लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Haryana ›   Sonipat ›   20 years imprisonment to guilty of raping teenager in Sonipat of Haryana

Sonipat: किशोरी से दुष्कर्म करने के दोषी को 20 साल की कैद, 80 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया

संवाद न्यूज एजेंसी, सोनीपत (हरियाणा) Published by: भूपेंद्र सिंह Updated Wed, 10 Aug 2022 10:02 PM IST
सार

दोषी पर अदालत ने 80 हजार रुपये जुर्माना किया है। वहीं 50 हजार पीड़िता को देने के आदेश हैं। मुरथल थाना पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया था। जुर्माना न देने पर पौने दो साल कठोर कारावास की सजा भुगतनी होगी।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

हरियाणा के सोनीपत में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुरुचि अतरेजा सिंह की अदालत ने एक किशोरी को बहकाकर ले जाने के बाद दुष्कर्म करने के आरोपी को दोषी करार दिया है। अदालत ने दोषी को 20 साल कैद और 80 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना न देने पर पौने दो साल कठोर कारावास की सजा भुगतनी होगी।



मूलरूप से यूपी के बरेली क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति ने 19 मार्च 2021 को मुरथल थाना पुलिस को बताया था कि वह मुरथल क्षेत्र के गांव में परिवार सहित किराए पर रहते हैं। उसने बताया था कि उसकी 16 साल की बेटी 17 मार्च 2021 को संदिग्ध अवस्था में लापता हो गई। शक जताया था कि बेटी का अपहरण किया गया है। पुलिस ने अपहरण व 84 जुवेनाइल जस्टिस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया था।


मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने लड़की को गाजियाबाद से बरामद कर लिया था। उसने पुलिस को बताया था कि यूपी के इलाहाबाद (प्रयागराज) का रोहित उसे बहकाकर ले आया था। उसने उसके साथ दुष्कर्म किया था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म व 4 पॉक्सो एक्ट की धाराएं भी जोड़ दी थीं। मामले में इंस्पेक्टर सुदेश की टीम ने कार्रवाई करते हुए रोहित को 8 अप्रैल 2021 को सोनीपत से गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश किया था, जहां उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।
 
मामले की सुनवाई करते हुए एएसजे सुरुचि अतरेजा सिंह की अदालत ने आरोपी को दोषी करार दिया। अदालत ने दोषी को 6 पॉक्सो एक्ट में 20 साल कैद व 50 हजार रुपये जुर्माना, भादंसं की धारा 363 में पांच साल कैद व 10 हजार रुपये जुर्माना, 366 में पांच साल की कैद व 10 हजार रुपये जुर्माना तथा 84 जुवेनाइल जस्टिस एक्ट में पांच साल कैद और 10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई। सभी सजा एक साथ चलेगी। जुर्माना राशि में से 50 हजार रुपये पीड़िता को देने के आदेश दिए हैं। जुर्माना न देने पर पौने दो साल कठोर कारावास की सजा भुगतनी होगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00