विज्ञापन

ख़त लिखने के लिए काग़ज़ आज ही हाथ आया है... फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ का पत्नी के नाम ख़त

faiz ahmed faiz
                
                                                                                        
फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ उर्दू अदब के एक ऐसे मक़बूल शायर हैं जिनका एहतराम दोनों मुल्कों के लोग बराबर करते हैं। मजरुह सुल्तानपुरी का कहना था कि फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ तरक्कीपसंदों के मीर तक़ी मीर थे। फ़ैज़ एक इन्कलाबी शायर थे और अक्सर उनकी गतिविधियों के कारण उन्हें जेल में भी रहना पड़ता था।
आगे पढ़ें

फ़ैज़ का ख़त...

4 months ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X