विज्ञापन

Kavya Cafe: गीत- ग़ज़लों से सजी महफ़िल, जल्द वीडियो होगा अपलोड अमर उजाला काव्य के सोशल मीडिया प्लेटफाॅर्म पर

हलचल
                
                                                                                 
                            युवा प्रतिभाओं को समर्पित मंच 'काव्य कैफ़े' की अगली कड़ी में शानिवार शाम 5 बजे एक और महफिल का आयोजन किया गया। इस कवि सम्मेलन में देश भिन्न-भिन्न कोनों से कवि और शायरों ने हिस्सा लिया और अपनी- अपनी रचनाओं का पाठ किया। शायरों ने अपने अशआर पढ़े। 
                                                                                                


गाजीपुर, उत्तर प्रदेश से आए दिल्ली विश्वविद्यालय के शोधार्थी सुनील 'गाजीपुरी ' ने राष्ट्र को समर्पित गीत से काव्य गोष्ठी की शुरुआत की। उन्होंने अपनी रचना का तरन्नुम में भी पाठ किया- 

भिन्नता-विभिन्नता में एकता का नारा है 
नींदों का ख्वाब हमारा देश नयन का तारा है 
लोहा लेकर खूब लड़ी थी झांसी वाली रानी 
हम हिंदुस्तानी...

  आगे पढ़ें

1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X