लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विरासत
विरासत

विरासत: खास है बीकानेर का किला

15 September 2022

Play
7:2
देश में क्षेत्रफल के हिसाब से सबसे बड़े राज्य राजस्थान का हर जिला आपको इतिहास से रुबरु कराता है। इसी तरह राजस्थान के बीकानेर जिले का अपना गौरवशाली इतिहास रहा है। राजस्थान का बीकानेर जिला जयपुर से पहले बीकानेर ही राजे-रजवाड़ों के राज्य राजस्थान की राजधानी था।   

विरासत: खास है बीकानेर का किला

1.0x
  • 1.5x
  • 1.25x
  • 1.0x
10
10
X

सभी 97 एपिसोड

भारत की पहली मानी हुई सभ्यता है हड़प्पा सभ्यता, भारत में ये कई हज़ार वर्षों पहले मौजूद थी। इस सभ्यता में आज के ज़माने जैसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल था।

देश के सबसे खूबसूरत किलों में से एक माना जाने वाला ग्वालियर का किला आज एक शानदार पर्यटन स्थल है। शहर के केंद्र से लगभग 4 किमी की दूरी पर स्थित ग्वालियर किले का निर्माण 8वीं शताब्दी में किया गया था। 

पहाड़ी पर बना मंदिर, ऊबड़-खाबड़ रास्ते, नाले, घनी झाडियां और जंगली जानवरों का डर, यह सब पार करने के बाद पहुंचते हैं जानापाव। जहां पहुंचते ही आप इन सारी समस्याओं को भूल जाते हैं। 
 

भारत के तटीय राज्य गोवा के बारे में कौन नहीं जानता है. इतिहास की बात करें तो गोवा स्वतंत्र भारत की यात्रा में 14 साल बाद शामिल हुआ है

धनुषकोडी  गांव भारत और श्रीलंका के बीच एकमात्र स्थलीय सीमा है जो पाक जलसंधि में बालू के टीले पर सिर्फ 50 गज की लंबाई में विश्व के लघुतम स्थानों में से एक है। साधारण शब्दों में कहें, तो यह भारत के छोर पर ऐसी वीरान जगह है जहां से श्रीलंका दिखाई पड़ता है। 

गुजरात के द्वारका में स्थित यह पवित्र कृष्ण मंदिर तीनों लोकों में सबसे सुंदर मंदिर के रुप में जाना जाता है। इस मंदिर को हिंदुओं का प्रमुख ओर महत्वपूर्ण स्थान के रुप में देखा जाता है। 

माता वैष्णो देवी को लेकर कई कथाएं प्रचलित हैं  ऐसी ही एक प्रसिद्ध प्राचीन कहानी है माता वैष्णो के परम भक्त श्रीधर की, जो वर्तमान कटरा कस्बे से 2 कि॰मी॰ की दूरी पर स्थित हंसली गांव में रहते थे।

मेरठ में घटित हुई10 मई की क्रांति की घटना सिर्फ भारत के लिए ही ऐतिहासिक नहीं थी, इसका असर विश्व पटल पर भी पड़ा था। मेरठ से शुरू हुई क्रांति विदेशी अखबारों में सुर्खिंया बनी थी।  

रावण का दहन और रामलीला का आयोजन यहां अनिष्ट का प्रतीक माना जाता है। गांव के लोग बताते है कि करीब 60 साल पहले यहां रामलीला मंचन का प्रयास किया गया। इस दौरान गांव में एक व्यक्ति की मौत हो गई।
 

रबदेन्त्से भारत की उन ऐतहासिक जगहों में से एक है जिसके बारे में भारतीयों को भी नहीं पता है। ये जगह सिक्किम की सबसे फेमस जगहों में से एक है। सिक्किम के दूसरे चोग्याल यानि की राजा तेनसुंग नामग्या ने 1670 में रबदेन्त्से करो राजधानी बनाई थी

आवाज

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00