विज्ञापन

इन्दीवर: ना उम्र की सीमा हो ना जन्म का हो बंधन, जब प्यार करे कोई तो देखे केवल मन

Indeevar hindi geet hothon se chhoo lo tum mera geet amar kar do
                
                                                                                 
                            
होंठों से छू लो तुम मेरा गीत अमर कर दो

बन जाओ मीत मेरे मेरी प्रीत अमर कर दो

ना उम्र की सीमा हो ना जन्म का हो बंधन
जब प्यार करे कोई तो देखे केवल मन
नयी रीत चलाकर तुम यह रीत अमर कर दो

आकाश का सूनापन मेरे तन्हा मन में
पायल छनकाती तुम आ जाओ जीवन में
साँसे देकर अपनी संगीत अमर कर दो

जग ने छीना मुझसे मुझे जो भी लगा प्यारा
सब जीता किये मुझसे मैं हर दम ही हारा
तुम हार के दिल अपना मेरी जीत अमर कर दो
होंठों से छू लो तुम मेरा गीत अमर कर दो
9 months ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X