विज्ञापन

Rakeshdhar dwivedi Poetry: रोमांटिक गीत- मधुर मिलन कैसे होगा?

कविता
                
                                                                                 
                            मधुर मिलन कैसे होगा?
                                                                                                

मैं गीतों का राजकुमार
तुम गजलों की शहजादी
यह तो बताओ हम दोनों का
मधुर मिलन कैसे होगा
अब संगम कैसे होगा।

मैं भौंरे का अल्हड़पन
तुम बेला की खुशबू प्यारी
यह तो बताओ हम दोनों का
मधुर मिलन कैसे होगा
अब संगम कैसे होगा।

मैं परिंदे का पागलपन
तुम दीया की बाती प्यारी
यह तो बताओ हम दोनों का
मधुर मिलन कैसे होगा
अब संगम कैसे होगा। आगे पढ़ें

1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X