लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   Brij bhushan sharan singh talks about why he is speaking against BJP.

Brijbhushan Sharan Singh: अफसरों की कार्यप्रणाली से खफा भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने खोला मोर्चा, बोले- ...हम बागी हैं

अमर उजाला ब्यूरो, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Tue, 24 May 2022 01:20 PM IST
सार

ब्रज भूषण से अमर उजाला संवाददाता ने इस बाबत बात की तो उन्होंने एक शेर सुनाया- ‘...अगर सच्चाइयों का गीत गाना बगावत, तो हम भी बागी हैं।’

भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह
भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने अफसरों की कार्यप्रणाली के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। हाल ही में गोंडा की एक खराब सड़क को लेकर उन्होंने न सिर्फ मौजूदा व्यवस्था पर व्यंग्य साधा, बल्कि अफसरों पर भी निशाना साधा। वायरल वीडियो में उन्होंने कहा कि यहां भाजपा कार्यकर्ताओं से तो सुधरने की अपेक्षा की जाती है, पर अधिकारी न सुधरें तो कोई बात नहीं। इससे पहले मनसे कार्यकर्ता से उनकी बातचीत का ऑडियो भी काफी वायरल हुआ था।

छठी बार लोकसभा में पहुंचे कैसरगंज (गोंडा) से सांसद ब्रज भूषण शरण सिंह के चर्चे दूर-दूर तक हैं। कुछ दिन पहले उच्चस्तर से भाजपा कार्यकर्ताओं और विधायकों को ठेके-पट्टों से दूर रहने के साथ ही सुधरने की नसीहत दी गई थी। इसी बीच गोंडा के तरबगंज क्षेत्र के शरीफगंज बंधा मार्ग की दुर्दशा पर उनका एक वीडियो आ गया। इसे खुद उन्होंने सोशल मीडिया पर साझा किया था। इसमें इस मार्ग की एक पुलिया पर गड्ढे दिखाते हुए वे कह रहे हैं कि राहगीरों के मरने का इंतजाम कर दिया गया है।



वर्षों से ये गड्ढे हैं। अधिकारियों की तानाशाही चल रही है। आखिर में व्यंगात्मक लहजे में कहते हैं- जय हो पीडब्ल्यूडी की, जय हो अधिकारियों की।

सुधार नहीं हुआ तब सोशल मीडिया का सहारा लिया

ब्रज भूषण से अमर उजाला संवाददाता ने इस बाबत बात की तो उन्होंने एक शेर सुनाया- ‘...अगर सच्चाइयों का गीत गाना बगावत, तो हम भी बागी हैं।’ उन्होंने कहा कि डीएम की मौजूदगी में खराब सड़क का मुद्दा निगरानी समिति की बैठक में उठा चुका हूं, लेकिन जब कोई सुधार नहीं हुआ तो सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी बात रखनी पड़ी।

उन्होंने कहा कि कुछ समय पूर्व अयोध्या के तत्कालीन डीएम ने गोंडा से राम की पैड़ी पर आने वाले छोटे पुल पर भारी वाहनों को रोकने के लिए चार पिलर लगा दिए। इनसे टकराकर कई लोगों की मौत हुई। फिर उन्होंने (ब्रज भूषण सिंह ने) इनमें से एक पिलर को खुद ही उखाड़कर फेंका। उन्होंने कहा कि क्या इस तरह के मामलों में जिम्मेदार अधिकारियों पर मुकदमा नहीं होना चाहिए? वे कहते हैं कि उनकी शिकायतों पर सीएम ने कई बार बड़ा एक्शन लिया है, लेकिन रोज-रोज तो उनसे मिलकर हकीकत बता पाना मुमकिन नहीं है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00