लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

नहीं रहे नैनीझील से 400 शवों को निकालने वाले हनुमान, खुद करते थे लावारिस शवों का अंतिम संस्कार

न्यूज डेस्क/अमर उजाला, देहरादून Updated Mon, 19 Mar 2018 04:28 PM IST
naini lake
1 of 5
विज्ञापन
जिस झील के बारे में यही नहीं पता कि कितनी गहरी है, वहां से लाशे निकालकर उनका अंतिम संस्कार करने वाले हनुमान अब नहीं रहे।
 
naini lake
2 of 5
हनुमान प्रसाद अपने नाम के जैसे ही लोगों की सेवा करते रहे हैं। कहा जाता है कि जिस काम को कोई नहीं करता उसे हनुमान प्रसाद ही करते थे। लावारिस शवों को अंतिम संस्कार करना हो या नैनी झील में डूबने वालों को बचाना। लोग उन्हीं को बुलाते हैं। अब तक वह 400 से ज्यादा लोगों को नैनी झील से बाहर निकाल चुके हैं।
 
विज्ञापन
naini lake
3 of 5
वह पिछले कई दिनों से वह जिला अस्पताल में भर्ती थे। उन्हें निमोनिया की शिकायत थी। 72 साल के हनुमान रिक्शा चलाकर अपना गुजारा करते थे। खास बात यह है कि शवों का अंतिम संस्कार करने वाले हनुमान ने कभी इस काम के बदले लोगों से पैसे नहीं लिए।
naini lake
4 of 5
बता दें कि,  बीमार होने पर हनुमान प्रसाद को हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उन्होंने शनिवार सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया। हनुमान प्रसाद ने शादी नहीं की थी और न ही उनका कोई परिवार था। शनिवार दोपहर नैनीताल के व्यापारियों व विभिन्न संगठन से जुड़े लोगों ने हनुमान प्रसाद का अंतिम संस्कार किया।
विज्ञापन
विज्ञापन
Hanuman prasad passes away who rescued dead bodies from Naini lake
5 of 5
बता दें कि, हल्द्वानी में1930 में मिठठन लाल की जूतासाज की दुकान थी। हनुमान उनके मंझले पुत्र थे। पिता का कारोबार बंद होने के बाद हनुमान आगे पढ़ाई नहीं कर पाए। इसलिए उन्होंने नैनीझील में तैराकी सीख ली। इसके बाद वे 14 साल की उम्र में अच्छे तैराक बन गए थे।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00