लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन

एक के बाद एक 'दोस्त' छोड़ रहे भाजपा का साथ, 2019 में कैसे खिलेगा कमल?

चुनाव डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: अमित मंडल Updated Thu, 20 Dec 2018 06:19 PM IST
मोदी-शाह-उपेंद्र-चंद्रबाबू
1 of 5
लोकसभा चुनाव 2019 से ठीक पहले एनडीए और भाजपा को झटका लगा है। गुरुवार को उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार में महागठबंधन का हाथ थाम लिया। हालिया समय से एनडीए से उसके कई साथी दूर हुए हैं। आज इसमें रालोसपा का नाम भी जुड़ गया। गुरुवार को दिल्ली में हुई प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस नेता अहमद पटेल, शक्ति सिंह गोहिल, बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी, शरद यादव सहित कई नेता मौजूद थे। इन्हीं की मौजूदगी में कुशवाहा ने महागठबंधन में शामिल होने का एलान किया। उन्होंने कहा कि एनडीए में मेरा अपमान हो रहा था इसलिए ऐसा फैसला लिया। 
 

भाजपा और एनडीए

नायडू-मोदी
2 of 5
2019 चुनाव से पहले ही भाजपा और एनडीए को कई झटके लग चुके हैं। इसी साल मार्च में आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू ने राज्य की अनदेखी का आरोप लगाकर एनडीए से नाता तोड़ लिया था। इसके बाद से वह कांग्रेस के काफी नजदीक आ गए हैं। भाजपा के खिलाफ महागठबंधन में वह भी एक महत्वपूर्ण नेता बनकर उभर रहे हैं। भाजपा विरोधी तमाम मंचों पर वह नजर आ चुके हैं। 
विज्ञापन
उद्दव-मोदी
3 of 5
पिछले कुछ समय से शिवसेना भी भाजपा से नाराज चल रही है। उद्धव ठाकरे साफ तौर पर कई बार अपनी नाराजगी जता चुके हैं। उन्होंने कई बार संकेत दिए हैं कि आगामी चुनाव में भाजपा के साथ नहीं जाएगी। लोकसभा उपचुनाव में भी दोनों पार्टियों ने अलग अलग चुनाव लड़ा था। पार्टी के मुखपत्र सामना में पीएम मोदी पर सीधा हमला बोला जाता है। इन सबके बावजूद अमित शाह का कहना है कि 2019 चुनाव में दोनों साथ होंगे।
महागठबंधन में शामिल हुए उपेंद्र कुशवाहा
4 of 5
अब पार्टी को तीसरा झटका लगा है रालोसपा के रूप में। गुरुवार को उपेंद्र कुशवाहा बिहार के महागठबंधन में शामिल हो गए। उन्होंने कहा कि एनडीए में मेरा अपमान हो रहा था। नीतीश कुमार ने मुझे अपमानित किया। इस दौरान उन्होंने राहुल गांधी की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि वह जो कहते हैं, जरूर करते हैं। कुशवाहा ने कुछ समय पहले ही मंत्रिपद छोड़ा था। फिर एनडीए छोड़ने का भी एलान किया था। 
 
विज्ञापन
विज्ञापन
रामविलास-चिराग
5 of 5
भाजपा के सामने मुश्किलों का दौर यही खत्म नहीं हुआ है। अब लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान की नाराजगी की खबर सामने आ रही है। उनके बेटे चिराग पासवान ने बयानों का सिलसिला जारी करते हुए भाजपा को चिंता में डाल दिया। उन्होंने साफ कहा कि एनडीए नाजुक दौर से गुजर रहा है। भाजपा को सहयोगी दलों की बात समझनी चाहिए। सीट शेयरिंग को लेकर भी उन्होंने भाजपा पर दबाव बढ़ाया। मामला इस कदर गंभीर हो गया कि शाह ने रामविलास और चिराग दोनों से मुलाकात की।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00