लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Corona in Noida: ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पुलिस चौकी में, कोविड से कैसे बचे जान

माई सिटी रिपोर्टर, ग्रेटर नोएडा Published by: अनुराग सक्सेना Updated Sun, 07 Aug 2022 11:10 PM IST
ऑक्सीजन कंसंट्रेटर
1 of 8
विज्ञापन
बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच मरीजों के बचाव के लिए ग्रामीण क्षेत्र के सरकारी अस्पतालों में तैयारी नहीं है। चोरों से बचाव के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर थाने में जमा है। जहां ऑक्सीजन कंसंट्रेटर हैं भी तो इनका अभी तक उपयोग नहीं हुआ है। ऐसे में मौका पड़ने पर यह काम करेंगे भी या नहीं, इस पर भी सवाल है।

तीन बड़े सामुदायिक केंद्र बिसरख, दादरी और जेवर में अस्पताल डॉक्टरों की कमी से जूझ रहे हैं। पेश है ग्रेटर नोएडा से संदीप वर्मा, दनकौर से दीपक शर्मा, बिलासपुर से हरिप्रकाश बावा, रबूपुरा से दीपक सिंघल, दादरी से ऋषिपाल सिंह, जेवर से मनोज शर्मा, जारचा से अभिमन्यु की रिपोर्ट...
ऑक्सीजन सिलेंडर
2 of 8

थाने की सुरक्षा में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

बिलासपुर। कस्बे से लगभग दो किलोमीटर दूर जंगल में बने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में अव्यवस्था फैली है। विधायक के प्रयास से कोरोना काल में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन, सैनिटाइजशेन मशीन, वाटर आरओ, बिजली आदि की व्यवस्था की गई थी। अस्पताल में चौकीदार न होने के कारण पीएचसी में रखे सामान चार उड़ा ले जाते हैं। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की सुरक्षा के लिए उसे बिलासपुर कस्बे की पुलिस चौकी में रखवाया गया है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर डॉक्टर न होने के चलते मरीज भी कम ही आते हैं। यह अस्पताल दनकौर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत आता है। डॉ. नारायण किशोर का कहना है कि बिलासपुर में डॉ. रमेश और डॉ. अनुराग की तैनाती है। निवासियों का कहना है कि अधिकांश वार्डबॉय ही मरीजों को दवाई देता है।
विज्ञापन
अस्पताल में लगी भीड़।
3 of 8

मरीजों को नहीं मिल पा रहा उपचार

रबूपुरा। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना काल के दौरान कोविड-19 वार्ड जैसी सुविधाएं देने का जन प्रतिनिधियों ने वादा किया गया था, लेकिन आज भी सुविधाएं नहीं मिलीं। कोरोना संक्रमण के मामले आ रहे हैं, लेकिन मरीजों को उपचार पूरी तरह से नहीं मिल पा रहा है। कुछ दवाई डॉक्टर बाहर से लाने के लिए कहते हैं। स्वास्थ्य केंद्र पर आरटीपीसीआर एवं एंटीजन जांच उपलब्ध है परंतु भर्ती कर उपचार की सुविधा नहीं है।
ऑक्सीजन प्लांट
4 of 8

500 लीटर का ऑक्सीजन प्लांट देगा आपूर्ति

कोरोना काल में सामुदायिक केंद्र पर सुविधाएं न मिलने पर जन प्रतिनिधियों ने सीएसआर के माध्यम से 500 लीटर प्रति मिनट क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट लगाया है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ. नरेन्द्र तिवारी ने बताया 40 से 60 मिनट के अंदर प्लांट 90 प्रतिशत ऑक्सीजन आपूर्ति कर सकेगा। स्वास्थ्य केंद्र पर 50 नए बैड तैयार हैं। यहां 10 किलोवाट का सोलर सिस्टम लगा हुआ है। बारिश के बाद परिसर में जलभराव की समस्या बनी हुई है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
अल्ट्रासाउंड मशीन
5 of 8

विशेषज्ञ के अभाव में धूल फांक रहीं अल्ट्रासाउंड मशीन

दादरी। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 250 लीटर का ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो गया है। यहां पर बड़ी संख्या में 130 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 60 से अधिक ऑक्सीजन सिलेंडर हैं। यहां भी डॉक्टरों की कमी है। मरीजों को समय रहते उपचार नहीं मिल पा रहा है। पिछले 6 माह से अल्ट्रासाउंड मशीन रखी हुई है, लेकिन विशेषज्ञ उपलब्ध नहीं हैं।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00