लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   Pradesh Sammelan of Samajwadi Party in Lucknow.

सपा का प्रदेश सम्मेलन: नरेश उत्तम पटेल दोबारा प्रदेश अध्यक्ष बने, अखिलेश बोले- समाज बांटने वालों को हटाएंगे

अमर उजाला नेटवर्क, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Wed, 28 Sep 2022 07:06 PM IST
सार

लखनऊ में समाजवादी पार्टी का प्रदेश सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता शिरकत कर रहे हैं। हालांकि, आजम खां तबीयत खराब होने के कारण नहीं आ सके। वह अस्पताल में भर्ती हैं।

समाजवादी पार्टी का प्रदेश सम्मेलन।
समाजवादी पार्टी का प्रदेश सम्मेलन। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

समाजवादी पार्टी के नौवें राज्य सम्मेलन में बुधवार को नरेश उत्तम पटेल को तीसरी बार निर्विरोध प्रदेश अध्यक्ष चुने गए। उन्हें अखिलेश यादव के प्रति वफादारी और कुर्मी वोटबैंक को जोड़े रखने का इनाम मिला है। गैर यादव ओबीसी को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर सपा शीर्ष नेतृत्व ने यह भी संदेश देने की कोशिश की है कि उन्हें अपने समकक्ष दूसरी ओबीसी जातियों की भी फिक्र है। इस रणनीति के जरिए वह 2024 में एक बार फिर कुर्मी वोटबैंक को लामबंद करने की कोशिश कर रहे हैं।



रमाबाई अंबेडकर मैदान में आयोजित राज्य सम्मेलन की शुरुआत राष्ट्रगान से हुई। इसके बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी का झंडारोहण किया। चुनाव अधिकारी प्रो रामगोपाल यादव ने बताया कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद पर सिर्फ नरेश उत्तम पटेल ने ही नामांकन किया है। अन्य किसी के नामांकन नहीं करने की वजह से उन्हें निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया है। इस घोषणा केबाद पार्टी केराष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सहित अन्य नेताओं ने उन्हें बधाई दी। नरेश उत्तम पटेल को दोबारा प्रदेश अध्यक्ष बनाकर पार्टी शीर्ष नेतृत्व ने यह संदेश देने की कोशिश की है कि कुर्मी बिरादरी का हित सपा केसाथ सुरक्षित हैं। नरेश उत्तम पटेल सपा के संस्थापक सदस्यों में गिने जाते हैं।  राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के प्रति वफादार होने के साथ ही विधानसभा चुनाव से ठीक पहले उन्होंने किसान नौजवान पटेल यात्रा निकाली। विभिन्न जिलों में 64 दिन निरंतर चलते रहे और कुर्मी बिरादरी के बीच जनजागरण लाने का कार्य किया था।


कार्यकर्ताओं का मान सम्मान सर्वोपरि : उत्तम
सपा के नव मनोनीत प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने शीर्ष नेतृत्व का आभार जताते हुए कहा कि वे पार्टी की रीति नीति को आगे बढ़ाने केलिए निरंतर संघर्षशील रहेंगे। उन्होंने चौधरी चरण सिंह से लेकर सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के साथ कार्य किया है। करीब 40 साल के राजनीति जीवन में अनुशासन को सर्वोपरि माना है। पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को अनुशासन का पालन करना होगा। वे अनुशासित रहे तो उनके मान सम्मान पर कभी आंच नहीं आने दी जाएगी। संगठन को आगे बढ़ाने के लिए हर स्तर पर सक्रिय भूमिक निभानी होगी। सम्मेलन के आयोजन में योगदान देने वाले पार्टी नेताओं का आभार जताते हुए कहा कि कम समय में बड़ी तैयारी की गई है। लखनऊ की टीम ने विशेष योगदान दिया है। 
 
कौन हैं नरेश उत्तम पटेल 
 फतेहपुर जिले के जहानाबाद क्षेत्र के लाहौरी सराय गांव निवासी नरेश उत्तम पटेल कानपुर विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र से परास्नातक हैं। वह पहली बार 1989 में जनता दल से विधायक बने। सपा के संस्थापक सदस्य हैं और मुलायम सरकार में मंत्री, पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य और जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट के सदस्य रहे। जब अखिलेश यादव सपा केप्रदेश अध्यक्ष थे तो वह उपाध्यक्ष केरूप में सक्रिय भूमिका निभाते रहे। वर्ष 2017 में जब पार्टी में विवाद बढ़ा तो एक जनवरी 2017 को उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया। अक्तूबर में हुए सम्मेलन में फिर से उन्हें प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई। नौवें सम्मेलन में भी उन्हें फिर से मौका दिया गया है। वह करीब 40 वर्ष की राजनीति तीन बार विधायक होने के साथ ही 2006 से विधान परिषद सदस्य हैं।



ये भी पढ़ें - लता चौक का लोकार्पण: प्रधानमंत्री मोदी बोले- लता दीदी के सुर युगों-युगों तक देश के कण-कण को जोड़े रखेंगे

ये भी पढ़ें - Ayodhya: लता मंगेशकर चौक का लोकार्पण कर मुख्यमंत्री योगी बोले- अयोध्या की तरह प्रत्येक तीर्थस्थान को सजाएंगे
विज्ञापन

इस मौके पर अपने संबोधन में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि हमारा सपना है कि समाज को बांटने वाली ताकतों को सत्ता से बाहर करेंगे। सपा ने पिछले लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक फैसला लिया था। हमने बहुजन समाज की ताकत को एक मंच पर लाने का प्रयास किया। हर स्तर पर त्याग किया। डॉ आंबेडकर और लोहिया के सपनों को साकार करने की कोशिश की थी। समाजवादी लोग बड़ी जीत चाहते थे लेकिन सत्ता में बैठे लोगों ने अपनी शक्तियों का दुरुपयोग किया।उन्होंने कहा कि 2022 में हम समान विचारधारा के लोगों को एक मंच पर लाए। सत्ता नहीं मिली लेकिन वोट प्रतिशत बढ़ा। उन्होंने कहा कि सिर्फ सपा ही सांप्रदायिक ताकतों को रोक सकती है। 

उन्होंने समाजवादी पार्टी के कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाई और कहा कि हम जब भी सत्ता में आएंगे किसानों के लिए काम करेंगे। सर्वसमाज को शिक्षित करेंगे। सपा अध्यक्ष ने कहा कि सपा सरकार ने जो काम किया था भाजपा उससे आगे कुछ भी नहीं कर पाई है। उन्होंने अपने भाषण में मेट्रो निर्माण और नदियों की सफाई आदि का मुद्दा उठाया। कार्यक्रम की शुरुआत में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में राष्ट्रगान हुआ। इसके बाद पार्टी का ध्वज फहराया गया।

सम्मेलन को लेकर सपाइयों में जोश
प्रांतीय एवं राष्ट्रीय सम्मेलन को लेकर सपा नेताओं में जबरदस्त जोश है। पार्टी कार्यालय से लेकर रमाबाई अंबेडकर मैदान तक सड़क के दोनों तरफ सपाई झंडे लगाए गए हैं। जगह-जगह बैनर पोस्टर के साथ कटआउट भी लगाए गए हैं।

खास बात यह है कि ज्यादातर कटआउट पर सिर्फ अखिलेश यादव नजर आ रहे हैं। कुछ में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और आजम खां, प्रो रामगोपाल सहित अन्य स्थानीय नेताओं की तस्वीर लगी है। लेकिन ये कटआउट इस बात की तस्दीक कर रहे हैं कि यह सम्मेलन पूरी तरह से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर केंद्रित है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00