आप अपनी कविता सिर्फ अमर उजाला एप के माध्यम से ही भेज सकते हैं

बेहतर अनुभव के लिए एप का उपयोग करें

विज्ञापन

Sajjad Ali: सज्जाद अली की लिखी वायरल ग़ज़ल 'लगाया दिल बहुत पर दिल लगा नई'

sajjad ali ghazal lagaya dil bahut par dil naga nahin
                
                                                                                 
                            लगाया दिल बहुत पर दिल लगा नई
                                                                                                

तेरे जैसा कोई हमको मिला नई

ज़माने भर की बातें उनसे कह दीं
जो कहना चाहिए था वो कहा नई

वो सच में प्यार था या बचपना था 
मोहब्बत हो गई थी क्या पता नई

वो मुझको लग रहा था प्यार मेरा
वो जैसा लग रहा था वैसा था नई

ना रोया था बिछड़ने पर मैं उनके 
मगर हाँ ज़िंदगी में फिर हंसा नई

ये तोहफ़े हैं जो अपनों से मिले हैं 
हमें ग़ैरों से कोई भी गिला नई  
1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X