लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Highway construction slows to 20.43 km per day during Apr July MoRTH

National Highway: कोरोना और मानसून से धीमी हुई NH निर्माण की रफ्तार, अब देशभर में रोज 20 किमी सड़क ही बन रही

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: निर्मल कांत Updated Fri, 12 Aug 2022 04:16 PM IST
सार

देश में राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण की गति 2020-21 में रिकॉर्ड 37 किलोमीटर प्रतिदिन को छू गई थी, लेकिन कोविड-19 महामारी और देश के कुछ हिस्सों में सामान्य से अधिक मानसून के कारण व्यवधान होने से 2021-2022 में यह एक दिन में 28.64 किलोमीटर तक धीमी हो गई। 

बाड़मेर एनएच (सांकेतिक तस्वीर)
बाड़मेर एनएच (सांकेतिक तस्वीर) - फोटो : ANI
ख़बर सुनें

विस्तार

चालू वित्त वर्ष के पहले चार महीनों के दौरान देश में राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) निर्माण की गति धीमी होकर 20.43 किलोमीटर प्रतिदिन हो गई है। आधिकारिक आंकड़ों में यह जानकारी दी गई। 


पहले प्रतिदिन 37 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग का हो रहा था निर्माण
देश में राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण की गति 2020-21 में रिकॉर्ड 37 किलोमीटर प्रतिदिन को छू गई थी, लेकिन कोविड-19 महामारी और देश के कुछ हिस्सों में सामान्य से अधिक मानसून के कारण व्यवधान होने से 2021-2022 में यह एक दिन में 28.64 किलोमीटर तक धीमी हो गई। 

 
2022-23 में जुलाई तक 2,493 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण
सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने जुलाई 2022 के लिए अपने मासिक सारांश में कहा, मंत्रालय ने 2022-23 में जुलाई तक 2,493 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण किया है जबकि जुलाई 2021-2 तक 2,927 किलोमीटर का निर्माण किया था।

मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, 2022 में अप्रैल-जुलाई के बीच केवल 1,975 किलोमीटर सड़क परियोजनाओं का आवंटन किया गया था, जबकि एक साल पहले की अवधि में 2,434 किलोमीटर सड़क परियोजनाओं का आवंटन किया गया था। 

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) व राष्ट्रीय राजमार्ग और बुनियादी ढांचा विकास निगम लिमिटेड (एनएचआईडीसीएल) देशभर में राष्ट्रीय राजमार्गों और एक्सप्रेसवे के निर्माण के लिए मुख्य रुप से जिम्मेदार हैं। 
  
चालू वित्त वर्ष में 12 हजार किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण का लक्ष्य
चालू वित्त वर्ष के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण का आधिकारिक लक्ष्य 12,000 किलोमीटर रखा गया है। मंत्रालय ने 2019-20 में 10,237 किलोमीटर, 2020-21 में 13,327 किलोमीटर और 2021-22 में 10,457 किलोमीटर का निर्माण किया था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00