुदायों की मदद के साथ-साथ जनता की भलाई में योगदान दिया जा सके।
नकारात्मक चीज का खुद पर न पड़ने दें प्रभाव : प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि छोटी उम्र में बड़े काम करना अपने आप में उत्कृष्ट उपलब्धि है और यह पूरे समाज व देश के लिए प्रेरक है। उन्होंने सभी पुरस्कार पाने वाले बच्चों को बधाई दी और कहा कि वह सभी देश को कैसे लाभ पहुंचाया जा सकता है, इस सोच के साथ आगे बढ़ते रहे। किसी भी नकारात्मक चीज का प्रभाव खुद पर न आने दें।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00