विज्ञापन

काली काली आंखें तेरी देख कर

Kali kali aankhen teri dekh kar
                
                                                                                 
                            काली काली आंखें तेरी देख कर,
                                                                                                

बस इन्हीं में हम अटक के रह गए।
आए थे इन आखों में हम झांकने,
इनमें भटके ऐसे कि, बस भटकते रह गए।।

मधुशाला तो हमने न देखी आजतक,
पर मधु से आज परिचित हो गए।
मदभरी तेरी ये आंखे जबसे देखी,
डूबे हम ऐसे नशे में,डूबते ही रह गए।।

हम खोए थे आंखों में तेरी,बैठे थे,
लोग मयखाने यहां से जा रहे थे।
जिक्र हमने आंखों का तेरी कर दिया,
रुक गए ऐसे कदम कि,फिर रुके ही रह गए।।

तारीफ तेरी आंखों की कैसे करू,
होश में रहना हुआ मुश्किल मेरा।
जबसे देखी ये मटकती आंखें हमने,
खुद को भूले ऐसे,भूल हुए ही रह गए।।

शब्द रस के कुछ रसिक ऐसे हुए,
आंखों को खंजन नयन जो कह गए।
जानती हो क्यों उन्होंने पक्षी खोजा?
इसलिए कि नैन तेरे देखने से रह गए।।

तेरी इस तिरछी नजर को क्या कहूं?
राणा के तलवार से कुछ कम नहीं है।
उन्होंने थे दुश्मन दले तलवार से,
नैनों से जख्मी यहां अपने ही होके रह गए।।

तूने है काजल लगाया आंख में जो,
काजल नहीं, जादू भरा कोई साज है।
जैसे ही देखा इक नज़र इन आंखों में,
बस में हुए है ऐसे,इनके ही होके रह गए।।

आंखें तेरी ऐसी जैसे कि कोई कैदखाना,
जुर्म करना चाहूं कि कैद हो जाए मुझे।
एकांत में विचारते अब, बस यही हम,
सोचने जबसे लगे, फिर सोचते ही रह गए ।।

काले बादल को बरसता देखकर,
प्रसन्न होकर नाचता है मोर जैसे।
हम भी तेरी काली आंखें देखकर,
नाचने ऐसे लगे कि,नाचते ही रह गए।।

काली काली आंखें तेरी देख कर,
बस इन्हीं में हम अटक के रह गए।
आए थे इन आखों में हम झांकने,
इनमें भटके ऐसे कि, बस भटकते रह गए।।

- महेश भट्ट

हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें।

- हम उम्मीद करते हैं कि यह पाठक की स्वरचित रचना है। अपनी रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें।
1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X