लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Osamaji to jeans of girls, did Digvijay Singh's old statements overshadow the congress president post ?

दावेदारी पर बयान भारी?: ओसामाजी से जींस वाली लड़कियों तक, दिग्विजय के विवादित बोल

रिसर्च डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: हिमांशु मिश्रा Updated Fri, 30 Sep 2022 01:47 PM IST
सार

दिग्विजय आज नामांकन करने वाले थे। ऐसे में अचानक फैसला बदलने के बाद कहा जा रहा है कि दिग्विजय सिंह की उम्मीदवारी पर उनके पुराने विवादित बयान भारी पड़ गए। आइए जानते हैं कि उन्होंने कौन-कौन से विवादित बयान दिए? उसको लेकर क्या-क्या हुआ और क्यों उन्हें अध्यक्ष पद की उम्मीदवारी से अपना नाम वापस लेना पड़ा? 

दिग्विजय सिंह
दिग्विजय सिंह - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें

विस्तार

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव की तस्वीरें अब धीरे-धीरे साफ होती नजर आ रही है। आज नामांकन की आखिरी तारीख है। शाम तीन बजे ये साफ हो जाएगा कि कौन-कौन मैदान में है। इस बीच ये तय हो गया है कि कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह चुनाव नहीं लड़ेंगे। वह भी तब जब दिग्विजय आज नामांकन करने वाले थे। ऐसे में अचानक उनके फैसला बदलने के बाद कहा जा रहा है कि दिग्विजय सिंह की उम्मीदवारी पर उनके पुराने विवादित बयान भारी पड़ गए। 

 
आइए जानते हैं कि उन्होंने कौन-कौन से विवादित बयान दिए? उसको लेकर क्या-क्या हुआ और क्यों उन्हें अध्यक्ष पद की उम्मीदवारी से अपना नाम वापस लेना पड़ा? 

 

क्या पुराने बयानों की वजह से अध्यक्ष पद की दौड़ से बाहर हुए दिग्विजय सिंह? 
इसे समझने के लिए हमने वरिष्ठ पत्रकार प्रमोद कुमार सिंह से बात की। उन्होंने कहा, 'दिग्विजय सिंह राजघराने से आते हैं। ऐसे में वह कुछ भी बोलने से पहले ज्यादा सोचते नहीं हैं। कई बार यही उनके लिए नुकसान का सबब बन जाता है। हालांकि, दिग्विजय सिंह आज भी कांग्रेस में गांधी परिवार के काफी करीबी माने जाते हैं।'


 
प्रमोद आगे कहते हैं, 'दिग्विजय सिंह ने नर्मदा यात्रा करके मध्य प्रदेश में कांग्रेस को जीत दिलाई थी। अब उनकी प्लानिंग से ही राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा कर रहे हैं। इसलिए ऐसा भी नहीं है कि कांग्रेस हाईकमान दिग्विजय सिंह को आगे नहीं बढ़ाना चाहता है। हां, ये जरूर है कि कई बार दिग्विजय के बयान से कांग्रेस और गांधी परिवार असहज जरूर हो जाता है। इसलिए फिलहाल दिग्विजय को अध्यक्ष नहीं बनने दिया जा रहा है।'
 

दिग्विजय के कौन-कौन से बयान रहे विवादित? 
 
जींस वाली लड़कियां मोदी से प्रभावित नहीं
दिग्विजय सिंह अपने बयानों की वजह से अक्सर चर्चा में रहते हैं। बीते साल यानी 2021 में उन्होंने भोपाल में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि जिन महिलाओं की उम्र 40 साल से ज्यादा है, वही पीएम मोदी से प्रभावित हैं, न कि जींस पहनने वाली लड़कियां। इसी कार्यक्रम में दिग्विजय सिंह ने दावा किया था कि साल 2024 में अगर पीएम मोदी चुनाव जीतते हैं तो वह भारतीय संविधान बदलकर आरक्षण भी खत्म कर देंगे। उस दौरान दिग्विजय ने गाय को लेकर भी विवादित बयान दिया था। 
 
 

फेक है बाटला हाउस एनकाउंटर
साल 2008 के दौरान दिल्ली के बाटला हाउस में आतंकियों का एनकाउंटर हुआ था, जिसमें दिल्ली पुलिस के एक इंस्पेक्टर शहीद हो गए थे। दिग्विजय सिंह ने इस एनकाउंटर को फर्जी करार दिया था। साल 2013 के दौरान दिल्ली की अदालत ने इस एनकाउंटर के दौरान पकड़े गए आतंकी को सजा सुनाई, तब भी दिग्विजय सिंह अपने बयान पर कायम दिखे। उन्होंने कहा कि एनकाउंटर फर्जी था। अगर न्यायिक जांच होती तो काफी बातें सामने आ जातीं। उनके इन बयानों पर कांग्रेस को आज तक सफाई देनी पड़ती है।
 

सत्ता के दो केंद्र काम नहीं कर सके
यूपीए सरकार के दौरान भी दिग्विजय सिंह ने कई विवादित बयान दिए। टीवी चैनल को दिए एक इंटरव्यू में दिग्विजय सिंह ने कहा था कि सत्ता के दो केंद्र (तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी) ठीक से काम नहीं कर सके। इस सिस्टम को भविष्य में बदलना होगा। इस बयान पर भाजपा के नेता आज भी दिग्विजय सिंह और कांग्रेस पार्टी को घेरने की कोशिश करते हैं। 
 

हेमंत करकरे की रिकॉर्डिंग का दावा
दिग्विजय सिंह ने दावा था कि मुंबई आतंकी हमले से कुछ घंटे पहले पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे ने अपनी जान को खतरा बताया था। दिग्विजय सिंह ने इस बातचीत की रिकॉर्डिंग उनके पास होने का दावा भी किया था। उनके इस बयान पर काफी विवाद हुआ, लेकिन दिग्विजय सिंह आज तक बातचीत का ब्यौरा साझा नहीं कर पाए हैं। 
 
 

'ओसामा जी' वाले बयान से फजीहत
अमेरिका ने जब अलकायदा के आतंकी ओसामा बिन लादेन को मार गिराया था, तब दिग्विजय सिंह ने विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था, 'ओसामा जी कई साल से पाकिस्तान में रह रहे थे। ऐसा कैसे संभव है कि पाकिस्तान के अधिकारियों को पता नहीं चला। उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका को ओसामा बिन लादेन को सम्मानपूर्वक दफन करना चाहिए था। बाद में दिग्विजय सिंह ने मीडिया पर आरोप लगाया कि इन बयानों को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया। इनके अलावा भी दिग्विजय सिंह तमाम ऐसे बयान दे चुके हैं, जिससे कांग्रेस के लिए असहज स्थिति बन गई। अगर वह कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते हैं तो विरोधी पार्टियां उनके इन बयानों को एक बार फिर उठा सकती हैं।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00