विज्ञापन

कर्म को अपना ले बंदे

                
                                                                                 
                            कर्म को अपना ले बंदे,
                                                                                                

कर्म को गले लगा ले बंदे,
कर्म ही होती है पूजा,
यही है परमात्मा का नाम दूजा,
कर्म जो करता जायेगा,
तो कोई तुझे रोक ना पाऐगा,
कर्म से जो रुक जाऐगा,
तो खाक ही हो जाऐगा,
कर्म ही करता जाऐगा तू,
सारा संसार तुझे अपनाऐगा,
गले से लगाऐगा,
और प्यार खूब तू पाऐंगा,
कर्म ही साथ तेरे,
आना है बंदे, आना है
बाकी सब तो खाक ही हो जाना है,
कर्म को करने से,
परमात्मा का मार्ग भी खुल जाऐगा,
परमात्मा को सिमरन करके,
तू तो निश्चित ही हो जाऐगा,
परमात्मा से पहले कर,
कर्म की पूजा क्योंकि?
हम नहीं कहते संसार सारा कहता है,
कि कर्म ही परमात्मा का नाम दूजा है,
कर्म का हाथ पकड़ कर तू ऊंचे,
पर्वत को भी पार कर जाऐगा,
कर्म नहीं कर पाऐ गा तो,
नीचे लुढ़कता आऐगा,
सभी ओर से ठोकर खाऐगा,
मां, बाप, भाई, बहन कोई नहीं अपनाता है,
मझधार में फंसी हो नईया,
कोई पार नहीं लगाता है,
खाली हाथ तू आया था,
खाली हाथ ही जाना है ,
यह संसार तो मोह माया,
किस-किस को गले लगाऐगा,
इसीलिए तो कहते हैं,
कर्म को अपना ले बंदे,
कर्म को अपना ले बंदे
कर्म ही साथ तेरे जाना है,
बंदे जाना है,
वरना सब तो खाक ही हो जाना है,
जिंदगी का कोई भरोसा नहीं,
कि कब बुलावा, ऊपर से आ जाएगा,
और जमराज तुझे,
चारपाई पर उठा कर,
ऊपर की ओर ले जाएगा,
फिर कुछ भी तू कर नहीं पाएगा,
कर्म जो किया था तूने,
वही साथ निभाएगा,
बहुत देर तक हाथ पकड़ कर,
कौन तुझे चला पाएगा,
जिंदगी तो है डूबती नईया,
कर्म ही पार लगाएगा,
कर्म तो है बहती धारा,
उस मैं डुबकी तू लगा पाएगा,
तेरा तो आज का क्या है,
जीवन सारा सफल हो जाएगा।।

सीमा सूद

- हम उम्मीद करते हैं कि यह पाठक की स्वरचित रचना है। अपनी रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें।
4 months ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X