लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

खुशखबर: CM योगी ने कम्हरिया घाट पुल का किया लोकार्पण, बोले- यह आशाओं और आकांक्षाओं का सेतु है

अमर उजाला ब्यूरो, गोरखपुर। Published by: vivek shukla Updated Thu, 18 Aug 2022 03:22 PM IST
cm yogi
1 of 5
विज्ञापन
अब गोरखपुर से संगमनगरी यानी प्रयागराज का सफर और आसान हो गया। गोरखपुर-आंबेडकरनगर जिले के मध्य स्थित घाघरा नदी पर बने कम्हरिया घाट पुल से यह संभव हुआ। गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पुल का लोकार्पण किया। इस पुल के बन जाने से प्रयागराज की दूरी करीब 80 किलोमीटर कम हो जाएगी। आंबेडकरनगर, आजमगढ़, जौनपुर, अयोध्या, संतकबीरनगर, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़ आदि जिलों के लिए भी बेहतर कनेक्टिविटी का विकल्प मिलेगा। सीएम योगी ने कहा कि घाघरा नदी के कम्हरिया घाट पुल का आज लोकार्पण हो रहा है। यह आशाओं और आकांक्षाओं का सेतु है। यह पूर्वांचल में आर्थिक, सामाजिक व सांस्कृतिक समृद्धि का माध्यम बनेगा।
 
CM yogi
2 of 5
कम्हरिया घाट पहुंचे मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री गुरुवार को दोपहर बाद करीब 2:30 बजे कम्हरिया घाट पहुंचे। पहले उन्होंने कृषि विभाग एवं उद्यान विभाग का स्टॉल देखा। पुल का निरीक्षण करके उसका लोकार्पण किया। इसके बाद सीएम योगी ने जनकल्याणकारी योजना के लाभार्थियों को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री के साथ मंच पर जनप्रतिनिधियों के साथ ही कम्हरिया घाट पुल निर्माण के लिए संघर्ष करने वाले करीब आधा दर्जन लोग भी मौजूद रहे। आंबेडकर नगर जिले के आलापुर से भी लोगों को बुलाया गया है।
विज्ञापन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
3 of 5
 मुख्यमंत्री शाम चार बजे एमएमएमयूटी परिसर में बने हेलीपैड पहुंचेंगे और वहां से सड़क मार्ग से रानीडीहा स्थित संस्कृति पब्लिक स्कूल जाएंगे। देर शाम तक लखनऊ लौट जाने की संभावना है। मुख्यमंत्री के आगमन के मद्देनजर डीएम कृष्णा करुणेश व एसएसपी गौरव ग्रोवर ने बुधवार को कम्हरिया घाट पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया।

 
कम्हरिया घाट पुल।
4 of 5
193.97 करोड़ रुपये से तैयार हुआ है पुल
घाघरा नदी के कम्हरिया घाट (सिकरीगंज-बेलघाट-लोहरैया-शंकरपुर-बाघाड़) पर पुल का निर्माण 193 करोड़, 97 लाख, 20 हजार रुपये की लागत से हुआ है। कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम लिमिटेड ने 1412.31 मीटर लंबे इस पुल का निर्माण जून 2022 में पूर्ण किया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
कम्हरिया घाट पुल।
5 of 5
22 साल के संघर्ष का परिणाम है कम्हरिया घाट पुल
कम्हरिया घाट पर पक्का पुल निर्माण के लिए सन 2000 के आसपास आंदोलन शुरू हुआ था। शुरुआत कम्हरिया घाट संघर्ष समिति के सदस्य गोवर्धन चंद, भिखारी प्रजापति और विनय शाही ने की। इन लोगों ने बार-बार धरना दिया। जिलाधिकारी से लेकर के प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री तक प्रार्थनापत्र देकर पुल निर्माण की मांग की। अप्रैल, 2013 में सर्वहित क्रांति दल के अध्यक्ष सत्यवंत प्रताप सिंह ने कम्हरिया घाट पर पक्का पुल निर्माण के लिए धरना-प्रदर्शन शुरू किया और देखते ही देखते यह जल सत्याग्रह के रूप में परिवर्तित हो गया जो लगभग 15 दिनों तक चला। इसके बाद प्रशासन ने सरयू नदी के किनारे जल सत्याग्रहियों पर लाठी चार्ज किया। फिर तत्कालीन सदर सांसद योगी आदित्यनाथ के प्रयासों से कम्हरियाघाट पर पक्के पुल का निर्माण फरवरी 2014 से शुरू हुआ जो जुलाई 2022 में जाकर के पूरा हुआ।


विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00