लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jharkhand ›   Jharkhand: Engineer Was Going To Dispose The Body After Filling In Cricket Kit Bag, Got Caught By The Police

Jharkhand News: क्रिकेट किट के बैग में शव भरकर ठिकाने लगाने जा रहा था इंजीनियर, चढ़ ही गया पुलिस के हत्थे

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जमेशदपुर Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Sat, 12 Feb 2022 07:46 AM IST
सार

आरोपी जूनियर इंजीनियर को गिरफ्तार करने के बाद शव कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। आरोपी ने शव को ठिकाने लगाने के दौरान पुलिस की नजर से बचने के लिए क्रिकेट किट के बैग में भर रखा था।
 

झारखंड पुलिस
झारखंड पुलिस - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

झारखंड पुलिस ने एक ऐसे जूनियर इंजीनियर को गिरफ्तार किया है, जो क्रिकेट किट के बैग में एक शव रखकर कार से ठिकाने लगाने जा रहा था। पुलिस की नजर से बचने के लिए उसने शव को सीट पर रखने की बजाए बूट स्पेस में रखा था, लेकिन उसकी यह चतुराई काम नहीं आई। पूछताछ में उसने कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। 



झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले के एसएसपी एम. तमिल वनान ने बताया कि आरोपी जूनियर इंजीनियर को गिरफ्तार करने के बाद शव कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। आरोपी ने शव को ठिकाने लगाने के दौरान पुलिस की नजर से बचने के लिए क्रिकेट किट के बैग में भर रखा था।


ब्याज का धंधा करने वाले का था शव
एसएसपी ने बताया कि इंजीनियर ने पूछताछ में बताया कि यह शव ब्याज का धंधा करने वाले (moneylender) का था। वह जमशेदपुर के कासिडीह इलाके का रहने वाला था। गुरुवार को वह एक महिला के साथ आरोपी के घर तब आया था, जब इंजीनियर के परिवार के लोग घर पर मौजूद नहीं थे। आरोपी का कहना है कि इसी दौरान महिला के पति समेत दो और लोग आए और उनका मनीलेंडर से विवाद शुरू हुआ। इसी बीच दो लोगों में से एक ने क्रिकेट बैट उठाया और मनीलेंडर को दे मारा। सिर में चोट आने से उसकी वहीं मौत हो गई। 

इसलिए शव ठिकाने लगाने को तैयार हो गया
आरोपी का कहना है कि मनीलेंडर की हत्या के बाद दोनों आरोपियों ने उसे शव ठिकाने लगाने के लिए धमकाया और उसे बंधक बना लिया। इस कारण इंजीनियर यह काम करने के लिए तैयार हो गया। वह साक्ची मार्केट गया और वहां से स्पोर्ट्स किट का बैग खरीदकर लाया और उसमें शव को भर दिया। इसके बाद वह कार में शव रखकर उसे ठिकाने लगाने निकला था। 
 
इंजीनियर के परिजनों से हत्यारों ने मांगी 50 लाख रुपये फिरौती
इस बीच मनीलेंडर की हत्या करने वाले दो आरोपियों ने इंजीनियर के परिवार को वॉट्सएप पर संदेश भेजकर 50 लाख रुपये फिरौती मांगना शुरू कर दी। परिजन बेटे की रिहाई के लिए 25 लाख रुपये देने को तैयार भी हो गए। लेकिन जब परिजनों का इंजीनियर के दो मोबाइल नंबरों पर संपर्क नहीं हो पाया तो उन्होंने पुलिस से संपर्क किया। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00