गुदगुदी
गुदगुदी

गुदगुदी: सुनिए जिंदगी जीने की मस्त टिप

20 September 2021

Play
3:2
अब जिंदगी कैसे जी जाए, अक्सर मैं और मेरी तन्हाई बात करती हैं। एक बार मैंने खुद से पूछा कि जिंदगी कैसे जीनी चाहिए। मुझे मेरे कमरे के हिस्सों ने एकएककर जवाब देना शुरू किया।

गुदगुदी: सुनिए जिंदगी जीने की मस्त टिप

1.0x
  • 1.5x
  • 1.25x
  • 1.0x
10
10
X

सभी 378 एपिसोड

शादी में घरवालों के मजे आए रहते हैं। खूब खाने-पहनने को मिलता है ना और क्या चाहिए। और तो और विदेशों में जहां सीधे शादी होती है तो वहीं हमारे यहां रोका, सगाई, फिर हल्दी, मातापूजन, शादी और फिर विदाई।
 

कल रात एक शादी में डीजे पर एक गाना बजा। जिसको डांस नहीं करना, वो जाकर अपनी भैंस चराए। बस ये गाना सुनते ही ज्यादातर पति तो अपनी-अपनी बीवियों को खाना खिलाने के लिए ले गए

भई मैं सोचती हूं कि ये शादीशुदा मर्द होते है ना, इनका शरीर ही भगवान ने ऐसा बनाया कि जब सुथरा काम करते हैं तो अपनी पीठ थपथपा ना सकें।

भई एक सवाल का जवाब दीजिए कि अगर कोई शख्स अपने दोस्त की बीवी को उसके जन्मदिन पर दस गुलाब देता है तो उसका पति उसको खुश करने के लिए कितने गुलाब देगा। तो भई क्या ये एक्शन उस शख्स के गुनाह की दस्तक नहीं लग रहा?

स्कूल में भई आजकल के बच्चे शॉर्टकट बहुत खोजते रहते हैं। हुआ यूं कि एक टीचर ने बच्चों को लिखने के लिए दिया क्रिकेट मैच पर निबंध। जिसके बाद सभी बच्चे अपनी-अपनी कॉपी में निबंध लिखने में जुट गए

अमर उजाला लेकर आया है अमर उजाला आवाज की गुदगुदी। जहां आपको रोज नए-नए जोक्स सुनने को मिलेंगे रानी के अंदाज में। सुनिए और लुत्फ उठाइए इन मजेदार चुटकुलों का...

अब नवरात्रि को ही ले लीजिए, उसमें वो गरबा डांस बहुत जोर का होता है। आगे-पीछे, पीछे आगे, बस यही तो करना होता है लेकिन एक बात बताएं कि अगर तुम्हें ये नहीं पता कि जीवन में कैसे आगे-पीछे चलना है तो कसम से तुम लोग ये गरबा डांस कभी नहीं कर सकते। 

आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में किसी के पास हंसने के लिए वक्त नहीं है। हालांकि सभी जानते हैं कि हंसी हर दर्द की दवा है। क्या आप जानते हैं की दुनिया का सबसे पहला जोक कब और कहां बोला गया था?

अमर उजाला आवाज की 'गुदगुदी' में सबसे पहले आज का मेरा यानि कि रानी का आप लोगों से सवाल, वो ये कि पत्नी की क्या परिभाषा होती है। भई इसके जवाब में आप लोग जो कहो लेकिन मैं तो यही कहूंगी कि पत्नी उस 'शक्ति' का नाम है जो घरवालों खासतौर से पति को घूरने भर से देखने पर ही टिंडे की सब्जी में पनीर का स्वाद देने में कामयाब हो जाए 

भई वर्क फ्रॉम होम के जहां फायदे हैं तो वहीं नुकसान भी है। ऐसे ही 6 महीने वर्क फ्रॉम होम करने के बाद एक शख्स हवाई यात्रा पर निकला। विमान में एयर होस्टेस बोली, सर आपको इस फ्लाइट में बिल्कुल घर जैसा माहौल मिलेगा।

आवाज

  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00