चौपाल में मेनका गांधी ने साधा निशाना : बोलीं, पूर्ववर्ती सरकारों के राजनीतिज्ञों व उनके समर्थकों ने बनवाए बड़े बंगले

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, सुल्तानपुर Published by: पंकज श्रीवास्‍तव Updated Tue, 21 Sep 2021 07:08 PM IST

सार

सांसद ने कहा कि हिंदुस्तान की सरकार ने हमेशा जरूरतमंदों की मदद की है। उन्होंने भरोसा जताया कि अफगानिस्तान की महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए हिंदुस्तान की सरकार जरूर बड़ा कदम उठाएगी।
किसान से काला नमक चावल की खरीदारी करतीं सांसद मेनका गांधी
किसान से काला नमक चावल की खरीदारी करतीं सांसद मेनका गांधी - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भाजपा सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने मंगलवार को अपने दौरे के आखिरी दिन पूर्व की सरकारों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों के राजनीतिज्ञों व उनके समर्थकों ने बड़े-बड़े बंगले बनवाए। अपना घर भरा, लेकिन केंद्र व प्रदेश की मोदी सरकार ने बेघर व गरीबों को आवास दिया। इस योजना में पिछले साढ़े चार साल में करीब 85 हजार आवास बनाए गए हैं। वे पत्रकारों से बात कर रही थीं।
विज्ञापन


अफगानिस्तान की तालिबानी सरकार के द्वारा महिलाओं पर किए जा रहे अत्याचार की उन्होंने निंदा की। कहा कि हिंदुस्तान की सरकार ने हमेशा जरूरतमंदों की मदद की है। उन्होंने भरोसा जताया कि अफगानिस्तान की महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए हिंदुस्तान की सरकार जरूर बड़ा कदम उठाएगी। पार्टी कार्यालय पर जिलाध्यक्ष डॉ. आरए वर्मा की अध्यक्षता में आयोजित प्रकोष्ठों व युवा मोर्चा की बैठक में हिस्सा लेते हुए सांसद ने पदाधिकारियों को चुनाव में जीत का मंत्र दिया। नौजवानों को उन्होंने स्किल डवलपमेंट से प्रशिक्षण लेकर रोजगार पाने की सलाह दी। महिला मोर्चा को उन्होंने रोजगार के लिए मेहंदी, मशरूम, भीम बांस की खेती करके आमदनी करने का सुझाव दिया। किसान मोर्चा को फूल  काला चावल व भीम बांस की खेती की राय दी।


सांसद ने सौरमऊ, देहली मुबारकपुर, अलहदादपुर व बालमपुर में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं और उन्हें आगे बढ़ने का रास्ता बताया। कहा कि मुझे राजनीति बिल्कुल नहीं आती वे लोगों की सेवा और खुशहाली की राजनीति करती हैं। प्रधानों से गांव की खाली पड़ी भूमि पर आम, महुआ, जामुन, अमरूद आदि के फलदार पौधे रोपने की सलाह दी। उन्होंने ऐसे प्रधानों को पुरस्कृत करने का भी ऐलान किया। उन्होंने प्रयागराज के अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष संत नरेंद्र गिरि के निधन पर शोक जताया। कहा कि ऐसी घटनाएं दुखदाई होती हैं। बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा व चौपालों में हिस्सा लेने के बाद वे दोपहर बाद दिल्ली के लिए रवाना हो गईं। इस मौके पर बबिता तिवारी, गोविंद तिवारी, शशीकांत पांडेय, श्याम बहादुर, विजय सिंह रघुवंशी, प्रतिनिधि रणजीत कुमार समेत अन्य मौजूद रहे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00