लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Varanasi ›   Kashi Vishwanath Dham: devotees welcomed on red carpet laying flowers

Kashi Vishwanath Dham: सावन के दूसरे साेमवार काे फूल बिछाकर रेड कार्पेट पर किया गया शिवभक्तों का स्वागत

अमर उजाला, न्यूज डेस्क, वाराणसी Published by: घनश्याम राय Updated Mon, 25 Jul 2022 01:50 AM IST
सार

रविवार से शुरू हुआ जलाभिषेक का सिलसिला अनवरत जारी रहा। 2:25 बजे तक सवा दो लाख श्रद्धालुओं ने बाबा का जलाभिषेक किया। सोमवार को बाबा के दर्शन के लिए मंदिर में देर रात तक तैयारियां चलती रहीं, रेड कार्पेट बिछा दिया गया है।

दशाश्वमेध घाट पर गंगा स्नान के लिए उमड़ी कांवरियों की भीड़।
दशाश्वमेध घाट पर गंगा स्नान के लिए उमड़ी कांवरियों की भीड़। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

सावन के दूसरे सोमवार पर बाबा विश्वनाथ का जलाभिषेक करने के लिए शिवभक्तों की कतार आधी रात से लग गई। ऊं नम: शिवाय का जाप करते हुए शिवभक्त बरसात के बीच भी बैरिकेडिंग में डटे रहे। मंदिर प्रशासन की ओर से शिवभक्तों को फूल बिछाकर और रेड कार्पेट पर स्वागत किया जाएगा। रविवार को देर रात तक तीन लाख से अधिक शिवभक्तों ने बाबा विश्वनाथ का दर्शन पूजन और जलाभिषेक किया।



रविवार को काशी में कांवरियों का रेला उमड़ पड़ा। मंगला आरती से शुरू हुआ जलाभिषेक का सिलसिला अनवरत जारी रहा। नौ बजे तक 75 हजार श्रद्धालुओं ने बाबा का जलाभिषेक किया और 2:25 बजे तक यह आंकड़ा सवा दो लाख तक पहुंच गया। बाबा की शयन आरती के दौरान भी शिवभक्तों की लंबी कतार लगी रही और देर रात तक तीन लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा दरबार में हाजिरी लगाई।


सावन के दूसरे सोमवार को जौनपुर स्थित त्रिलोचन महादेव को जल अर्पित करने के महात्म्य को देखते हुए भी आसपास के जिलों से आने वाले कांवरियों की भीड़ ज्यादा रही। बाबा विश्वनाथ का जल अर्पण करने के बाद अधिकतर कांवरिए जौनपुर के लिए भी रवाना हुए। वहीं प्रयागराज से आने वाले कावंरियों का सिलसिला भोर से शुरू हुआ और देर रात तक बना रहा। मंदिर प्रशासन की ओर से रात में बैरिकेडिंग में लगे हुए कांवरियों का स्वागत फूल बरसाकर किया गया।

शिव शक्ति के स्वरूप में बाबा के होंगे दर्शन

काशीपुराधिपति सावन के दूसरे सोमवार को शिव शक्ति स्वरूप में अपने भक्तों को दर्शन देंगे। श्री काशी विश्वनाथ का सावन के दूसरे सोमवार को शिवशक्ति स्वरूप में विग्रह शृंगार किया जाता है। सोमवार को बाबा विश्वनाथ के दर्शन के लिए मंदिर में देर रात तक तैयारियां चलती रहीं। श्रद्धालुओं के लिए कराई गई बैरिकेडिंग में रेड कार्पेट बिछा दिया गया है।

काशीपुराधिपति का दरबार अपने भक्तों के लिए सज-धज कर तैयार हो गया है। आपात स्थिति के लिए चिकित्सक और एनडीआरएफ  की टीम भी तैनात रहेगी। पेयजल से लेकर खोया पाया केंद्र, पब्लिक एड्रेस सिस्टम भी लगाए गए हैं। शहर के मंदिरों में भी सावन केदूसरे सोमवार को दर्शन पूजन की तैयारियां चल रही हैं। महामृत्युंजय, गौरी केदारेश्वर, तिलभांडेश्वर, शूलटंकेश्वर, बीएचयू विश्वनाथ मंदिर और सारंगनाथ सहित सभी प्रमुख शिवालयों में दर्शन पूजन का इंतजाम किया गया है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00