Sakat Chauth : देश के इन जगहों पर दिखा चतुर्थी का चांद, DELHI NCR में बादलों की ओट में दिखाई दिया चौथ का चांद

ज्योतिष डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: विनोद शुक्ला Updated Fri, 21 Jan 2022 10:15 PM IST
Sakat Chauth 2022 Live Updates: Sankashti Chaturthi Vrat Katha, Moonrise Time, Puja Vidhi, Ganesh Aarti, Chandra Darshan Timings Today in Hindi
सकट चौथ 2022 लाइव अपडेट: - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

खास बातें

Sakat Chauth 2022 Vrat Katha, Puja Vidhi, Shubh Muhurat Live Updates: आज सकट चौथ का त्योहार मनाया जा रहा है। सकट चौथ को संकष्टी चतुर्थी, लंबोदर संकष्टी चतुर्थी, तिल चौथ, तिलकुटा चौथ और माघी चौथ के नाम प्रसिद्ध है। इसमें माताएं दिन भर निर्जला व्रत रखते हुए शाम के समय भगवान गणेश की पूजा उपासना करते हुए आखिरी में चंद्रमा के दर्शन करते हुए अर्घ्य देकर व्रत का पारण करती हैं। सकट चौथ में मां अपनी संतान की लंबी आयु और समृद्धि की कामना करती हैं।
विज्ञापन

लाइव अपडेट

09:54 PM, 21-Jan-2022

चांद के दर्शन न होने पर ऐसे करें व्रत पूरा

DELHI NCR में धुंध और बादल के चलते चांद के दर्शन नहीं हो पा रहे हैं। ऐसे में अगर चांद काफी देर से दिखाई देने की संभावना है जिसके चलते सकट चौथ का व्रत रखने वाली महिलाएं बिना चांद के दर्शन ही व्रत का पारण कर सकती हैं। शास्त्रों में इस बारे में बताया गया कि अगर किसी कारण से चांद के दर्शन होने में किसी तरह की परेशानियां आ रही हैं तो कुछ उपाय कर बिना चांद के दीदार किए ही उपवास पूरा कर सकती हैं।

- पंचांग के अनुसार चौथ पर चंद्रोदय के समय को ध्यान में रखते हुए व्रत का पारण किया जा सकता है।
- घर के बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद प्राप्त कर व्रत तोड़ें।
- चांद के दर्शन न होने पर थाली में चावल लेकर उसे चांद का आकार देकर अर्घ्य दें।
-  बड़े बुजुर्गों के हाथों से जल ग्रहण कर व्रत तोड़ें और अगले चौथ पर चंद्र दर्शन का संकल्प लें।
09:38 PM, 21-Jan-2022

DELHI NCR में व्रती महिलाएं को चांद के निकलने का इंतजार

दिल्ली NCR में सकट चौथ के चांद के दीदार का इंतजार लंबा हो रहा है। दिल्ली और आस पास के इलाके में रहने वाली व्रती महिलाएं चौथ की पूजा संपन्न करने के बाद अभी भी चांद के दर्शन का इंतजार कर रही हैं। पंचांग गणना के अनुसार आज यानी सकट चौथ पर दिल्ली और आसपास के इलाके में चांद करीब रात के 09 बजे निकलना था, लेकिन आसमान में बादलों का वजह से चांद के निकलने में देरी है।  
 
09:03 PM, 21-Jan-2022

सकट चौथ पर करें गणेश आरती- जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा...

Jai Gneash Aarti in hindi:
जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा॥

एक दंत दयावंत, चार भुजा धारी।
माथे सिंदूर सोहे,मूसे की सवारी॥

जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा॥

पान चढ़े फल चढ़े,और चढ़े मेवा।
लड्डुअन का भोग लगे,संत करें सेवा॥

जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा॥

अंधन को आंख देत,कोढ़िन को काया।
बांझन को पुत्र देत,निर्धन को माया॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

'सूर' श्याम शरण आए, सफल कीजे सेवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

दीनन की लाज रखो, शंभु सुतकारी।
कामना को पूर्ण करो जाऊं बलिहारी॥

गणपति महाराज की जय।।
08:23 PM, 21-Jan-2022

सभी देवी-देवताओं में सबसे पहले पूजे जाने वाले भगवान गणेश के बारे में जानिए सब कुछ

ganesh - फोटो : Istock
पिता भगवान शंकर
माता भगवती पार्वती
भाई श्री कार्तिकेय, अय्यप्पा (बड़े भाई)
बहन अशोकसुन्दरी , मनसा देवी , देवी ज्योति ( बड़ी बहन )
पत्नी-  दो 1. ऋद्धि 2. सिद्धि
पुत्र- दो 1. शुभ 2. लाभ
पुत्री संतोषी माता
प्रिय भोग मोदक, लड्डू और दूर्वा
प्रिय पुष्प लाल रंग के
प्रिय वस्तु दूर्वा (दूब), शमीपत्र
अधिपति जल तत्व के
मुख्य अस्त्र परशु और रस्सी
वाहन मूषक
08:14 PM, 21-Jan-2022

सकट चौथ पूजा के दौरान पढ़ें श्री गणेश के 12 चमत्कारी नाम

ganesh utsav - फोटो : ganesh utsav
Sakat Chauth Puja Vidhi 2022: आज सकट चौथ का उपवास रखने वाली महिलाएं भगवान गणपति की विशेष कृपा पाने के लिए उनके 12 नामों का जाप अवश्य करें।
1-नसुमुख
2- एकदंत
3- कपिल
4- गजकर्णक
5- लंबोदर
6- विकट
7- विघ्न-नाश
8- विनायक
9- धूम्रकेतु
10- गणाध्यक्ष
11- भालचंद्र
12- गजानन
08:02 PM, 21-Jan-2022

भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए करें इस मंत्र का जाप

माताएं संतान की लंबी आयु और सुख समृद्धि के लिए सकट चौथ की पूजा के दौरान करें इस मंत्र का जाप

गजाननं भूत गणादि सेवितं, कपित्थ जम्बू फल चारू भक्षणम्।
उमासुतं शोक विनाशकारकम्, नमामि विघ्नेश्वर पाद पंकजम्।
07:53 PM, 21-Jan-2022

सकट चौथ के बाद कब-कब पड़ेगी साल 2022 में चतु्र्थी तिथि

शुक्रवार, 21 जनवरी संकष्टी चतुर्थी
रविवार, 20 फरवरी संकष्टी चतुर्थी
सोमवार, 21 मार्च संकष्टी चतुर्थी
मंगलवार, 19 अप्रैल अंगारकी चतुर्थी
गुरुवार, 19 मई संकष्टी चतुर्थी
शुक्रवार, 17 जून संकष्टी चतुर्थी
शनिवार, 16 जुलाई संकष्टी चतुर्थी
सोमवार, 15 अगस्त संकष्टी चतुर्थी
मंगलवार, 13 सितंबर अंगारकी चतुर्थी
गुरुवार, 13 अक्टूबर संकष्टी चतुर्थी
शनिवार, 12 नवंबर संकष्टी चतुर्थी
रविवार, 11 दिसंबर: संकष्टी चतुर्थी
07:28 PM, 21-Jan-2022

दिल्ली, लखनऊ, आगरा और पटना समेत 10 शहरों में चांद निकलने का टाइम

Today Moonrise Timing: हिंदू धर्म में चतुर्थी व्रत का विशेष महत्व होता है। चतुर्थी व्रत में भगवान गणेश की पूजा और चांद के दर्शन करने के बाद जल अर्पित करके व्रत का पारण किया जाता है। आज सकट चौथ व्रत है और भगवान गणेश की पूजा के बाद चांद के दर्शन करने का विधान है। ऐसे में आइए जानते हैं देश के 10 प्रमुख शहरों में आज कितने बजे निकलेगा चतुर्थी का चांद।
 
City- Today Moonrise Timing आज चांद के निकलने का समय
Delhi  9:00
Lucknow  08:46
Varanasi  08:39
Ghaziabad  08:59
Bareilly   08:51
Prayagraj  08:44 
Kanpur 08:49 
Agra  08:58
Meerut  08:57
Patna 08:31
07:20 PM, 21-Jan-2022

बिहार में इस समय दिखाई देगा सकट चौथ का चांद

शहर- BIHAR आज चांद के निकलने का समय
Patna 08:30
Bhagalpur 08:23
Madhubani 08:25
Gaya 08:31
Ranchi 08:31
07:03 PM, 21-Jan-2022

उत्तर प्रदेश के इन शहरों में आज इस समय दिखेगा चांद

 शहर- UTTAR PRADESH चंद्रोदय का समय  
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Mirzapur 08:41
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Basti 08:39
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Chandauli 08:38
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Ghazipur 08:36
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Azamgarh 08:38
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Jaunpur 08:40
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Mau  08:36
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Ballia 08:34
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Gorakhpur 08:36
06:52 PM, 21-Jan-2022

सकट चौथ पर जरूर चढ़ाएं भगवान गणेश जी को ये पूजा सामग्री

Sakat Chauth Puja Vidhi 2022: सनातन धर्म में भगवान गणेश का प्रथम पूज्य देवता माना गया है। कोई शुभ कार्य, पूजा, धार्मिक अनुष्ठान और विवाह में सबसे पहले भगवान गणेश की पूजा होती है। हिंदू पंचांग के अनुसार माघ महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को सकट चौथ का त्योहार मनाया जाता है। इसमें माताएं संतान की दीर्घायु की कामना के साथ भगवान गणेश की विधि-विधान से पूजा-अर्चना करते हुए उन्हें प्रसन्न करती हैं और आशीर्वाद प्राप्त करती है। सकट चौथ पर पूजा करते समय भगवान गणेश की सबसे प्रिय चीज दूर्वा घास उन्हें जरूर अर्पित करनी चाहिए। मान्यता है कि दूर्वा घास चढ़ाने से भगवान गणेश जल्द प्रसन्न हो जाते हैं।
06:44 PM, 21-Jan-2022

सकट चौथ पर माताओं को आज जरूर सुननी चाहिए ये कथा

Sakat Chauth 2022 Vrat Katha: पौराणिक कथा के अनुसार सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र के राज में एक कुम्हार रहा करता था। एक बार उसने बर्तन बनाकर आवा लगाया, पर बहुत देर तक आवा पका नहीं। बार-बार नुकसान होता देखकर कुम्हार एक तांत्रिक के पास गया और उसने तांत्रिक से मदद मांगी। तांत्रिक ने उसे एक बालक की बली देने के लिए कहा। उसके कहने पर कुम्हार ने एक छोटे बच्चे को आवा में डाल दिया, उस दिन संकष्टी चतुर्थी थी। उस बालक की मां ने अपनी संतान के प्राणों की रक्षा के लिए भगवान गणेश से प्रार्थना की। कुम्हार जब अपने बर्तनों को देखने गया तो उसे बर्तन पके हुए मिले और साथ ही बालक भी सुरक्षित मिला। इस घटना के बाद कुम्हार डर गया और उसने राजा के सामने पूरी कहानी सुनाई। इसके बाद राजा ने बच्चे और उसकी मां को बुलवाया तो मां ने संकटों को दूर करने वाली सकट चौथ की महिमा का गुणगान किया। तभी से महिलाएं अपनी संतान और अपने परिवार की कुशलता और सौभाग्य के लिए सकट चौथ का व्रत करने लगीं।
06:36 PM, 21-Jan-2022

सकट चौथ पर आज रात शुभ संयोग में होंगे चांद के दर्शन

Today Moonrise Time:  संतान की लंबी आयु और उनके जीवन में हमेशा सुख समृद्धि रहें इस मनोकामना के साथ माताएं आज संकष्टी चतुर्थी का उपवास रखते हुए भगवान गणेश की पूजा-अर्चना करती हैं। पूजा के बाद चांद के दर्शन करते हुए उनका आशीर्वाद लेते हुए व्रत का पारण करती हैं। ज्योतिषाचार्य के अनुसार आज रात को चांद के दर्शन बहुत ही शुभ योग में होने जा रहा है। सकट चौथ पर चंद्रमा के दर्शन सौभाग्य योग में हो सकेगा। शास्त्रों में बताया गया है कि सौभाग्य योग में की गई कोई भी पूजा और कार्य जरूर सफल होता है। 
06:18 PM, 21-Jan-2022

सकट चौथ पर आज जरूर करें भगवान गणेश की आरती

Sakat Shauth 2022 And Ganesh Aarti: आज सकट चौथ का व्रत रखा जा रहा है अब से कुछ देर बाद माताएं भगवान गणेश की पूजा विधि-विधान के साथ करेंगे। किसी भी शुभ कार्य आरंभ करने से सबसे पहले और पूजा में गणेशजी की पूजा अवश्य ही की जाती है। ऐसे में सकट चौथ पर पूजा के बाद भगवान गणेश की आरती जरूर करनी चाहिए।

श्री गणेश जी की आरती
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा .
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा ॥
एक दंत दयावंत, चार भुजाधारी .
माथे पे सिंदूर सोहे, मूसे की सवारी ॥
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा ॥
अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया .
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया ॥
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा ॥
हार चढ़ै, फूल चढ़ै और चढ़ै मेवा .
लड्डुअन को भोग लगे, संत करे सेवा ॥
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा ॥
दीनन की लाज राखो, शंभु सुतवारी .
कामना को पूर्ण करो, जग बलिहारी ॥
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा 
गणेश वंदना
हे एकदंत विनायकं तुम हो जगत के नायकं।
बुद्धि के दाता हो तुम माँ पार्वती के जायकं।।
है एकदंत विनायकं तुम हो जगत के नायकम....ॐ हरि ॐ

गणपति है वकर्तुंडंम, एकदंतम गणपति है,
कृष्णपिंगाक्षम गणपति, गणपति गजवक्त्रंमम....
है एकदंत विनायकं तुम हो जगत के नायकम।
बुद्धि के दाता हो तुम माँ पार्वती के जायकं।।....ॐ हरि ॐ

गणपति लम्बोदरंम है, विकटमेव भी है गणपति
विघ्नराजेंद्रम गणपति, हो तुम्ही धूम्रवर्णमंम।।
है एकदंत विनायकं तुम हो जगत के नायकम।
बुद्धि के दाता हो तुम माँ पार्वती के जायकं।।....ॐ हरि ॐ

भालचंद्रम गणपति है, विनायक भी गणपति है,
गणपति एकादशं है, द्वादशं तू गजाननंम।।
है एकदंत विनायकं तुम हो जगत के नायकम।
बुद्धि के दाता हो तुम माँ पार्वती के जायकं।।....ॐ हरि ॐ
गणेश स्तुति मंत्र
ॐ श्री गणेशाय नम:।
ॐ गं गणपतये नम:।
ॐ वक्रतुण्डाय नम:। 
ॐ हीं श्रीं क्लीं गौं ग: श्रीन्महागणधिपतये नम:।
ॐ विघ्नेश्वराय नम:।
गजाननं भूतगणादि सेवितं, कपित्थ जम्बूफलसार भक्षितम्।
उमासुतं शोक विनाशकारणं, नमामि विघ्नेश्वर पादपंकजम्।
06:11 PM, 21-Jan-2022

यहां देखें आज अपने शहर में चांद निकलने का समय

Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Delhi            चंद्रोदय का समय रात्रि 9:00 बजे 
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Lucknow      चंद्रोदय का समय रात्रि 08:46
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Varanasi      चंद्रोदय का समय रात्रि 08:39
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Ghaziabad   चंद्रोदय का समय रात्रि 08:59
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Bareilly          चंद्रोदय का समय रात्रि 08:51
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Prayagraj      चंद्रोदय का समय रात्रि 08:44 
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Kanpur         चंद्रोदय का समय रात्रि 08:49 
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Agra             चंद्रोदय का समय रात्रि 08:58
Today Sakat Chauth Moonrise Timing in Meerut         चंद्रोदय का समय रात्रि 08:57
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Astrology News in Hindi related to daily horoscope, tarot readings, birth chart report in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Astro and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00