लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   95 imported products will now be ready in UP Strategy to achieve the goal of a 10 trillion dollar economy

UP: आयात वाले 95 उत्पाद अब यूपी में ही होंगे तैयार, 10 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य हासिल करने की रणनीति

अमर उजाला नेटवर्क, लखनऊ Published by: शाहरुख खान Updated Mon, 15 Aug 2022 08:54 AM IST
सार

सीएम योगी ने हाल ही में एमएसएमई विभाग को प्रदेश में आयात होने वाले उत्पादों को चिह्नित करने के निर्देश दिए थे। वित्त वर्ष 2021-22 में यूपी के ड्राई पोर्ट (रेल या सड़क परिवहन से बंदरगाह का जुड़ना) से 55 हजार करोड़ से अधिक के 95 उत्पाद आयात हुए हैं। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

प्रदेश की अर्थव्यवस्था को 10 खरब डॉलर के मुख्यमंत्री योगी के लक्ष्य को पूरा करने के लिए सेक्टरवार रणनीति बनाकर काम करना शुरू कर दिया गया है। इसके तहत प्रदेश में आयात होने वाले 95 उत्पादों को चिह्नित किया गया है। इनका उत्पादन प्रदेश में ही करने की योजना बनाई गई है।


सीएम योगी ने हाल ही में एमएसएमई विभाग को प्रदेश में आयात होने वाले उत्पादों को चिह्नित करने के निर्देश दिए थे। वित्त वर्ष 2021-22 में यूपी के ड्राई पोर्ट (रेल या सड़क परिवहन से बंदरगाह का जुड़ना) से 55 हजार करोड़ से अधिक के 95 उत्पाद आयात हुए हैं। 


इसमें 10 हजार करोड़ से लेकर सौ करोड़ रुपये तक के 48 उत्पादों का आयात किया गया है। इस बाबत एमएसएमई के अपर मुख्य सचिव डॉ. नवनीत सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार की योजना है कि आयात होने वाले इन उत्पादों को यहीं तैयार किया जाए।

प्रदेश में आयात होने वाले टॉप-10 उत्पाद
पहले नंबर पर इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स के 10,200 करोड़ के ट्रांसफार्मर, जेनरेटर, मिक्सर ग्राइंडर, सेमी कंडक्टर चिप, प्रोसेसर और मेमोरीज आदि उत्पाद हैं। दूसरे नंबर पर 6592 करोड़ के मछली का तेल, कैस्टर ऑयल, सोयाबीन का तेल व अन्य खाद्य तेल हैं। 

तीसरे नंबर पर 6315 करोड़ के न्यूक्लियर रिएक्टर, बॉयलर्स और बड़े प्लांट में उपयोग होने वाली मशीनरी। चौथे नंबर पर 4906 करोड़ के प्लास्टिक पैलेट्स। पांचवें नंबर पर 2817 करोड़ के एल्यूमीनियम, आयरन, स्टील और कॉपर के उत्पाद।

छठे नंबर पर 1592 करोड़ के ऑर्गेनिक केमिकल्स, सातवें नंबर पर 1590 करोड़ के सर्जिकल उपकरण, आठवें पर 1515 करोड़ के सोने-चांदी के आभूषण व रत्न, नौवें पर 1207 करोड़ के पेपर बोर्ड, कार्ड बोर्ड, केमिकल के बने हार्ड बोर्ड और दसवें नंबर पर 1106 करोड़ रुपये के निकिल व निकिल स्क्रैप मेटल्स का आयात होता है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00