लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Alliance with Shiv Sena not natural and permanent says Congress Maha chief Nana Patole

Maharashtra: विपक्ष के नेता पर कांग्रेस-उद्धव ठाकरे गुट की शिवसेना में ठनी, भाजपा ने संगठन में किए बड़े फेरबदल

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मुंबई Published by: निर्मल कांत Updated Fri, 12 Aug 2022 04:26 PM IST
सार

नाना पटोले ने आगे कहा, "हम बात करने और आगे बढ़ने के लिए तैयार है। अगर वे बात नहीं करना चाहते हैं तो यह उनकी (शिवसेना) चिंता है। हमने उनके साथ एक अलग स्थिति में गठबंधन किया था। यह हमारा प्राकृतिक या स्थायी गठबंधन नहीं है।"

महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले
महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले - फोटो : ANI
ख़बर सुनें

विस्तार

महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने शुक्रवार को राज्य विधान परिषद में विपक्ष के नेता के रूप में शिवसेना नेता अंबादास दानवे की नियुक्ति पर नाराजगी जताई। पटोले ने कहा कि शिवसेना के साथ गठबंधन 'स्वभाविक और स्थायी' नहीं है। उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि गठबंधन अलग परिस्थिति में किया गया था।  


बता दें कि शिवसेना ने हाल ही में दानवे को विधान परिषद में विपक्ष के नेता के रूप में चुना है। इस कदम ने उनके सहयोगियों को नाराज कर दिया है। पटोले ने आरोप लगाया कि कांग्रेस को साथ लिए बिना यह कदम उठाया गया। 


कांग्रेस को मिलना चाहिए था विपक्ष के नेता का पद : पटोले
उन्होंने कहा, "विधानपरिषद में विपक्ष के नेता का पद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) को दिया गया है जबकि परिषद के उपाध्यक्ष का पद शिवसेना का दिया गया है। हमारा विचार था कि यह पद कांग्रेस को मिलना चाहिए था। लेकिन हमें ध्यान में रखे बिना यह निर्णय लिया गया है। हम इस मुद्दे को उठाएंगे। पटोले ने कहा कि कांग्रेस इस मामले में शिवसेना से बात करने को तैयार है।"
  
पटोले ने आगे कहा, "हम बात करने और आगे बढ़ने के लिए तैयार हैं। अगर वे बात नहीं करना चाहते हैं तो यह उनकी (शिवसेना) चिंता है। हमने उनके साथ एक अलग स्थिति में गठबंधन किया था। यह हमारा प्राकृतिक या स्थायी गठबंधन नहीं है।"
 
शिंदे-फडणवीस सरकार पर भी साधा निशाना
कांग्रेस के राज्य प्रमुख ने महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली नई सरकार पर भी निशाना साधा और आरोप लगाया कि यह 'केंद्रीय एजेंसियों और धन का उपयोग' करके बनाई गई थी। उन्होंने दावा किया कि सरकार लंबे समय तक नहीं चलेगी। पटोले ने कहा कि सरकार बनने के 39 दिन बाद मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ। महाराष्ट्र में एक परंपरा है कि विभागों को तुरंत आवंटित किया जाता है। लेकिन अब उन पर फैसला होना बाकी है जो दर्शाता है मंत्रालयों के लिए लड़ाई है। 

भाजपा ने किया संगठन में बड़ा फेरबदल
महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद भाजपा ने राज्य के संगठन में बदलाव के जरिये मराठा-पिछड़ा कार्ड का इस्तेमाल किया है। पार्टी नेतृत्व ने शुक्रवार को पिछड़ा वर्ग के चंद्रशेखर बावनकुले को प्रदेश अध्यक्ष तो आशीष शेलार को मुंबई महानगर इकाई का अध्यक्ष नियुक्त किया है। शिंदे सरकार के हालिया विस्तार में प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल और मुंबई इकाई के अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा को मंत्री बनाया गया है।

खासतौर से शेलार की नियुक्ति को अगले महीने होने वाले बीएमसी चुनाव से जोड़ कर देखा जा रहा है। बीएमसी शिवसेना की मुख्य ताकत है, जहां पार्टी बीते करीब दो दशक से जमी हुई है। शेलार सात साल तक मुंबई के अध्यक्ष रह चुके हैं। बीते बीएमसी चुनाव में उनके अध्यक्ष रहते ही भाजपा की सीटों की संख्या 33 से 83 हो गई थी।  

गडकरी के करीबी हैं बावनकुले
नए अध्यक्ष बावनकुले पिछड़ा वर्ग के बड़े नेता होने के साथ ही केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के करीबी हैं। गोपीनाथ मुंडे के असमय निधन के बाद राज्य में पार्टी के पास पिछड़ा वर्ग का कोई बड़ा नेता नहीं है। भाजपा अब मुंडे परिवार से इतर पिछडे़ वर्ग का नया नेता खड़ा करना चाहती है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00