लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Punjab ›   Jalandhar ›   National Investigation Agency filed supplementary charge sheet in Priest Murder of Bharsinghpura at Phillaur

भारसिंहपुरा पुजारी हत्याकांड: NIA ने दायर की सप्लीमेंट्री चार्जशीट, मेरठ के गगनदीप सिंह की भी थी भूमिका

संवाद न्यूज एजेंसी, जालंधर (पंजाब) Published by: निवेदिता वर्मा Updated Sat, 24 Sep 2022 04:06 PM IST
सार

जांच के दौरान जो साक्ष्य सामने आए उससे साफ हुआ कि हिंदू पुजारी को मारने के लिए कनाडा में बैठे अर्शदीप सिंह अर्श उर्फ प्रभ और हरदीप सिंह निज्जर ने षड्यंत्र रचने के बाद गगनदीप सिंह उर्फ गग्गू से संपर्क कर हत्या करने वाले आरोपियों को हथियार मुहैया करवाने की जिम्मेदारी सौंपी थी। रा

एनआईए
एनआईए - फोटो : Social media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

जालंधर के उपमंडल फिल्लौर के गांव भारसिंहपुरा के शिव मंदिर में पुजारी सहित तीन लोगों की गोली मारकर हत्या के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की है। इसमें मेरठ (यूपी) के गगनदीप सिंह उर्फ गग्गू को आरोपी बनाया गया है। एनआईए ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट में कहा है कि विदेश में बैठे आतंकी अर्शदीप सिंह अर्श उर्फ प्रभ और हरदीप सिंह निज्जर ने जो षड्यंत्र रचा था, उसमें गगनदीप सिंह उर्फ गग्गू वासी संगतपुरा मोहल्ला बेहसुम्मा, मेरठ (उत्तर प्रदेश) का भी हाथ था। 



एनआईए ने कहा कि जांच के दौरान जो साक्ष्य सामने आए उससे साफ हुआ कि हिंदू पुजारी को मारने के लिए कनाडा में बैठे अर्शदीप सिंह अर्श उर्फ प्रभ और हरदीप सिंह निज्जर ने षड्यंत्र रचने के बाद गगनदीप सिंह उर्फ गग्गू से संपर्क कर हत्या करने वाले आरोपियों को हथियार मुहैया करवाने की जिम्मेदारी सौंपी थी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने गगनदीप उर्फ गग्गू के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी के तहत षड्यंत्र रचने, 307 इरादा-ए-कत्ल और हथियार मुहैया करवाने पर आर्म्स एक्ट की धारा 25 (7), 25 (8) के साथ यूए (पी) एक्ट की धारा 17, 18, 20 के तहत मामला दर्ज किया है।


यह भी पढ़ें : जगरांव रेलवे स्टेशन पर हंगामा: प्वाइंट मैन ने अधिकारियों के साथ किया गालीगलौच, मारे धक्के, वीडियो वायरल

माहौल खराब करने की थी साजिश

फिल्लौर के गांव भारसिंहपुरा में पुजारी की हत्या करवाने के पीछे खालिस्तानियों की माहौल खराब करने की साजिश थी जिसके तहत हिंदुओं से ही वारदात को अंजाम दिलवाया गया, यह पूरा घटनाक्रम प्लानिंग से हुआ था। एनआईए द्वारा कोर्ट में इसी साल चार जुलाई को पेश की गई पिछली चार्जशीट में कई अहम खुलासे किए थे। यह सारा कृत्य कनाडा में बैठे दो खालिस्तानी समर्थकों अर्शदीप सिंह अर्श उर्फ प्रभ और हरदीप सिंह निज्जर ने करवाया था। 

दोनों ने सोशल मीडिया के जरिए कमलजीत शर्मा वासी डाला (मेहना) जिला मोगा और राम सिंह पुत्र रंजीत सिंह निवासी घल्ल खुर्द जिला फिरोजपुर से संपर्क साधा था। इसके बाद खालिस्तानी हरदीप सिंह के गांव भारसिंहपुर में शिव मंदिर के ही गेट से पुजारी संत ज्ञान मुनी कमलदीप व अन्य श्रद्धालुओं पर फायरिंग करने के बाद फरार हो गए थे। इसमें संत कमलदीप और एक महिला सेवादार घायल हो गए थे। जब सुबह मंदिर के पुजारी पर गोलियां चलाई थीं तो मंदिर की एक सेवादार उन्हें बचाने के लिए उनके आगे आ गई थी। 

इस फायरिंग में पुजारी और महिला सेवादार सिमरन को 3-3 गोलियां लगी थीं। शूटरों ने पहले माथा टेकने के बहाने मंदिर में रेकी की थी। जिस गांव भारसिंहपुरा में पुजारी की गोली मारकर हत्या की गई, हरदीप सिंह भी इसी गांव का रहने वाला है। इस मामले में मुख्य शूटर कमलजीत शर्मा अर्शदीप के गांव का ही रहने वाला है। मामले को सुलझाने के लिए पुलिस ने प्रत्यक्षदर्शियों से दोनों हमलावरों के स्केच बनवाए थे। जांच में पता चला कि दोनों मोगा और फिरोजपुर के रहने वाले हैं जिसके बाद वहां लंबे समय तक छानबीन की गई थी।
विज्ञापन

खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00