बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
तुलसीश्याम गुजरात
गजब है

गुजरात के इस गांव में काम नहीं करती ग्रेविटी

3 दिसंबर 2021

Play
3:11
गुजरात के तुलसीश्याम गांव में एक ऐसा टीला है जिसको लेकर लोगों का मानना है कि यहां ग्रैविटी काम ही नहीं करती। इसी बात को समझने के लिए यहां लोगों ने आजतक ना जाने तरह-तरह के कितने एक्सपेरिमेंट किए, जिसके जरिए ये पता लग सके कि कुछ भी पहाड़ों पर रख दो तो वो नीचे नहीं बल्कि ऊपर की तरफ जाएगा।

गुजरात के इस गांव में काम नहीं करती ग्रेविटी

1.0x
  • 1.5x
  • 1.25x
  • 1.0x
10
10
X

सभी 189 एपिसोड

रियल लाइफ में भी ऐसी ही एक रंपेजल है एलोना क्रेवशेंको, जिसके बाल करीब 6.5 फीट लंबे है, यानि एक अच्छे-खासे इंसान की लंबाई से भी कुछ इंच ज्यादा

पत्थरों से बनाए गए इस घर को 70 और 80 के दशक में बच्चे खेलने के लिए इस्तेमाल करते थे. फिलहाल इस घर पर गहरी काई जमी हुई है, तो कहीं बेल चढ़ रही हैं। अब जब यूजर्स ने ये घर देखा तो तरह-तरह के कमेंट भी आने शुरू हो गए

इंग्लैंड के समुद्री तट के पास ये रहस्यमयी बीमारी फैल चुकी है जिससे कुत्तों की मौत हो जा रही है और हैरानी की बात ये है कि जानवरों के डॉक्टरों को भी इस बीमारी के बारे में कुछ नहीं पता

मलेशिया में रहने वाली ऐडा ज़ुरिना लॉन्ग अपने परिवार के साथ मछली पकड़कर बेचती थी और उससे जो पैसा मिलता, उससे घर का गुजारा करती थी। रोजाना की तरह एक दिन वो अपने परिवार के साथ मछली पकड़ने गई तो उसे समुद्र में एक प्लास्टिकनुमा कचरा दिखा

आज एक ऐसे सालों पुराने चर्च के बारे में आपको कुछ खास बातें बताएंगे जो दुनिया का सबसे अकेला चर्च भी माना जाता है
 

अंतरिक्ष यात्री राकेश शर्मा का अंतरिक्ष में जाने का सफर कैसे हुआ पूरा। सुनिए कहानी अतंरिक्ष में जाने वाले पहले भारतीय की।
 

आज अमर उजाला आवाज पर सुनिए बिल्लियों जैसे पालतू जानवरों के साथ बर्बर घटनाओं को अंजाम देने वाले एक सीरियल किलर की सच्ची और अजब-गजब कहानी।
 

इस पुल को डॉग सुसाइड ब्रिज का नाम दिया गया है। 50 फीट ऊंचे इस पुल के बारे में कहा जाता है कि जैसे ही इस पुल पर कोई जानवर खासकर कोई कुत्ता आता है, खुद ब खुद यहां से छलांग लगाकर मर जाता है।

साल 2022 में रूस के वैज्ञानिकों ने एक बड़ी जानकारी देते हुए कहा है कि इस दशक के आखिरी तक एक एस्टेरॉयड धरती के पास आ रहा है

दक्षिण अमेरिका में एक जनजाति है जिसका नाम है यानोमामी। इस ट्राईब्स की अजीबोगरीब परंपरा को एंडोकैनिबेलिज्म कहा जाता है। जिसके तहत ये लोग अपने परिवार के मृतक शख्स का मांस खाते हैं

आवाज

  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00