लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Devendra Fadnavis was in the loop, took Maharashtra Deputy CM post to honour PM Narendra Modi

Maharashtra: किसी भी बात से अनजान नहीं थे फडणवीस, पीएम मोदी के कॉल के बाद ली थी डिप्टी सीएम पद की शपथ

एएनआई, मुंबई Published by: संजीव कुमार झा Updated Sat, 02 Jul 2022 01:21 PM IST
सार

फडणवीस महाराष्ट्र में जिस तरह से तेज-तर्रार राजनीति कर रहे हैं उससे केंद्रीय नेतृत्व का भरोसा उनके ऊपर और बढ़ गया है। कई राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है कि फडणवीस आने वाले समय में बड़े केंद्रीय नेता के रूप में उभर सकते हैं।

Devendra Fadanvis
Devendra Fadanvis - फोटो : Social media
ख़बर सुनें

विस्तार

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी घटनाक्रम से जुड़े रहस्य से अब पर्दा उठने लगा है। समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से महाराष्ट्र में गठित हुई नई सरकार से जुड़ी बड़ी जानकारी दी है। सूत्रों ने बताया है कि महाराष्ट्र में जिस रणनीति पर काम हुआ उसकी पल-पल की जानकारी भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस को दी जा रही थी। इतना ही नहीं केंद्रीय नेतृत्व ने 90 फीसदी फैसले फडणवीस पर ही छोड़ दिया था। इसलिए फडणवीस महाराष्ट्र में बीते 15 दिनों से चल रही पल-पल की गतिविधियों पर नजर रख रहे थे और फूंक-फूंक कर कदम रख रहे थे। सूत्रों ने बताया कि फडणवीस सरकार से बाहर रहकर शिंदे सरकार के समर्थन देना चाहते थे लेकिन पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के आह्वान का सम्मान करने के लिए उन्होंने महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री का पद स्वीकार किया था। सूत्रों ने आगे कहा कि केंद्रीय नेतृत्व द्वारा शिंदे को मुख्यमंत्री बनाने की घोषणा करने के बाद फडणवीस को अपने फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए कहा गया था।



फडणवीस ने पीएम मोदी के कॉल के बाद ली थी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ
सूत्रों के अनुसार देवेंद्र फडणवीस किसी तरह का पद लेना नहीं चाहते थे लेकिन अंतिम समय में पीएम मोदी का दो बार कॉल आया और वे टाल नहीं सके। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के आह्वान का सम्मान करने के लिए उन्होंने महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री का पद स्वीकार किया था। साथ ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ-साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्विटर पर फडणवीस से अपील की थी।


केंद्रीय नेतृत्व को भी पता नहीं था कि फडणवीस सीएम नहीं बनेंगे
पार्टी के एक शीर्ष नेता ने समचार एजेंसी एएनआई को बताया कि फडणवीस को कोई निर्देश नहीं दिया गया था और किसी को भी नहीं पता था कि वह सरकार का हिस्सा नहीं होंगे। फडणवीस के अचानक लिए गए फैसले से केंद्रीय नेतृत्व के साथ-साथ खुद शिंदे भी चौंक गए थे।

फडणवीस ने वफादार पार्टी कैडर की भूमिका निभाई: सूत्र 
सूत्रों ने कहा कि फडणवीस एक शीर्ष प्रशासक और एक ईमानदार नेता रहे हैं, इसलिए केंद्रीय नेतृत्व को जब पता चला कि उन्होंने एक आश्चर्यजनक घोषणा की है, उन्हें कुछ घंटों के भीतर अपने फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए कहा गया था। पार्टी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने एएनआई को बताया कि देवेंद्र एक वफादार पार्टी कैडर रहे हैं, जो रैंकों से ऊपर उठे हैं और इसलिए वह सिस्टम में अनुशासन को समझते हैं। सूत्रों ने भी फडणवीस की प्रशंसा की और कहा कि यह नेता के रूप में उनके नेतृत्व का कारण था। फडणवीस के कारण महाराष्ट्र विधानसभा में पार्टी हाल ही में तीसरी राज्यसभा सीट जीतने में सफल रही और राज्य में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना सरकार के खिलाफ बड़े पैमाने पर तख्तापलट भी किया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00