पंजाब में दलित सीएम पर मायावती तिलमिलाईं : बोलीं- यूपी में भाजपा का ओबीसी व पंजाब में कांग्रेस का दलित प्रेम हवा हवाई

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Mon, 20 Sep 2021 09:58 PM IST

सार

मायावती ने कहा कि पंजाब में विधानसभा चुनाव होने वाले है जिसे देखते हुए कांग्रेस ने दलित समाज से आने वाले चरनजीत सिंह चन्नी को बेहद कम समय के लिए मुख्यमंत्री बना दिया है।
बसपा सुप्रीमो मायावती।
बसपा सुप्रीमो मायावती। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि पंजाब में दलित व्यक्ति को मुख्यमंत्री बनाना कांग्रेस का चुनावी हथकंड़ा है। यह तय है कि वहां कांग्रेस गैर दलित के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगी। ठीक इसी प्रकार उत्तर प्रदेश में भाजपा का भी ओबीसी समाज के प्रति उभरा नया प्रेम वास्तव में दिखावटी एवं हवा हवाई है।
विज्ञापन

 
 मायावती ने सोमवार को लखनऊ में बयान जारी कर कहा कि बेहतर होता यदि कांग्रेस पंजाब में दलित वर्ग से पूरे पांच साल के लिएमुख्यमंत्री बनाती। अब कुछ समय के लिए कमान दलित वर्ग के चरणजीत सिंह चन्नी के हाथ में देना केवल चुनावी हथकंडा ही है। कांग्रेस के इस कदम से साफ है कि वह पंजाब में अकाली दल और बसपा के गठबंधन से घबराई हुई है। पंजाब का दलित वर्ग इनके बहकावे में बिल्कुल भी आने वाला नहीं है।


उन्होंने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू एंड कंपनी के पास यदि बाबा साहब भीमराव आंबेडकर से ज्यादा काबिल कोई और व्यक्ति होता तो उन्हें संविधान निर्माण में शामिल नहीं किया जाता। बाबा साहब की वजह से ही दलितों एवं अल्पसंख्यक समाज के लोगों को अधिकार मिले। मायावती ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि इसी तरह से यूपी में भाजपा का नया ओबीसी प्रेम है। यदि यह वास्तव में सच्चा एवं सार्थक होता तो इनकी केंद्र व यूपी समेत अन्य राज्यों की सरकारें नौकरियों में एसी, एसटी का बैकलॉग पूरा कर देतीं और न ही ओबीसी की जातीय जनगणना की मांग को स्वीकार किया जा रहा है। भाजपा का भी इस वर्ग के वोट की खातिर कोई नाटक चलने वाला नहीं है। दलित और ओबीसी न तो भाजपा के और न ही कांग्रेस के बहकावे में आएंगे।



चरनजीत सिंह चन्नी के साथ ही सुखजिंदर रंधावा और ओमप्रकाश सोनी ने भी पंजाब के नए उपमुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली है। शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी शामिल हुए। उनके साथ हरीश रावत और अजय माकन भी चन्नी को बधाई देने पहुंचे। राहुल ने चन्नी को शुभकामनाएं दी।

बता दें कि पंजाब में दलित दो हिस्सों में बंटा हुआ है। यहां रविदासी और वाल्मीकि दो बड़े वर्ग दलित समुदाय का प्रतिनिधित्व करते हैं। ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाला दलितों का बड़ा हिस्सा डेरों से जुड़ा हुआ है। चुनाव के समय यह डेरे अहम भूमिका निभाते हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00